1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. saraikela kharsawan
  5. cyclone yaas in jharkhand cyclonic storm likely to remain in seraikela from 26th to 28th may two teams of ndrf arrived from patna smj

Cyclone Yaas In Jharkhand : 26 से 28 मई तक चक्रवाती तूफान के सरायकेला में रहने की संभावना, पटना से पहुंची NDRF की दो टीम

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
चक्रवाती तूफान यास के मद्देनजर सरायकेला डीसी अरवा राजकमल ने अधिकारियों संग की बैठक.
चक्रवाती तूफान यास के मद्देनजर सरायकेला डीसी अरवा राजकमल ने अधिकारियों संग की बैठक.
प्रभात खबर.

Cyclone Yaas In Jharkhand (प्रताप मिश्रा, सरायकेला) : चक्रवाती तूफान यास से निपटने के लिए सरायकेला- खरसावां डीसी अरवा राजकमल ने आपदा प्रबंधन समिति की बैठक किया. बैठक में डीसी ने चक्रवाती तूफान से बचाव को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये. बैठक में डीसी ने बताया कि चक्रवाती तूफान की आशंका को देखते हुए पटना से NDRF की दो टीम सरायकेला पहुंची है. इसमें एक गम्हरिया और दूसरी टीम सरायकेला में तैनात रहेगी. आपात स्थिति में टीम पहुंच कर रेस्क्यू अभियान चलायेगी.

बैठक में डीसी अरवा राजकमल ने चक्रवाती तूफान यास से बचाव के लिए बिजली विभाग, वन विभाग, नगर निकाय एवं अन्य संबंधित विभाग द्वारा किये गये तैयारियों की जानकारी हासिल करते हुए सभी को 24 घंटे तत्पर रहने का निर्देश दिया. साथ ही सभी विभागीय पदाधिकारी को आपसी समन्वय स्थापित करते हुए जान-माल के सुरक्षा के लिए कार्य करने को कहा.

बैठक में चांडिल डैम, खरकाई डैम एवं ब्यानगबिल डैम के कार्यपालक पदाधिकारीयों को आपसी समन्वय स्थापित करते हुए कार्य करने को कहा. साथ ही सभी बचाव टीम को सक्रिय मोड में रखने और पानी के लेवल की जानकारी अपडेट करते रहने को कहा. जरूरत पड़ने पर पानी को रिलीज करने से पूर्व आपसी सहमति बनाने पर जोर दिया. इसके अलावा किसी भी प्रकार के जान-माल की क्षति ना हो. इस पर ध्यान रखने को कहा है. वहीं, डैम से पानी छोड़ने एवं स्टोर करने के लिए सभी तैयारी जल्द से जल्द पूरी कर लेने का निर्देश दिया.

जिला नियंत्रण कक्ष का हेल्पलाइन नंबर जारी

चक्रवाती तूफान यास की संभावना को देखते हुए जिला प्रशासन ने आपदा को लेकर जिला नियंत्रण कक्ष का गठन किया है. इस दौरान लोगों को सहयोग मिले, इसके लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है. हेल्पलाइन नंबर 7903376620 / 0659-7234002 / 18003456461 पर फोन कर संपर्क कर सकते हैं.

आवश्यक उपकरण कर लें स्टोर, लोगों को नही हो परेशानी

डीसी ने बिजली विभाग को सभी आवश्यक सामाग्री जो किसी प्रकार के नुकसान से बिजली शुरू करने में उपयोग किया जाना हो उसका स्टोर कर लेने का निर्देश दिया. बिजली विभाग सभी स्टेशन एवं सब स्टेशन में टीम को अलर्ट मोड़ में रखने का निर्देश दिया. बैठक में सदर अस्पताल, जेल, सीएचसी, पीएचसी, समाहरणालय, एसपी ऑफिस जैसे आवश्यक कार्यालयों में अधिक देर तक बिजली बाधित ना हो यह सुनिश्चित करें.

वहीं, सड़क पर पेड़ गिरने की सूचना पर तुरंत संज्ञान लेते हुए पेड़ को काटकर हटाते हुए यातायात व्यवस्था सामान्य करने का निर्देश भी दिया. इसके लिए वन विभाग एवं एनएच के टीम सक्रिय रहे. डीसी ने लोगों को जागरूक करने, सभी टीमों को मुस्तेद रखने, शहरी क्षेत्र में ऐसे भवन या घर जो जर्जरस्थिति में है उस भवन को खाली कराकर अगले तीन दिन के लिए लोगों को शेल्टर हाउस में रखने, शेल्टर हाउस में साफ-सफाई व खाने-पीने की समुचित व्यवस्था रखने, चांडिल डैम के आसपास रह रहे मछुआरों को सुरक्षित जगह में पहुंचाने का निर्देश दिया. साथ ही आपदा को देखते हुए आवश्यक काम को छोड़ कर कार्य स्थगित रखने को कहा.

26 से 28 मई तक जिला में रहेगा प्रभाव : डीसी

डीसी श्री राजकमल ने कहा कि चक्रवाती तूफान यास के जिला में 26 से 28 मई तक रहने का अनुमान है. इसलिए अनावश्यक घरों से बाहर ना निकलें. इसके अलावा पेड़ के नीचे खुद सहित जानवर और वाहन को ना रखे. जिला प्रशासन यह प्रयास कर रही है कि संभावित चक्रवाती तूफान से किसी प्रकार के जानमाल की क्षति ना हो. इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी है. जिले में 26 से 28 मई के बीच गरज के साथ, छिंटे, बिजली, तेज हवा और अलग-अलग स्थानों पर बारिश होने की संभावना है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें