1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. singhbhum west
  5. jharkhand news fake withdrawal of lakhs of rupees from 8 sbi customers in kiriburu know how the mastermind got arrested smj

किरीबुरु में SBI के 8 ग्राहकों से लाखों रुपये का फर्जीवाड़ा, जानें मास्टरमाइंड की कैसे हुई गिरफ्तारी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 SBI के 8 ग्राहकों से लाखों की फर्जी निकासी करने के आरोप में प्रज्ञा केंद्र संचालक गिरफ्तार.
SBI के 8 ग्राहकों से लाखों की फर्जी निकासी करने के आरोप में प्रज्ञा केंद्र संचालक गिरफ्तार.
प्रभात खबर.

Jharkhand News, West Singhbhum News, किरीबुरु (पश्चिमी सिंहभूम) : पश्चिमी सिंहभूम जिला अंतर्गत किरीबुरु में SBI के बैंक अकाउंट से लाखों की राशि हड़पने के आरोप में प्रज्ञा केंद्र संचालक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपी ने अब तक करीब 8 ग्राहकों से लाखों रुपये की निकासी की है. इस बात की जानकारी एसडीपीओ डॉ हीरालाल रवि ने पत्रकारों को दी.

एसडीपीओ डॉ रवि ने कहा कि SBI के ग्राहक सेवा केंद्र सह प्रज्ञा केंद्र, किरीबुरु के संचालक गिरीधारी पात्रा (40 वर्ष), पिता मंगीलाल पात्रा, आरसी सिंह हाटिंग किरीबुरु निवासी को किरीबुरु थाना पुलिस ने ग्राहकों से धोखाधड़ी कर गलत तरीके से उनके बैंक खाते से पैसे निकालने के आरोप में गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी आरोपी गिरिधारी पात्रा के खिलाफ धरम देव तुरी पिता स्वर्गीय बरजो तुरी बंकर हाटिंग एवं माधव करुवा पिता स्वर्गीय सिंगो करुवा मुर्गापाडा निवासी ने किरीबुरु थाने में उक्त आरोपी के खिलाफ अलग-अलग लिखित शिकायत दर्ज करायी है.

गिरफ्तार आरोपी ने SBI के बचत खाते से विभिन्न तिथि को क्रमशः 74,500 रुपये एवं 40 हजार रुपये की अवैध निकासी की है. पश्चिमी सिंहभूम एसपी अजय लिंडा के आदेशानुसार तथा एसडीपीओ के निर्देशानुसार थाना प्रभारी अशोक कुमार के नेतृत्व में छापेमारी दल का गठन हुआ. इस छापेमारी दल ने आरोपी गिरिधारी को उसके घर से गिरफ्तार किया है.

पुलिस की पूछताछ में आरोपी गिरिधारी ने अपना अपराध स्वीकार करते हुए बताया कि करीब 8 ग्राहकों के खाते से फर्जी तरीके से लाखों रुपये की निकासी की है. पुलिस ने गिरीधारी के घर से एक लैपटॉप, कीबोर्ड, माऊस, एक मोरफो मशीन, एक मोबाइल सेट (अलग-अलग कंपनी का 2 सीम), प्रज्ञा केंद्र/सीएससी/सीएसपी में लेनदेन संबंधित विवरणी पुस्तिका सहित 40 हजार रुपये नकद बरामद किया है. एसडीपीओ ने बताया की बरामद रुपये में से 25 हजार रुपये धर्मदेव एवं 15 हजार रुपये माधव के बैंक खाते से उड़ाये गये थे. इस दौरान इंस्पेक्टर वीरेंद्र एक्का, एसआई सुरेंद्र कुमार, एसआई आदि मौजूद थे.

इधर, शिकायत कर्ता धरमदेव तुरी ने बताया की पीएफ का पैसा निकालने एवं अन्य कारणों से जब गिरिधारी के सीएसपी केंद्र जाते थे, तो गिरिधारी हमारा आधार नंबर लेकर बायोमैट्रिक मशीन में अंगूठा लगवाता था. बाद में SBI की शाखा में पासबुक अपडेट कराने गये, तो पता चला कि हमदोनों के खाते से करीब 75 हजार रुपये की अवैध निकासी उक्त सीएसपी केंद्र से हुई है, जबकि हमें एक रुपया भी गिरिधारी ने नहीं दिया.

वहीं, माधव करुवा ने बताया कि सीएसपी केंद्र में अलग- अलग तिथि को क्रमशः 300, 500, 700 रुपये आदि निकालने गये थे. तब गिरिधारी ने मशीन में अंगूठा लगाकर रुपये दिया, लेकिन बाद में जब पासबुक अपडेट कराया, तो पता चला कि जिस दिन 300 रुपये निकाले थे उस दिन 10 हजार, 700 की जगह 7 हजार, 500 की जगह 10 हजार रुपये आदि फर्जी तरीके से गिरिधारी ने निकाले.

सूत्रों के अनुसार, गिरिधारी ने दर्जनों गरीबों के खाते से लाखों रुपये की निकासी फर्जी तरीके से की है. माधव एवं धर्मदेव द्वारा पुलिस में शिकायत करने के कुछ देर बाद वह कुल लोगों के पैसे भी आनन-फानन वापस किया तथा अनेक लोगों का अभी भी पता नहीं है कि उनके खाते से पैसों का गबन किया है. इस मामले की जांच पुलिस कर रही है कि और कितने ग्राहक गिरिधारी के शिकार हुए हैं. हालांकि, गिरिधारी के मुताबिक 8 ग्राहकों के साथ ही धोखाधड़ी हुई हैं.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें