1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. singhbhum west
  5. heavy rainfall in saranda region of jharkhand for 40 hours caused havoc water logged in houses at kiriburu red water destroyed agricultural crops mth

Jharkhand weather, Rain Photos: झारखंड के सारंडा क्षेत्र में लगातार 40 घंटे की वर्षा ने मचायी तबाही, लोगों के घरों में घुसा पानी, लाल पानी से खेतों में लगी फसल बर्बाद

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
भारी बारिश की वजह से चारों ओर छाया अंधेरा.
भारी बारिश की वजह से चारों ओर छाया अंधेरा.
Prabhat Khabar

Jharkhand weather, Rain Photos: किरीबुरू (शैलेश सिंह) : पश्चिमी सिंहभूम के सारंडा समेत पूरे लौहांचल क्षेत्र में पिछले 40 घंटे से लगातार भारी वर्षा हो रही है. इस वर्षा ने भारी तबाही मचायी है. सारंडा क्षेत्र की कारो, कोयना समेत तमाम नदी-नाले उफान पर हैं. पहाड़ों व खदानों से नीचे उतर रहे लाल पानी के तेज बहाव ने लोगों के घरों एवं किसानों के खेतों में लगी फसलों, पुल-पुलिया को भारी नुकसान पहुंचाया है.

दुबिल के किसानों की खेती को लाल पानी ने किया बर्बाद.
दुबिल के किसानों की खेती को लाल पानी ने किया बर्बाद.
Prabhat Khabar

डांगुवापोसी रेलवे स्टेशन क्षेत्र के विभिन्न कार्यालयों व रेलकर्मियों के आवासों में पानी घुस गया तथा अनेक वाहन पानी में डूबे नजर आये. बड़ाजामदा स्थित फुटबॉल मैदान, मार्केट व अन्य क्षेत्रों में बाढ़ जैसा नजारा देखने को मिला. लोगों के घरों में वर्षा का पानी घुस गया. इससे लोगों के घरों में रखे सामान बर्बाद हो गये. लोगों को रतजगा करना पड़ा. सारंडा के निचले क्षेत्रों में जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया.

पहाड़ और खदानों से बहकर नीचे आ रहा लाल पानी.
पहाड़ और खदानों से बहकर नीचे आ रहा लाल पानी.
Prabhat Khabar

सारंडा के छोटानागरा-थलकोबाद मुख्य सड़क पर मारंगपोंगा-हतनाबुरु (सृजन सुकवा) गांव के बीच स्थित पुलिया वर्षा के पानी में बह गयी. क्षेत्र के उसरुईया, कोलायबुरु, कुदलीबाद, कुमडीह, बालिबा, थलकोबाद आदि 12 गांवों का एक-दूसरे से संपर्क पूरी तरह से कट गया है. उक्त क्षेत्र के ग्रामीणों का संपर्क छोटानागरा से भी कट गया है.

सूत्रों का कहना है कि कुमडीह गांव के समीप का पुलिया भी बह गया है. इसके अलावा दुबिल, जामकुंडिया, राजाबेड़ा व अन्य गांवों में पहाड़ी से उतरा पानी किसानों के खेतों में लगी फसल को पूरी तरह से नष्ट कर दिया.

रिहायशी इलाकों में घुसा बाढ़ का पानी.
रिहायशी इलाकों में घुसा बाढ़ का पानी.
Prabhat Khabar

बोकना एवं गुवा के बीच हनुमान मंदिर के समीप कारो नदी पर बना लोहा पुल के ऊपर से पानी की तेज धार बह रही है, जिससे आवागमन पूरी तरह से ठप है.

बड़ाजामदा में बाढ़-सा नजारा. घरों में घुस गया पानी.
बड़ाजामदा में बाढ़-सा नजारा. घरों में घुस गया पानी.
Prabhat Khabar

पानी की ऊंचाई इतनी अधिक थी की लोहा पुल दिखाई नहीं दे रहा था. दूर तक की सड़कें भी पानी में डूब गयीं. इसके अलावा सेल द्वारा खदान की मिट्टी-मुरुम को रोकने के लिए बनाया गया चेकडैम भी पानी के तेज बहाव में जगह-जगह टूट गया है. इससे मिट्टी-मुरुम बह गयी है. पूरे क्षेत्र में बिजली, संचार सेवाएं घंटों बाधित रही.

किरीबुरू में भी कई सेलकर्मियों के घरों में पानी घुस गया. लेक गार्डन तालाब लबालब भर गया. वर्षों बाद तालाब के पानी को पुलिया से ओवरफ्लो होकर बहते देखा गया. सारंडा क्षेत्र में भारी वर्षा निरंतर जारी है, जिससे और भी अत्यधिक नुकसान की संभावना जतायी जा रही है.

रिहायशी इलाकों में भी भर गया है पानी. जन-जीवन अस्त-व्यस्त.
रिहायशी इलाकों में भी भर गया है पानी. जन-जीवन अस्त-व्यस्त.
Prabhat Khabar

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें