1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. singhbhum west
  5. irctc indian railway howrah ahmedabad superfast express and howrah mumbai mail superfast express increased know how much the benefit of the passengers of jharkhand gur

IRCTC/ Indian Railway : हावड़ा-अहमदाबाद सुपरफास्ट एक्सप्रेस एवं हावड़ा-मुंबई मेल सुपरफास्ट एक्सप्रेस अब सप्ताह में तीन दिन चलेगी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
IRCTC/ Indian Railway : हावड़ा-अहमदाबाद सुपरफास्ट एक्सप्रेस व हावड़ा-मुंबई मेल सुपरफास्ट एक्सप्रेस का फेरा बढ़ा
IRCTC/ Indian Railway : हावड़ा-अहमदाबाद सुपरफास्ट एक्सप्रेस व हावड़ा-मुंबई मेल सुपरफास्ट एक्सप्रेस का फेरा बढ़ा
फाइल फोटो

IRCTC/ Indian Railway : चक्रधरपुर (शीन अनवर ) : हावड़ा-अहमदाबाद सुपरफास्ट एक्सप्रेस एवं हावड़ा-मुंबई मेल सुपरफास्ट एक्सप्रेस अब सप्ताह में तीन दिन चलेगी. कोरोना के कारण यह ट्रेन सप्ताह में एक ही दिन चल रही थी. इसका ठहराव झारखंड में पहले भी नहीं था और अब फेरा बढ़ने के बाद भी नहीं है.

हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस पहले हावड़ा से केवल शुक्रवार को खुलती थी. अब 15 सितंबर से मंगलवार, शुक्रवार एवं रविवार को खुलेगी, जबकि 18 सितंबर से अहमदाबाद से शुक्रवार, सोमवार एवं बुधवार को खुलेगी. पहले केवल सोमवार को खुलती थी.

मुंबई मेल अब 21 सितंबर से हावड़ा से सोमवार, बुधवार एवं शनिवार को खुलेगी. पहले केवल बुधवार को एक दिन सप्ताह में खुलती थी. यही ट्रेन 23 सितंबर से छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई से बुधवार, शुक्रवार एवं सोमवार को खुलेगी. पहले केवल सप्ताह में एक दिन शुक्रवार को चलती थी. दक्षिण पूर्व रेलवे के सीएफटीएम सह सीपीटीएम मनोज कुमार ने उक्त ट्रेनों का परिचालन सप्ताह में तीन दिन किये जाने की जानकारी चक्रधरपुर रेल मंडल को भेजी है.

कोरोना संकट से पहले हावड़ा-मुंबई मेल एवं हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस प्रतिदिन चला करती थी. कोरोना काल में इसे बंद कर दिया गया था. फिर कुछ महीनों के बाद प्रतिदिन उक्त दोनों ट्रेनों का परिचालन आरंभ हुआ. झारखंड में टाटानगर एवं चक्रधरपुर में उक्त ट्रेनों का ठहराव भी दिया गया, लेकिन फिर झारखंड के दोनों स्टेशनों से ठहराव वापस ले लिया गया.

नये आदेश में प्रतिदिन संचालन को कम कर यात्रियों की कमी के बाद सप्ताह में एक दिन चलाने का आदेश हुआ. अब नये आदेश के आलोक में सप्ताह में तीन दिन दोनों ट्रेनें चलेंगी. ये ट्रेनें खड़गपुर से राउरकेला के बीच झारखंड होकर चलेंगी, लेकिन झारखंड में रुकेगी नहीं, जिससे झारखंड के यात्रियों को लाभ नहीं मिलेगा.

चक्रधरपुर में कोरोना काल में एक भी यात्री ट्रेन नहीं रुक रही है, जबकि यह देश का सबसे अधिक राजस्व देने वाला रेल मंडल है. ऐसा प्रतीत होता है कि पूरे भारत में यह इकलौता रेल मंडल मुख्यालय है, जिसमें एक भी ट्रेन का ठहराव नहीं है. कोरोना का कहर आने के बाद से किसी ट्रेन का ठहराव चक्रधरपुर और टाटानगर में नहीं दिया गया था.

वर्तमान में 12 सितंबर से चलने वाली 80 जोड़ी ट्रेनों में से एक भी चक्रधरपुर के मार्ग से नहीं चल रही हैं. एक भी ट्रेन का ठहराव नहीं होने से यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है. अब आवाज उठने लगी है कि लोकल ट्रेनें खोली जाएं और अहमदाबाद एवं मुंबई मेल का ठहराव दिया जाए. रेलवे के इस रुख के प्रति यात्रियों में खासी नाराजगी है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें