1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. singhbhum east
  5. villagers angry about bondriwall of usil colony of jadugoda zilla parishad warned of agitation smj

जादूगोड़ा के यूसील कॉलोनी के बॉन्ड्रीवॉल को लेकर ग्रामीण नाराज, जिला परिषद ने दिये आंदोलन की चेतावनी

पूर्वी सिंहभूम स्थित जादूगोड़ा के यूसील कॉलोनी परिसर में बॉन्ड्रीवाल का ग्रामीणों ने विरोध किया. बॉन्ड्रीवाल के कारण संकीर्ण हुए रास्ते को लेकर ग्रामीणों ने जिप सदस्य का अपनी समस्या बतायी. जिप सदस्य ने आंदोलन की चेतावनी दी है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: रास्ते की नापी करवाते जिला परिषद सदस्य बाघराय मार्डी व ग्रामीण.
Jharkhand news: रास्ते की नापी करवाते जिला परिषद सदस्य बाघराय मार्डी व ग्रामीण.
प्रभात खबर.

Jharkhand news: यूरेनियम कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (यूसील), जादूगोड़ा काॅलोनी परिसर का यूसिल प्रबंधन द्वारा बॉन्ड्रीवॉल (चाहरदीवारी) करने का मामला तूल पकड़ने लगा है. बुधवार को धर्मडीह व ईंट भट्टा के ग्रामीणों ने जिला परिषद सदस्य बाघराय मार्डी को ज्ञापन सौंपते हुए यूसील कॉलोनी परिसर के चाहरदीवारी संबंधी समस्या से अवगत कराया.

इस पर जिप सदस्य बाघराय मार्डी द्वारा चाहरदीवारी का निरीक्षण किया और कहा कि चाहरदीवारी बनाने से पूर्व यूसील प्रबंधन को 17 फीट रास्ता छोड़ना था जो कि मात्र 7 फीट ही छोड़ा गया है. साथ ही पूरे रास्ते को बंद करवा दिया गया है. एक रास्ता छोड़ा भी गया है, तो उस रास्ते से ना तो ऑटो पार हो सकती है और ना ही ही कोई चार चक्का वाहन.

श्री मार्डी ने कहा कि अगर इस क्षेत्र में कोई बीमार हो जाये, तो मरीज को अस्पताल ले जाने के लिए उसके परिजनों को सोचना पड़ेगा. कहा कि यह करीब 5000 से अधिक आबादी वाला क्षेत्र है. यहां पांच रास्ता दिया जाये, ताकि आपातकालीन स्थिति में किसी को कोई परेशानी उत्पन्न ना हो.

उन्होंने कहा कि अगर यूसील प्रबंधन गुरुवार तक हमारी मांगों पर कोई निष्कर्ष नहीं निकालती है, तो शुक्रवार से चाहरदीवारी का कार्य को बंद करवा दिया जायेगा. साथ ही कहा कि इस मामले को लेकर गुरुवार को पूर्वी सिंहभूम डीसी, अनुमंडल पदाधिकारी समेत अन्य सभी प्रशासनिक पदाधिकारियों को पत्र के माध्यम से ग्रामीणों को हो रही समस्या से अवगत करवाया जायेगा.

सरकारी जलमीनार को भी किया चाहरदीवारी के बाहर

ग्रामीणों ने जिप सदस्य बाघराय मार्डी को बताया कि पंचायत स्तरीय जलमीनार को भी यूसील प्रबंधन ने चाहरदिवारी के बाहर कर दिया गया है. ऐसे में जलसंकट उत्पन्न हो गयी है. एक तरफ ना तो प्रबंधन पानी की व्यवस्था करवा रहा है और ना ही जलमीनार का पानी ही ग्रामीणों तक पहुंचने दिया जा रहा है. उन्होंने ग्रामीणों से एकजुट होकर विरोध करने को कहा है, ताकि प्रबंधन कुछ सुन सके. समस्या का समाधान नहीं होने पर आंदोलन करने की चेतावनी भी दी.

रास्ता का करवाया नापी

जिप सदस्य बाघराय मार्डी व ग्रामीणों ने चाहरदीवारी के अंदर रास्ते का नापी करवाया, जहां उन्होंने देखा कि यूसील प्रबंधन 17 फीट के बजाय कहीं 4 फीट, तो कहीं 7 फीट का ही रास्ता छोड़ा है. इस पर जिप सदस्य ने यूसील अधिकारी को फोन पर ग्रामीणों की समस्या पर त्वरीत कार्यवाही करने को कहा. वर्ना आंदोलन करने की चेतावनी दी है. इस दौरान उत्तरी ईचड़ा के पंचायत समिति सदस्य रूपक कुमार मंडल, सुभाष सिंह, भाजपा नेता रोहित राकेश सिंह, अमित गुप्ता समेत सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें