1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. singhbhum west
  5. chakradharpur mla sukhram oraon angry against irregular power supply will go on hunger strike from 20th july smj

अनियमित बिजली आपूर्ति के विरोध में चक्रधरपुर विधायक सुखराम उरांव नाराज, 20 जुलाई से करेंगे भूख हड़ताल

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
अनियमित बिजली आपूर्ति के खिलाफ भूख हड़ताल पर जाने की बात बताते चक्रधरपुर विधायक सुखराम उरांव.
अनियमित बिजली आपूर्ति के खिलाफ भूख हड़ताल पर जाने की बात बताते चक्रधरपुर विधायक सुखराम उरांव.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (चक्रधरपुर, पश्चिमी सिंहभूम) : झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिला अंतर्गत चक्रधरपुर क्षेत्र के विधायक सुखराम उरांव आगामी 20 जुलाई, 2021 से विद्युत विभाग परिसर में भूख हड़ताल करेंगे. बिजली विभाग के अधिकारियों की लापरवाह कार्य प्रणाली, झूठे बयानबाजी और उमस भरी गर्मी में भी अनियमित विद्युत आपूर्ति के खिलाफ विधायक श्री उरांव भूख हड़ताल करेंगे.

उन्होंने कहा कि चक्रधरपुर शहरी क्षेत्र में लगभाग 20 घंटे और ग्रामीण क्षेत्र में 3 से 4 घंटे ही बिजली आपूर्ति की जा रही है. चक्रधरपुर विधानसभा क्षेत्र विशेष तौर पर ग्रामीण क्षेत्र इन दिनों बिजली समस्या से जूझ रहा है. उमस भरी गर्मी में लोग परेशान हैं. अनियमित बिजली आपूर्ति के कारण विद्यार्थियों समेत हर वर्ग मुसीबत झेल रहा है. लोग रात जाग-जाग कर काट रहे हैं. ग्रामीण क्षेत्रों में लोग पेड़ों के नीचे रात गुजार रहे हैं.

इतने सवाल जनता की ओर से मेरे पास आ रहे हैं कि मैं लाचार हो जा रहा हूं. जब भी विभागीय अधिकारियों से इस संदर्भ में जानकारी लेता हूं, तो गलत और झूठी जानकारी दी जाती है. विद्युत विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर चाईबासा में रहते हैं. उन्हें चक्रधरपुर से कोई लेना-देना नहीं है. असिस्टेंड इलेक्ट्रिकल इंजीनियर टाल-मटोल वाले जवाब देते हैं.

विधायक श्री उरांव ने कहा कि जब भी उनसे बिजली नहीं होने का कारण पूछा जाता है, कहते हैं केपीएस के पीछे फॉल्ट है. बार-बार एक ही जवाब से जब एक दिन जांच कराया, तो बात झूठी निकली. कहीं भी कोई फॉल्ट नहीं था. जनप्रतिनिधि को भी अधिकारियों द्वारा गलत जानकारी दी जाती है. विभाग कहता है कि 7 से 8 मेगावाट ही बिजली आपूर्ति हो रही है. जिसमें 4 से 5 मेगावाट शहरी क्षेत्र को दिया जा रहा है. इसलिए ग्रामीण क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति कम हो पा रही है.

विधायक के मुताबिक, चक्रधरपुर अनुमंडल पदाधिकारी को सूचना देकर भूख हड़ताल की शुरूआत की जायेगी. यह निर्णय मजबूर होकर लिया गया है. कहते हैं कि हमें पता है कि हमारी सरकार है और हम सत्ता पक्ष के विधायक हैं. लेकिन, सरकार को बदनाम करने वाले अफसर और विभाग के खिलाफ मैं खड़ा हूं. मेरे लिए जनता सर्वोपरी है और जनता के लिए मैं किसी भी हद तक जा सकता हूं.

उन्होंने कहा कि विद्युत विभाग को 2 दिनों का समय है. रविवार और सोमवार तक यदि विद्युत आपूर्ति नियमित नहीं होती है, तो मंगलवार को 11 बजे से बिजली ऑफिस में मैं भूख हड़ताल करूंगा. यह भूख हड़ताल मेरा व्यक्तिगत होगा. इसमें जो लोग साथ देंगे उनका स्वागत है.

उन्होंने कहा कि मेरी हड़ताल सरकार के खिलाफ हो सकती है. लेकिन, इसकी गंभीरता को समझने की आवश्यकता है. एक विधायक की बात विभाग नहीं सुन रहा. आम जनता परेशान है. उनकी परेशानी को मैं अगर दूर नहीं करूं, तो कौन करेगा. विधायक कहते हैं मेरे विधानसभा क्षेत्र में दो ग्रामीण विद्युत ग्रिड बन कर तैयार है.

उन्होंने कहा कि बार-बार पत्र लिखने के बावजूद विभाग इसे चालू करने को तैयार ही नहीं है. कुरुलिया ग्रिड में ट्रांसमिशन का काम रुका हुआ है. लांडुपोदा ग्रिड में सामग्री सड़ रहे हैं, लेकिन उसे चालू करने वाला कोई नहीं है. यह दोनों ग्रिड शुरू कर दिया जाये, तो ग्रामीण क्षेत्र की बिजली समस्या का हल हो जायेगा. लेकिन, विभाग इस ओर ध्यान ही नहीं दे रहा है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें