1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. singhbhum west
  5. bharat bandh jharkhand mumbai mail was running at a speed of 110 km maoists blew up railway track at a distance of 4 km grj

Bharat Bandh : 110 km की रफ्तार से दौड़ रही थी मुंबई मेल, 4 km के फासले पर माओवादियों ने उड़ाया रेलवे ट्रैक

माओवादी बंदी के दौरान चक्रधरपुर से राउरकेला के बीच स्पेशल ट्रेन से पेट्रोलिंग हो रही थी. पेट्रोलिंग ट्रेन गश्ती कर रही थी, तभी लोटापहाड़ के समीप माओवादी बैनर मिला. जिससे पेट्रोलिंग स्पेशल ट्रेन सर्तक हो गयी और स्पेशल ट्रेन को रोक दी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bharat Bandh in Jharkhand : क्षतिग्रस्त रेलवे ट्रैक को दुरुस्त करते कर्मी
Bharat Bandh in Jharkhand : क्षतिग्रस्त रेलवे ट्रैक को दुरुस्त करते कर्मी
प्रभात खबर

Bharat Bandh in Jharkhand, पश्चिमी सिंहभूम न्यूज (सुशील/सुनील) : भाकपा माओवादी के भारत बंद के दौरान झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले के लोटापहाड़-सोनुवा के बीच बम धमाका कर नक्सलियों ने रेलवे ट्रैक को उड़ा दिया. धमाके के बाद ही ओवर हेड विद्युत तार (ओएचई) नो टेंशन हो गया. जिससे तेज रफ्तार से सोनुवा से लोटापहाड़ की ओर आ रही मुंबई मेल ट्रेन घटना स्थल से महज चार किमी पहले खड़ी हो गयी, जिससे 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ रही मुंबई मेल बड़ी घटना की शिकार होने से बाल-बाल बच गई.

यह ट्रेन सोनुवा से रात 1. 54 बजे गुजर रही थी. एक मिनट बाद 1.55 बजे सोनुवा किमी संख्या 327/6 पर मुंबई मेल का इंजन खड़ी हो गयी. जो बम धमाका स्थल से महज चार किमी फासले पर थी. ट्रैक उड़ाने की पुष्टि व लोटापहाड़ स्टेशन को पेट्रोलिंग स्पेशल से मेमो मिली. नक्सल प्रभावित इलाके पर मुंबई मेल फंस गयी. जिसके बाद रेल महकमा में अफरा-तफरी मच गई. एहतियात बरतते हुये मुंबई मेल को आईबी से सोनुवा वापस लाया गया. यह ट्रेन रात 2 बजे से सुबह 7 बजे तक 5 घंटे नक्सल प्रभावित इलाके में फंसी रही, जिससे मुंबई मेल में यात्रियों ने दहशत में रात गुजारी. सुबह 7.15 बजे थर्ड रेल लाइन को इंजीनियरिंग व ओएचई विभाग की ट्रैक फीट मिलते ही थर्ड लाइन में मुंबई मेल ट्रेन को सोनुवा से हावड़ा रवाना किया गया. थर्ड लाइन पर पेट्रोलिंग कर रही स्पेशल ट्रेन को माओवादी बैनर मिला.

माओवादी बंदी के दौरान चक्रधरपुर से राउरकेला के बीच स्पेशल ट्रेन से पेट्रोलिंग हो रही थी. पेट्रोलिंग ट्रेन गश्ती कर रही थी, तभी लोटापहाड़ के समीप माओवादी बैनर मिला. जिससे पेट्रोलिंग स्पेशल ट्रेन सर्तक हो गयी और स्पेशल ट्रेन को रोक दी. साथ ही लोटापहाड़ स्टेशन को मेमो दिया. पेट्रोलिंग स्पेशल ट्रेन के कुछ दूर जाते ही जोरदार धमाके की आवाज हुई. जिससे पूरे रेल मंडल के हावड़ा-मुंबई मुख्य रेल मार्ग में चक्रधरपुर से राउरकेला के बीच रेल यातायात को रोक दिया गया. पेट्रोलिंग स्पेशल ट्रेन का नेतृत्व वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त ओंकार सिंह कर रहे थे.

लोटापहाड़-सोनुवा में हुई माओवादी वरदात के बाद चक्रधरपुर रेल मंडल के हावड़ा-मुंबई रेल मार्ग पर सात घंटे तक रेल यातायात बाधित रही. बीती रात 2 बजे से सुबह 7 बजे तक थर्ड रेल लाइन, रात 2 बजे से 9.15 बजे तक अप लाइन एवं रात 2 बजे से 11 बजे तक डाउन लाइन पूरी तरह बाधित रही. जिसके बाद तीनों रेल पटरियों को इंजीनियरिंग व ओएचई विभाग से फीट मिली. जिसके बाद रेल मंडल के हावड़ा-मुंबई में ट्रेनों का परिचालन चालू हो सका.

रेल पटरी फीट देने के बाद चक्रधरपुर में करीब 4 घंटे से खड़ी हावड़ा-पुणे आजाद हिंद एक्सप्रेस ट्रेन को रवाना किया गया. यह ट्रेन चक्रधरपुर से थर्ड रेल लाइन पर 45 किमी प्रति घंटे से चलायी गयी. बम इतना शक्तिशाली था कि लोटापहाड़-सोनुवा अप लाइन किमी संख्या 323/1 से 323/3 के बीच चार सिलपट टूट कर विखर गया. साथ ही रेलवे ट्रैक को टेढ़ा मोड़ दिया. डाउन रेल लाइन में किमी संख्या 323/2 से 323/4 के बीच चार सिलपट टूट गया. साथ ही पटरी टेढ़ा हो गया था. जिससे रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग ने अप व डाउन दोनों रेल पटरी 13-13 मीटर रेलवे ट्रैक को हटा कर नया ट्रैक जोड़ दिया. रेलवे ट्रैक जोड़ने व सिलपट को लगाने का काम पहले पूरा कर लिया गया, जबकि धमाके में टूट कर बिखर गये ओएचई को जोड़ने में रेलवे को काफी समय लगा. जिससे रेल मार्ग में रेल यातायात सामान्य होने में सात घंटे से अधिक का समय लगा.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें