1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand budget 2021 cm hemant while targeting the previous bjp government described the budget as a milestone bjp legislature party leader babulal marandi made allegations against the government grj

Jharkhand Budget 2021 : सीएम हेमंत ने पूर्व की बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए बजट को बताया मील का पत्थर, बीजेपी विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने सरकार पर लगाये ये आरोप

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand Budget 2021 : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी
Jharkhand Budget 2021 : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी
फोटो : सोशल मीडिया

Jharkhand Budget 2021, Ranchi News, रांची न्यूज : झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा और इस बजट को मील का पत्थर बताया. उन्होंने कहा कि सरकार लॉन्ग टर्म प्लान के तहत कार्य कर रही है. इसलिए इसका दूरगामी परिणाम दिखेगा. वहीं भाजपा विधायक दल के नेता व पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी ने हेमंत सोरेन सरकार को घेरते हुए कहा कि इस सरकार का कोई काम धरातल पर नहीं दिख रहा. इन्होंने आरोप लगाया कि ये सरकार सिर्फ खजाना खाली होने का रोना रोती रहती है.

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि सरकार लॉन्ग टर्म प्लान के तहत कार्य कर रही है. इसका दूरगामी परिणाम दिखेगा. पिछले 20 साल में इस राज्य के लिए जो भी नीति निर्धारित हुई, वो तात्कालिक लाभ के लिए थी. यही कारण है कि इस बार राज्य सरकार ने आउटकम बजट का प्रावधान किया है. सिर्फ बजट बनाने पर हमारी सरकार ने जोर नहीं दिया है, बल्कि बजट के परिणाम पर भी हमारा विशेष फोकस है. यही कारण है कि यह बजट मील का पत्थर साबित होगा.

सीएम ने कहा कि झारखंड में वो सभी चीजें उपलब्ध हैं, जिनसे राज्य को अग्रणी पथ पर देखा जाता है, लेकिन पिछली सरकारों के कार्य दुर्भाग्यपूर्ण रहे हैं. यही कारण है इस बार राज्य के आंतरिक संसाधनों को लेकर और राज्य की क्षमता के अनुरूप कार्ययोजना बनायी जा रही है. राज्य सरकार की कोशिश है कि ग्रामीण क्षेत्रों से लेकर शहरी क्षेत्रों तक एक ऐसा वातावरण तैयार किया जा सके, जहां सभी लोगों को रोजगार उपलब्ध हो सके. लगातार केंद्र की हिस्सेदारी में झारखंड की कटौती हुई है. राज्य को एक साथ कई समस्याओं के समाधान का प्रयास करना होगा.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्य सरकार की कोशिश है कि राज्य का विकास चरणबद्ध तरीके से हो. इसी को ध्यान में रखकर बजट में भी इस बात पर विशेष ध्यान दिया गया है. पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में इस बार बजट का आकार कुछ बढ़ा है. इससे यही अंदाजा लगाया जा सकता है कि वर्तमान सरकार किन- किन चीजों को प्राथमिकता में रखकर कार्य कर रही है. ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को आर्थिक मजबूती पर भी विशेष जोर दिया गया है. पिछली सरकार की कार्यशैली से दलदल में गयी सरकार की आर्थिक स्थिति को उबारने की कोशिश वर्तमान सरकार कर रही है. सीएम मे कहा कि वर्ष 2021 रोजगार का वर्ष होगा. इसी के तहत हर साल एक निश्चित दिशा में कार्य करने पर जोर रहेगा और एक-एक कर सभी कार्ययोजनाओं को मजबूती के साथ धरातल पर उतारेंगे.

भाजपा विधायक दल के नेता और झारखंड के पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी ने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार अपने वायदे पूरे करने में नाकाम रही है. कुछ भी धरातल पर काम नहीं दिख रहा है. ये सरकार की नाकामी को दिखाता है यह बजट. पूरा एक साल गुजर गया, लेकिन वर्तमान सरकार ने कोई काम नहीं किया. सिर्फ रोने के अलावा इस सरकार ने कुछ नहीं किया है. सरकार ने हर बार खजाना खाली होने का सिर्फ रोना रोया. बाबूलाल मरांडी ने आरोप लगाया कि खाली खजाने को भरने की जगह यह सरकार अपनी जेब भरने में मशगूल है. इस दौरान उन्होंने सीएम के विधायक प्रतिनिधि पर उन्होंने जमकर वार किया.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें