1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. sawan 2021 devotees will not be disappointed with baba baidyanath darshan see online worship like this smj

Sawan 2021 : बाबा बैद्यनाथ के दर्शन से श्रद्धालु नहीं होंगे मायूस, ऐसे देखें ऑनलाइन पूजा

सावन महीने में बाबा भोलेनाथ का आप भी कर सकते हैं ऑनलाइन दर्शन. इसके लिए राज्य सरकार की ओर से देवघर में बाबा बैद्यनाथ के नियमित पारंपरिक पूजा का प्रसारण jharGov.in पर किया जायेगा. इस पर जाकर आप सुबह- शाम को होने वाले बाबा के पांरपरिक पूजा को ऑनलाइन देख सकते हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : बाबा बैद्यनाथ के पारंपरिक पूजा का देखें ऑनलाइन प्रसारण.
Jharkhand news : बाबा बैद्यनाथ के पारंपरिक पूजा का देखें ऑनलाइन प्रसारण.
ट्विटर.

Sawan 2021, Jharkhand News (रांची) : सावन महीने में बाबा भोलेनाथ का आप भी कर सकते हैं ऑनलाइन दर्शन. इसके लिए राज्य सरकार की ओर से देवघर में बाबा बैद्यनाथ के नियमित पारंपरिक पूजा का प्रसारण jharGov.in पर किया जायेगा. इस साइट पर जाकर आप सुबह और शाम को होने वाले बाबा के पांरपरिक पूजा को ऑनलाइन देख सकते हैं.

बता दें कि काेरोना वायरस संक्रमण और संभावित तीसरी लहर को देखते हुए इस साल भी बाबा मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश बंद है. विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेले का भी आयोजन नहीं हो रहा है. श्रद्धालुओं के लिए बाबा बैद्यनाथ मंदिर में देव दर्शन, पूजन, जलार्पण सहित अन्य सभी धार्मिक अनुष्ठान बंद रहेंगे.

लेकिन, सावन महीने में श्रद्धालुगण बाबा भोलेनाथ के दर्शन से वंचित ना रहे, इसको लेकर राज्य सरकार ने jharGov.in के माध्यम से देवघर मंदिर प्रबंधन द्वारा आयोजित नियमित सुबह एवं शाम को होने वाले पारंपरिक पूजा का प्रसारण की व्यवस्था की है, ताकि श्रद्धालुगण भी बाबा बैद्यनाथ की पारंपरिक पूजा के साक्षी बन सके.

कोरोना संक्रमण के कारण देवघर के बाबा बैद्यनाथ और दुमका के बासुकिनाथ में श्रद्धालुओं के आने की मनाही है. इसको लेकर जिला प्रशासन सभी इंट्री प्वाइंट पर चौकसी बढ़ा दी है. वहीं, अगर कोई श्रद्धालु मंदिर की ओर आते भी हैं, तो उन्हें मंदिर बंद होने की जानकारी देकर वापस भेज दिया जाता है.

मंदिर बंद होने के कारण सभी इंट्री प्वाइंट पर बैरिकेडिंग भी की गयी है. श्रद्धालु दूर से ही बाबा भोलेनाथ का दर्शन कर रहे हैं. वहीं, दुमका के बासुकिनाथ में भी दूर से ही श्रद्धालु पंचशूल का दर्शन कर वापस लौट रहे हैं.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें