पांच अगस्त तक मांग पूरी करने का प्रशासन ने दिया लिखित आश्वासन

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

विधायक, डीडीसी व एसडीओ ने वार्ता कर दिया लिखित आश्वासन

पांच अगस्त तक के लिए शिक्षकों ने अनशन को टाल दिया
शिक्षकों ने डीएसइ कार्यालय के समक्ष शुरू किया था अनशन
चाईबासा : 22 साल से लंबित प्रोन्नति की मांग पर झारखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले शिक्षकों ने बुधवार को डीएसइ कार्यालय के समक्ष अनशन किया. हालांकि अनशन शुरू होने के डेढ़ घंटे में चाईबासा विधायक, डीडीसी और एसडीओ ने शिक्षकों के साथ वार्ता की.
इसमें पांच अगस्त तक मांग पूरी करने का लिखित आश्वासन दिया गया. इसके बाद शिक्षकों ने पांच अगस्त तक के लिए अनशन स्थगित कर दिया. शिक्षक गुमदा तियू, उपेंद्र प्रसाद, डॉ मंगलेश पाठक और शिक्षिका बिबियाना एक्का आमरण अनशन पर बैठे थे.
विधायक ने डीसी को फोन पर दी जानकारी
जानकारी के अनुसार बुधवार को अनशन स्थल पर जिले भर से शिक्षक जुटे थे. शिक्षकों के अनशन शुरू होने के डेढ़ घंटे के अंदर दोपहर करीब डेढ़ बजे चाईबासा विधायक दीपक बिरुवा अनशन स्थल पर पहुंचे. उन्होंने अनशन में शामिल होकर शिक्षकों की मांग का समर्थन किया. वहां से विधायक ने डीसी अरवा राजकमल को फोन पर शिक्षकों के अनशन और उनकी मांग की जानकारी दी.
डीसी ने अफसरों को भेजकर करायी वार्ता
डीसी ने शिक्षकों से वार्ता के लिए डीडीसी सीपी कश्यप को भेजा. इसके बाद डीडीसी, चाईबासा एसडीओ दीपू कुमार ने विधायक के समक्ष शिक्षकों से वार्ता की. शिक्षकों की मांग सुनने के बाद पांच अगस्त तक पूरा करने का आश्वासन दिया. इसपर शिक्षकों ने लिखित देने की मांग की. डीडीसी, विधायक, एसडीओ, क्षेत्रीय शिक्षा पदाधिकारी, डीआरडीए डायरेक्टर ने लिखित आश्वासन दिया कि पांच अगस्त तक प्रोन्नति दिया जायेगा. इसके बाद शिक्षकों ने पांच अगस्त तक के लिए अनशन स्थगित कर दिया.
कांग्रेस जिलाध्यक्ष सन्नी सिंकु, नगर पर्षद अध्यक्ष नीला नाग ,कांग्रेस नगर अध्यक्ष सुनीत शर्मा, त्रिशानु राय व राहुल आदित्य ने अनशन स्थल पर पहुंच कर शिक्षकों की मांग का समर्थन किया. कार्यक्रम को संघ के वरीय उपाध्यक्ष श्रवण कुमार मिश्रा, उपेंद्र प्रसाद ने संबोधित किया.
अनशन में शामिल शिक्षक : महीप किशोर पिंगुवा, विश्वनाथ प्रधान, सपन साहू, महेश पाठ पिंगुवा, अनिल देहुरी, दिलीप मंडल, मित्रसेन सुंडी, दामु सुंडी, आनंद गुप्ता, जॉन डांग, कृष्णा देवगम, लक्ष्मण हेम्ब्रम, सामु चरण देवगम, दिनेश सावैयां, रामेश्वर टुंटिया, समीर जोजोवार, संजीव कुमार, राजीव रंजन, रानी पूनम, शकील अहमद, अनवर हुसैन, मुजार्फिर रहमान आदि शिक्षक अनशन का नेतृत्व कर रहे थे.
गुमदा तियु 2008 में भी अनशन पर बैठे थे
झारखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष गुमदा तियु वर्ष 2008 में भी अनशन पर बैठे थे. वह उमवि उनचुड़ी खूंटपानी के शिक्षक हैं. 2008 के अनशन के बाद ग्रेड 2 व 3 में कुछ को प्रोन्नति मिली थी. हालांकि गरेड 4 को प्रोन्नति नहीं मिली. आज जिले में 160 में से एक भी हेडमास्टर नहीं है. ग्रेड 7 में प्रोन्नति की कोशिश विभाग नहीं कर रहा है.
अनशनकारी उपेंद्र प्रसाद संघ के जिला प्रधान सचिव हैं. 49 वर्षीय उपेंद्र उमवि बाईहातु हरीला चाईबासा सदर में कार्यरत हैं. उन्होंने कहा कि विभाग कोर्ट के आदेश की भी अवहेलना करता रहा है.
44 साल के डॉ मंगलेश पाठक मवि इचाकुटी चक्रधरपुर में कार्यरत हैं. कोल्हान प्रमंडलीय उपाध्यक्ष वर्तमान में हैं. उन्होंने कहा कि प्रोन्नति मिलने से पुराने के साथ नये शिक्षकों को लाभ मिलेगा.
22 साल से लंबित है शिक्षकों की प्रोन्नति
ग्रेड कुल शिक्षक
टू 221
थ्री 1185
फॉर 160 (साइंस)
फॉर 196 (आर्ट्स)
फॉर 220 (सामाजिक विज्ञान)
प्रोन्नति के बिना शिक्षकों को हो रहा नुकसान
शिक्षकों को प्रोन्नति नहीं मिलने से वे प्रधानाध्यापक नहीं बन पा रहे हैं. प्रधानाध्यापकों का पद रिक्त है. स्कूलों में प्रधानाध्यापक नहीं होने से बीइइओ वेतन निकासी पदाधिकारी बने हैं.
अनशन पर बैठने वालों में दो शिक्षक 60 वर्ष के
लंबित प्रोन्नति की मांग पर अनशन पर बैठने वालों एक शिक्षक व एक शिक्षिका 60वें वर्ष में हैं. दोनों 2018 में सेवानिवृत्त हो जायेंगे. शिक्षिका बीबीयानी एक्का जनवरी 2018 और अध्यक्ष गुमदा तियु 9 माह बाद सेवानिवृत्त हो जायेंगे.
छह माह नौकरी बची है बीबीयानी एक्का की
अनशन पर बैठी एकमात्र शिक्षिका श्रीमती बीबीयानी एक्का की नौकरी छह माह बची है. जनवरी 2018 को वह 60 साल की हो जायेगी. वह मवि सारंगा आनंदपुर की शिक्षिका है. दो सत्र से वह आनंदपुर अंचल संघ की उपाध्यक्ष रही हैं. रांची, दिल्ली तक जाकर शिक्षकों के लिए आंदोलन करती रही हैं.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें