1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. lalu prasad hearing live fodder scam hearing on bail plea lalu prasad yadav convicted in fodder scam jharkhand high court illegal withdrawal case from dumka treasury ex chief minister of bihar rjd supremo rims birsa munda jail gur

Lalu Prasad Hearing LIVE : Lalu Yadav जेल से बाहर आएंगे या पूरी करनी होगी सजा, फैसला अब 11 दिसंबर को, जानिए क्यूं टली सुनवाई

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
fodder scam : लालू प्रसाद की जमानत याचिका पर हाईकोर्ट में सुनवाई टली
fodder scam : लालू प्रसाद की जमानत याचिका पर हाईकोर्ट में सुनवाई टली
फाइल फोटो

Lalu Prasad Hearing live : रांची : चारा घोटाला में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व सीएम व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर आज शुक्रवार को झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई टल गयी. जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में जमानत पर सुनवाई के लिए अपील याचिका सूचीबद्ध थी. अब 11 दिसंबर को इस मामले में अगली सुनवाई होगी. चारा घोटाले से जुड़े तीन अन्य मामलों में उन्हें पहले ही जमानत मिल चुकी है. दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद यादव की ओर से हाईकोर्ट में जमानत के लिए याचिका दायर की गयी है.

11 दिसंबर को अगली सुनवाई

चारा घोटाला में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व सीएम व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर आज झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई टल गयी. जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में जमानत पर सुनवाई के लिए अपील याचिका सूचीबद्ध थी. अब इस मामले में 11 दिसंबर को अगली सुनवाई होगी.

केली बंगला से वार्ड में शिफ्ट

चारा घोटाला मामले के सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव को रांची स्थित राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) के निदेशक के बंगला से कल गुरुवार को पेइंग वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया. कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए उन्हें पेइंग वार्ड से निदेशक बंगले में पहले शिफ्ट किया गया था.

सीबीआई ने दी ये दलील

सीबीआई ने पिछले दिनों हाईकोर्ट में जवाब दाखिल करते वक्त दावा किया है कि लालू प्रसाद यादव के मामले में भी ऐसा ही हुआ है. उनके मामले में न तो निचली अदालत ने सजा चलाए जाने को लेकर कोई स्पष्ट आदेश दिया है और न ही लालू की ओर इसके लिए निचली अदालत में कोई आवेदन दिया गया है. ऐसे में पहली सजा पूरी होने के बाद ही दूसरी सजा शुरू मानी जायेगी.

सीआरपीसी की धारा 427 का हवाला

सीबीआई ने हाईकोर्ट ने सीआरपीसी की धारा 427 का हवाला देकर जमानत का विरोध किया है. इसके तहत सजा काट रहे किसी व्यक्ति को दूसरे मामले में दोबारा सजा सुनाई जाती है, तो सजा लगातार चलेगी. जब तक कि निचली अदालत अपने आदेश में यह स्पष्ट न करे कि सजाएं एक साथ चलेंगी.

झारखंड में चल रहे पांच मामले

आपको बता दें कि लालू प्रसाद यादव पर झारखंड में कुल पांच मामले चल रहे हैं. इनमें से चार मामलों में उन्हें सजा मिल चुकी है. लालू को पहले ही चाईबासा के दो एवं देवघर मामले में जमानत मिल चुकी है, जबकि दुमका कोषागार मामले में उन्होंने हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है. डोरंडा कोषागार मामले में अभी निचली अदालत में सुनवाई चल रही है.

जमानत के लिए आग्रह

लालू प्रसाद यादव की ओर से दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की गई है. उनकी ओर से सजा की आधी अवधि जेल में काटने और हृदय रोग, किडनी व शुगर सहित 16 प्रकार की बीमारियों का हवाला देकर जमानत की मांग की गयी है.

सीआरपीसी की धारा 427 का हवाला

सीबीआई ने इस दौरान सीआरपीसी की धारा 427 का हवाला देते हुए कहा कि दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में से जुड़े चारा घोटाला में लालू प्रसाद यादव एक दिन भी जेल में नहीं रहे हैं.

सीबीआई ने किया जवाब दाखिल

बहुचर्चित चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे बिहार के पूर्व सीएम सह राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की जमानत मामले में सीबीआई ने झारखंड हाईकोर्ट में जवाब दाखिल किया. इसमें सीबीआई ने कहा है कि लालू प्रसाद यादव ने चारा घोटाले के जिस मामले में जमानत की मांग की है, उस मामले में सीबीआई कोर्ट से उन्हें मिली सजा की आधी अवधि पूरी नहीं हुई है.

चाईबासा मामले में मिल चुकी है जमानत

चारा घोटाला में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव को चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी मामले में 9 अक्टूबर को जमानत मिल गयी है. लालू प्रसाद यादव ने अपनी जमानत याचिका में अपनी बीमारी का हवाला दिया था. याचिका में बताया गया है कि वह कई बीमारियों से ग्रसित हैं. उनका इलाज कई सालों से रांची के रिम्स में हो रहा है. उनका स्वास्थ्य भी ठीक नहीं रहता है. इसलिए उन्हें जमानत दे दी जाए. लालू प्रसाद यादव ने 4 जुलाई को हाईकोर्ट में जमानत के लिए याचिका दाखिल की थी.

2017 से जेल में हैं लालू

आपको बता दें कि बिहार के पूर्व सीएम व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव 23 दिसंबर 2017 से चारा घोटाला मामले में जेल में बंद हैं. दुमका, देवघर और चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी मामले में सीबीआई की विशेष अदालत इन्हें सजा सुना चुकी है. देवघर और चाईबासा से जुड़े तीन मामले में इन्हें जमानत मिल चुकी है. चाईबासा के दो मामलों में लालू प्रसाद को जमानत मिल चुकी है.

केली बंगले से वार्ड में हुए शिफ्ट

चारा घोटाला में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव रांची के रिम्स स्थित केली बंगला में रह रहे थे. कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण उन्हें रिम्स से केली बंगला में शिफ्ट किया गया था. कल गुरुवार को उन्हें वापस रिम्स के वार्ड में शिफ्ट कर दी गयी है.

जमानत याचिका दाखिल 

चारा घोटाला से जुड़े दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद यादव के अधिवक्ता देवर्षि मंडल ने हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की थी. जमानत याचिका में उन्होंने आग्रह किया है कि लालू प्रसाद यादव ने आधी सजा काट ली है. इसलिए इन्हें जमानत दे दी जाए.

टल गयी थी पिछली सुनवाई

दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव की ओर से पिछले दिनों जमानत याचिका दाखिल की गयी थी. हालांकि जमानत पर सुनवाई को लेकर 9 नवंबर की तारीख तय थी, लेकिन लालू प्रसाद यादव के अधिवक्ता ने 6 नवंबर को ही इनसे जुड़े मामले में सुनवाई के कारण जमानत पर सुनवाई करने का आग्रह किया था, जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया था और छह नवंबर को सुनवाई टल गयी थी.

जमानत का आग्रह

दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में झारखंड हाईकोर्ट में दाखिल जमानत याचिका में लालू प्रसाद यादव की ओर से आग्रह किया गया है कि उन्होंने आधी सजा काट ली है. इसलिए उन्हें जमानत दे दी जाए.

सात साल की मिली है सजा

आपको बता दें कि छह नवंबर को झारखंड हाईकोर्ट में लालू प्रसाद यादव की जमानत पर सुनवाई टलने के कारण लालू प्रसाद यादव को दिवाली जेल में ही मनानी पड़ी थी. सीबीआई की विशेष अदालत ने दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद यादव को सात साल की सजा सुनाई है

जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में सुनवाई

बहुचर्चित चारा घोटाला में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर आज हाईकोर्ट में सुनवाई है. जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में दाखिल जमानत याचिका पर सुनवाई की जायेगी.

दुमका कोषागार मामले में जमानत पर सुनवाई

दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में उनकी ओर से जमानत के लिए याचिका दाखिल की गयी है, जिस पर सुनवाई चल रही है. आज 27 नवंबर (शुक्रवार) को जमानत याचिका पर सुनवाई होनी है.

चार मामलों में मिल चुकी है सजा

सीबीआई की विशेष अदालत से उन्हें चारा घोटाले के जिन चार मामलों में सजा मिली है, उसके खिलाफ उन्होंने हाईकोर्ट में अपील की है. इसमें तीन मामले में हाईकोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी है.

झारखंड में हैं पांच मामले

लालू प्रसाद यादव के खिलाफ चारा घोटाले से जुड़े पांच मामले झारखंड में चल रहे हैं. चार मामलों में सीबीआई की अदालत से उन्हें सजा सुनायी जा चुकी है. पांचवा मामला डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित है और इसकी सुनवाई अभी रांची के सीबीआई कोर्ट में चल रही है.

तीन मामलों में मिल चुकी जमानत

चारा घोटाले से जुड़े तीन अन्य मामलों में लालू प्रसाद यादव को पहले ही जमानत मिल चुकी है. दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद यादव की ओर से हाईकोर्ट में जमानत के लिए याचिका दायर की है. इस मामले में आज झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है.

बेल मिली, तो आ जायेंगे बाहर 

झारखंड हाईकोर्ट में जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में आज लालू प्रसाद की जमानत पर सुनवाई के लिए अपील याचिका सूचीबद्ध है. अदालत से बेल मिलने पर वे जेल से बाहर आ जायेंगे.

जमानत पर सुनवाई आज

चारा घोटाला में सजायाफ्ता बिहार के पूर्व सीएम व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर आज शुक्रवार को झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है. जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में जमानत पर सुनवाई के लिए अपील याचिका सूचीबद्ध है. अदालत से बेल मिलने पर वे जेल से बाहर आ जायेंगे. चारा घोटाले से जुड़े तीन अन्य मामलों में उन्हें पहले ही जमानत मिल चुकी है. दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद यादव की ओर से हाईकोर्ट में जमानत के लिए याचिका दायर की है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें