चाईबासा के टोंटो में चचेरे भाई और भाभी की धारदार हथियार से हत्या, तीन बच्चों को घायल किया

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

चाईबासा\हाटगम्हरिया : झारखंड में एक व्यक्ति ने अपने चचेरे भाई और भाभी की धारदार हथियार से हत्या कर दी. इस हमले में तीन बच्चे भी घायल हो गये. मामला चाईबासा के टोंटो थाना अंतर्गत ग्राम जमडीह टोला के मड़कमपी की है. यहां एक ही परिवार के पांच सदस्यों पर जानलेवा हमला किया. घटनास्थल पर ही महिला की मौत हो गयी, जबकि उसके पति ने अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया. दंपती के तीन बच्चों की हालत गंभीर है.

चाईबासा के टोंटो में चचेरे भाई और भाभी की धारदार हथियार से हत्या, तीन बच्चों को घायल किया

घटना गुरुवार देर रात दो बजे की है. हमलावर मृतक का चचेरा भाई है. हमलावार ने धारदार हथियार से दशमा लागुरी (38) के पेट व सिर पर वार किया. वहीं गोनो लागुरी (40) के सिर, कमर व पेट में भुजाली से हमला किया. हमले में घायल तीन बच्चों के नाम जानो लागुरी (9), रूब सिंह लागुरी (6) और किरण लागुरी (3) हैं.

हमलावर ने जानो लागुरी की पेट पर कमर पर हमला किया, जबकि रूब सिंह और किरण लागुरी की पेट पर हमला किया. घटना की जानकारी ग्रामीणों ने स्थानीय ग्रामीण मुंडा सुनील सिंकू को दी. वह तत्काल घटनास्थल पर पहुंचे और 108 एंबुलेंस से सभी घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल चाईबासा भेज दिया.

चाईबासा के टोंटो में चचेरे भाई और भाभी की धारदार हथियार से हत्या, तीन बच्चों को घायल किया

मृतका की बड़ी बेटी जानो लागुरी के मुताबिक, आधी रात के बाद करीब दो बजे हल्की बारिश हो रही थी. बिजली कटी हुई थी. उसी दौरान गांव के ही मुरली लागुरी (22) घर पर आया. दरवाजा खटखटाया, तो दशमा लागुरी ने दरवाजा खोला. मुरली ने पानी मांगी. दशमा ने उसे पानी दिया. उसने फिर पानी मांगा. इसी दौरान मुरली ने दशमा पर हमला कर दिया.

इसके बाद मुरली ने घर में सो रहे गोनो पर भी हमला कर दिया. उसकी बेटी जानो व पुत्र रूब सिंह जान बचाने के लिए पड़ोसी मरतम सिंकू के घर का दरवाजा खटखटाया. दशमा की बेटी ने चिल्लाते हुए कहा कि मामा बचाओ-बचाओ. तभी हत्यारा मुरली मारने के लिए उधर लपका. बच्ची किसी तरह जान बचाने में सफल रही. रात में उसने कई लोगों को मदद के लिए पुकारा, लेकिन किसी ने उसकी नहीं सुनी.

चाईबासा के टोंटो में चचेरे भाई और भाभी की धारदार हथियार से हत्या, तीन बच्चों को घायल किया

सुबह में ग्रामीण एकजुट हुए और अरोपी मुरली को पकड़ लिया. उसे पास के ही करंज के पेड़ से बांध दिया. इसके बाद मुंडा ने थाना को सूचना दी. घटनास्थल पर पुलिस और प्रशासन के लोग काफी देर से पहुंचे. दोपहर दो बजे प्रशासन पहुंचा, तो ग्रामीणों ने अपना आक्रोश व्यक्त किया. लोगों की भीड़ वहां जमा हो गयी. ग्रामीणों ने अरोपी को उम्रकैद की सजा देने की मांग की.

डीएसपी प्रदीप उरांव ने कहा कि हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया गया है. घटना गंभीर है. बच्चों का इलाज चल रहा है. दंपती के शवों का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें