1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. phoolo jhano ashirwad abhiyan cm hemant soren said to make jharkhand malnutrition free grj

फूलो झानो आशीर्वाद अभियान : लाभुकों से बोले सीएम हेमंत सोरेन, झारखंड को बनाना है कुपोषण मुक्त

मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण काल में जब सब कुछ थम गया था. लोग अपने घरों में दुबके हुए थे. उस समय सखी मंडल की दीदियों ने बेहतरीन और साहस भरा कार्य किया था. गांव-गांव में लोगों को भोजन कराया. किसी की भी मृत्यु भूख से नहीं हुई.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
लाभुक को चेक सौंपते सीएम हेमंत सोरेन व मंत्री आलमगीर आलम
लाभुक को चेक सौंपते सीएम हेमंत सोरेन व मंत्री आलमगीर आलम
सोशल मीडिया

Jharkhand News, रांची न्यूज : झारखंड के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने महिलाओं से सीधा संवाद के क्रम में कहा कि झारखंड की जिन वीरांगनाओं फूलो झानो के नाम पर योजना की शुरुआत की गई है आज उसका सार्थक परिणाम सामने आने लगा है. गरीबी और मजबूरी में हड़िया शराब निर्माण और बिक्री के कार्य से जुड़ी महिलाओं ने योजना का लाभ लिया और अपने आत्मविश्वास की बदौलत बदलाव की कहानी गढ़ने लगीं. यह सुखद क्षण है. राज्य को कुपोषण से मुक्ति दिलाना उनकी प्राथमिकता में है.

मुख्यमंत्री जी आपका बहुत-बहुत धन्यवाद. जो लोग मुझे कभी तिरस्कृत करते थे. आज वही लोग मुझे सम्मान देने लगे हैं. लोग मुझे बैंक दीदी के नाम से जानते हैं. यह फूलो झानो आशीर्वाद अभियान की बदौलत संभव हुआ है. मुझे लोन मिला और सरकार के सहयोग से अब बेहतर जीवन यापन कर रही हूं. ये कहते-कहते झारखंड के खूंटी जिले की अनिमा हेरेंज का गला रुंध जाता है. मौका था फूलो झानो आशीर्वाद अभियान अंतर्गत आजीविका उपलब्धता कार्यक्रम में हड़िया/दारू निर्माण और बिक्री का कार्य छोड़ सम्मानजनक आजीविका के साधनों से जुड़ी महिलाओं का मुख्यमंत्री के साथ सीधा संवाद का.

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाएं हर क्षेत्र में आगे आएं. सरकार उनके साथ है. गाय पालन, मुर्गी पालन, खेती समेत अन्य व्यवसाय में उनका साथ देगी. अभी कुपोषण से मुक्ति दिलाने और आने वाली पीढ़ी को बेहतर स्वास्थ्य प्रदान करने के लिए स्कूली बच्चों को सप्ताह में छह दिन अंडा भोजन में देने का प्रावधान किया गया है. राज्य की महिलाएं मुर्गी पालन कर अंडा का उत्पादन करें. राज्य सरकार सभी अंडा को क्रय कर लेगी. इस तरह अन्य उत्पाद जैसे सब्जी, अनाज और पत्ते की थाली का भी निर्माण महिलाएं करें. खरीदारी सरकार करेगी. बस आप सभी योजना का लाभ लें और उसे सार्थक करें.

मुख्यमंत्री ने कहा कि संक्रमण काल में जब सब कुछ थम गया था. लोग अपने घरों में दुबके हुए थे. उस समय सखी मंडल की दीदियों ने बेहतरीन और साहस भरा कार्य किया था. गांव-गांव में लोगों को भोजन कराया. किसी की भी मृत्यु भूख से नहीं हुई. सखी मंडल की सदस्य इस दौरान मानवता के प्रति किए गए कार्य की मिसाल बनी थीं. सरकार को किसान, महिलाएं और ग्रामीण क्षेत्र के लोगों का विकास करना है. जब तक इनका विकास नहीं होगा, राज्य के विकास की कल्पना व्यर्थ है.

मंत्री ग्रामीण विकास विभाग आलमगीर आलम ने कहा कि सरकार की कोशिश रही है कि महिलाओं का सशक्तीकरण कैसे किया जाए. इसके लिए फूलो झानो अभियान का शुभारंभ एक वर्ष पूर्व किया गया. इन्हें ब्याज मुक्त लोन उपलब्ध कराया, ताकि उन्हें सम्मानजनक आजीविका का साधन मिल सके. इस दिशा में सरकार गंभीर है. महिलाओं का सर्वांगीण विकास सरकार का लक्ष्य है. राज्य की सखी मंडल बेहतर कार्य कर रही है. संक्रमण काल में इनका कार्य सराहनीय रहा. जेएसएलपीएस से जोड़ कर इन्हें लाभान्वित करने का कार्य किया जा रहा है. 25 लाख लाभुकों को सरकार की विभिन्न बीमा से जोड़ा गया. 30 लाख लाभुको को जोड़ने केलक्ष्य के साथ सरकार काम कर रही है, जिसे जल्द प्राप्त कर लिया जाएगा. पलाश ब्रांड झारखंड की पहचान बनेगी. हर प्रखंड तक इसकी पहुंच बने इस दिशा में कार्य हो रहा है.

मुख्यमंत्री ने दीदी हेल्पलाइन कॉल सेंटर का शुभारंभ किया। इसके तहत झारखंड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी के द्वारा क्रियान्वित विभिन्न योजनाओं से जुड़ी गतिविधियों से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी सिर्फ एक कॉल पर उपलब्ध होगी. हेल्पलाइन का उद्देश्य है कि जेएसएलपीएस की विभिन्न योजनाओं की जानकारी सुदूरवर्ती गांव के लोगों तक पहुंचाना एवं समस्याओं के निराकरण के लिए कार्य करना है. इस हेल्पलाइन के टॉल फ्री नंबर 18004190400 एवं 18004197400 पर कॉल के जरिए जेएसएलपीएस द्वार संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी ली जा सकती है. इस अवसर पर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, ग्रामीण विकास विभाग के सचिव मनीष रंजन, जेएसएलपीएस की मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी नैंसी सहाय एवं अन्य उपस्थित थे.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें