पूर्व नक्सलियों के परिजनों को कौशल विकास कर रोजगार से जोड़ा जायेगा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
सरेंडर करने वाले कान्हू मुंडा के गांव जियान पहुंचे डीसी, कहा
गुड़ाबांदा : पूर्वी सिंहभूम के उपायुक्त रवि शंकर शुक्ला बुधवार को सरेंडर करने वाले प्रमुख नक्सली कान्हू मुंडा के गांव जियान पहुंचे. डीसी जियान प्राथमिक विद्यालय स्कूल प्रागंण में आयोजित शिविर में शामिल हुए. इसमें कई गांवों के लोगों ने हिस्सा लिया. शिविर में डीसी ने ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं और समाधान का आश्वासन भी दिया.
डीसी धूप में ग्रामीणों के बीच खटिया पर बैठे और उनकी समस्याएं सुनीं. डीसी ने ग्रामीणों से कहा कि नक्सली संगठन छोड़ कर आत्म समर्पण करने वाले परिवारों का कहना हैं कि पुरुषों को कोई काम नहीं मिला है. उन्होंने कहा कि काम मांगने का आपका हक व अधिकार है. उन्होंने कहा आज इस शिविर में श्रम विभाग, कौशल विकास, सिलाई, कारपेंटर, मोबाइल बनाने का नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जा रहा है.
युवक इसका प्रशिक्षण लें और रोजगार से जुड़ें. उन्होंने कहा कि कौशल विकास यहां ग्रामीणों के उत्थान के लिए योजना लेकर आयी है. 18-25 साल के युवक व युवतियों समेत पांचवीं पास से ग्रेजुएट तक सिलाई मशीन ऑपरेटर, मेडिकल सेल्स रिप्रेजेंटिव, मोबाइल रिपेयरिंग इंजीनियर आदि का प्रशिक्षण लेकर रोजगार से जुड़ सकते हैं. उन्होंने कहा कि इसमें आप सब का सहयोग चाहिए. सरकारी योजना का लाभ लें. शिविर में बाकड़ाकोचा के ग्रामीणों ने पानी, राशन कार्ड, आधार कार्ड आदि की समस्या बतायी.
लुगनी को दी ट्राई साइकिल
शिविर में डीसी ने वृद्धाओं के बीच कंबल का वितरण किया. जियान स्कूल टोला में नक्सलियों द्वारा दुष्कर्म पीड़िता लुगनी (बदला हुआ नाम) को डीसी ने ट्राई साइकिल दिया. शिविर में स्वास्थ्य विभाग ने ग्रामीणों की स्वास्थ्य जांच कर दवाईयां दी. झारखंड सरकार के झारखंड कौशल मिशन द्वारा एमीगो सल्यूएशंस की ओर से 100 युवक व युवतियों को प्रशिक्षण के लिए निबंधन किया गया.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें