1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. singhbhum west
  5. passengers survived robbery in naxalite affected tebo valley angry naxalites firing smj

नक्सल प्रभावित टेबो घाटी में लूटपाट से बचे यात्री, गुस्साये नक्सलियों ने की फायरिंग

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : लूटपाट के मकसद से नक्सलियों ने टेबो घाटी में यात्री बस पर की फायरिंग. यात्री सुरक्षित.
Jharkhand news : लूटपाट के मकसद से नक्सलियों ने टेबो घाटी में यात्री बस पर की फायरिंग. यात्री सुरक्षित.
प्रभात खबर.

Jharkhand Crime News, Jharkhand news, Chakradharpur News, चक्रधरपुर (पश्चिमी सिंहभूम) : पश्चिमी सिंहभूम जिला अंतर्गत बंदगांव घाटी में नक्सलियों ने शक्तिपुंज बस में फायरिंग किया. जिससे बस के चेचिस में कई गोलियां लगीं. हालांकि, यात्री सुरक्षित रहे. बस चालक की चतुराई के कारण बड़ा हादसा होने से बच गया. इस घटना की पुष्टि चक्रधरपुर के एसडीपीओ सह एएसपी नाथू सिंह मीणा ने की है.

जानकारी के मुताबिक, बंदगांव प्रखंड के अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र बंदगांव थाना के जलमय एवं बांडी गांव के बीच घने जंगल में स्थित एनएच-75 मार्ग पर रविवार की रात्रि 8 बजे रांची से चाईबासा जाने वाले शक्तिपुंज बस में नक्सलियों ने धावा बोला. नक्सलियों ने बस को रोकने के लिए करीब 10 राउंड गोली बस पर फायरिंग की.

गोली बस के आगे हेडलाइट के पास एवं गेट की खिड़की, बॉडी के किनारे एवं पीछे हिस्से में लगी. लेकिन, बस ड्राइवर सीताराम सिंह हिम्मत कर सुरक्षित बस को चक्रधरपुर पहुंचाया. इस संबंध में बस चालक सीताराम सिंह ने पुलिस को बताया कि जैसे ही वह बस के साथ बंदगांव घाटी पहुंचा, तो हथियार से लैस करीब 8 से 10 नक्सलियों द्वारा उसे रोकने का प्रयास किया गया. चालक ने जब बस को नहीं रोका, तो पीछे से बस में नक्सलियों द्वारा अंधाधुंध फायरिंग करनी शुरू कर दी गयी.

बस चालक ने बताया कि उसने करीब 4 बार गोली चलने की आवाज सुना. नक्सलियों के फायरिंग से यात्रियों में काफी भय का माहौल था. माना जाता है कि नक्सलियों ने लेवी अथवा लूटपाट के लिए बस को रोकने की कोशिश की थी. लेकिन, बस नहीं रुकने के कारण नक्सलियों ने अंधाधुंध फायरिंग किया.

मालूम हो कि गत वर्ष भी नक्सलियों ने बस पर फायरिंग किया था, जिससे रात्रि में यात्रियों को आवागमन में भय का माहौल था. इस घटना से यात्री पूरी तरह डर गये हैं. अब तो घाटी में रात्रि को जाना यात्रियों के लिए सुरक्षित नहीं माना जा रहा है. घाटी नक्सलियों के सुरक्षित जोन के रूप में जाना जाता है. क्षेत्र में नक्सली आसानी से किसी भी घटना को अंजाम देकर चले जाते हैं.

टेबो थाना, हेसाडीह स्थित CRPF कैंप एवं बंदगांव थाना एवं बंदगांव में स्थित CRPF कैंप होने के बावजूद भी घाटी में नक्सली घटना होना नक्सलियों के बुलंद हौसले को दर्शाता है. इस संबंध में बंदगांव थाना में मामला दर्ज किया गया है. उक्त घटना की जानकारी जब पुलिस को लगी, तो पुलिस ने क्षेत्र में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया. क्षेत्र में नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान जारी है.

चक्रधरपुर के एसडीपीओ सह एएसपी नाथू सिंह मीणा ने कहा चालक के अनुसार 6 अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया है. सभी अपराधी हथियारों से लैश थे. पुलिस क्षेत्र में सर्च अभियान चला रही है. गौरतलब है कि पहले भी रांची चाईबासा रूट पर बसों पर नक्सलियों के द्वारा फायरिंग की गयी है.

रात में सफर जारी था घाटी में

एक समय था जब घाटी में काफी लूटपाट होती थी. नक्सली वारदात होते थे. तब उक्त मार्ग पर शाम के बाद वाहन नहीं चलते थे. बसों का परिचालन रात में नहीं होता था. बहुत आवश्यक होने पर पुलिस दल स्काउट कर वाहनों को घाटी पार कराती थी. लेकिन, धीरे- धीरे स्थिति सामान्य हुई, तो बिना किसी रोकटोक के बस समेत सभी तरह के वाहनों का परिचालन सामान्य हो गया. रात में भी यात्री बसें चलने लगी हैं, लेकिन गोली चालन के इस नये घटना के बाद यात्रियों में फिर खौफ है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें