1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. singhbhum west
  5. kiriburu sdpo gets threatening message iron ore mafia intimidated by police administration and mining department sam

किरीबुरू एसडीपीओ को मिला धमकी भरा मैसेज, पुलिस प्रशासन व खनन विभाग की दबिश से बौखलाये लौह अयस्क माफिया

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : पुलिस प्रशासन और खनन विभाग की संयुक्त छापेमारी में जेसीबी मशीन सहित अवैध लौह अयस्क बरामद.
Jharkhand news : पुलिस प्रशासन और खनन विभाग की संयुक्त छापेमारी में जेसीबी मशीन सहित अवैध लौह अयस्क बरामद.
फाइल फोटो.

Jharkhand news, West Singhbhum news : किरीबुरू (पश्चिमी सिंहभूम) : लौहांचल के लौह अयस्क माफिया जिला पुलिस-प्रशासन एंव खनन विभाग की निरंतर की जा रही कार्यवाही से बौखला गये हैं. इसी बौखलाहट का नतीजा है कि नोवामुंडी के जावेद अख्तर उर्फ पिंटू ने किरीबुरू एसडीपीओ डॉ हीरालाल रवि को धमकी भरा मैसेज भेजा है. पिछले दिनों एसपी के निर्देश पर एसडीपीओ के नेतृत्व में विभिन्न स्थलों पर पुलिस और खनन विभाग ने संयुक्त रूप से छापेमारी की थी. इस दौरान एक जेसीबी मशीन सहित करीब 750 टन अवैध लौह अयस्क को जब्त किया था. इसके बाद ही जावेद ने धमकी भरा मैसेज भेजा था. इधर, किरीबुरू एसडीपीओ ने मैसेज भेजे जाने की पुष्टि की, वहीं जावेद ने भी मैसेज भेजे जाने की बात स्वीकारी.

बताया गया है कि जिला पुलिस प्रशासन एवं खनन विभाग के द्वारा लगातार दबिश दिये जाने से बौखलाये लौह अयस्क माफिया जावेद अख्तर ने 3 सितंबर, 2020 को किरीबुरू एसडीपीओ को धमकी भरा मैसेज भेजा है. आरोप है कि जावेद अख्तर ने अपने मोबाइल नंबर 7008712798 से किरीबुरु एसडीपीओ डॉ हीरालाल रवि के मोबाइल नंबर 9431706455 पर 3 सितंबर की रात करीब 8:11 बजे एक धमकी भरा मैसेज आया.

उल्लेखनीय है कि ऐसे माफिया न सिर्फ पुलिस पदाधिकारी को धमकी भरा मैसेज भेज रहे हैं, बल्कि इससे भी 2 कदम आगे बढ़ कर पुलिस पदाधिकारियों के खिलाफ गहरी साजिश रच कर उन्हें फंसाने तथा उनके प्रतिष्ठा एवं चरित्र पर कीचड़ उछालने और बदनाम करने के प्रयास में भी लगे हैं. इसके लिए अंदर ही अंदर प्रयास तेज भी किये हैं.

मालूम हो कि पिछले दिनों एसपी इंद्रजीत महथा के आदेश पर जिला खनन पदाधिकारी, किरीबुरु के एसडीपीओ आदि की संयुक्त टीम ने कांडे नाला क्षेत्र स्थित एजिला प्लॉट में छापेमारी कर तस्करी के लिए रखी गयी करीब 750 टन अवैध लौह अयस्क को जब्त किया गया था. इस दौरान जेसीबी मशीन को भी जब्त किया गया था. इस कार्रवाई के बाद एसपी के आदेश पर खनन विभाग की टीम ने बड़ाजामदा क्षेत्र की कपिलेश्वरी मिनरल्स, एजिला प्लॉट, बालाजी क्रेशर, मां दुर्गा मिनरल्स, आरके मिनरल्स, बुद्धदेव मिनरल्स, हीरक मेटालिक, आनंदिता क्रेशर प्लांट, शिवम स्टील क्रेशर की जांच की थी, जिसमें एक क्रेशर से करीब 100 टन अवैध लौह अयस्क जब्त किया गया था.

पुलिस-प्रशासन एवं खनन विभाग की ताबड़तोड़ कार्रवाई से माफियाओं को भारी नुकसान उठाना पडा़, जिससे बौखलाये माफियाओं द्वारा न सिर्फ पुलिस पदाधिकारी को मैसेज भेज धमकी दी जा रही है, बल्कि उन्हें गलत तरीके से बदनाम एवं फंसाने के लिए विशेष साजिश रची जा रही है.

इस संबंध में किरीबुरू एसडीपीओ डॉ हीरालाल रवि ने जावेद द्वारा धमकी भरा मैसेज भेजे जाने की पुष्टि की है. साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसे माफियाओं एवं तस्करों से डरने तथा घबराने वाले कोई बात नहीं है, बल्कि लौह अयस्क की तस्करी आदि में शामिल लोगों के खिलाफ आगे भी कार्रवाई निरंतर जारी रहेगी.

वहीं, दूसरी ओर आरोपी जावेद उर्फ पिंटू ने मैसेज भेजे जाने की बात को स्वीकार, लेकिन साथ ही कहा कि मैसेज भेजने का उद्देश्य गलत नहीं था. उन्होंने कहा कि मेरी जेसीबी मशीन लौह अयस्क तस्करी मामले में जब्त कर प्राथमिकी दर्ज कर दी गयी, जबकि तस्करी दूसरे लोग कर रहे थे. पुलिस की इस कार्रवाई से मानसिक रूप से परेशान हो गया था. यही कारण है कि मैंने मैसेज भेज दिया. साथ ही उन्होंने यह भी स्वीकारा कि पहले लौह अयस्क तस्करी में लिप्त था, लेकिन पिछले 8 साल से इस काम से दूर हूं. इस मामले से पहले हमारे ऊपर एक भी केस दर्ज नहीं था. तनाव की वजह से मैसेज में क्रिमनल बनने जैसा शब्द हमने लिखा था, लेकिन हमारी मंशा गलत नहीं थी और न कभी रहेगी है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें