1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jac inter exam 2021 wwwjacjharkhandgovin on the 12th board exam in jharkhand cm hemant soren tweeted and asked opinion in corona pandemic the students said jaan hai to jahan hai read what are the reactions grj

JAC Inter Exam 2021 : झारखंड में 12वीं बोर्ड की परीक्षा पर सीएम हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर मांगी राय, कोरोना से सहमे बच्चे बोले-जान है तो जहान है, पढ़िए क्या हैं प्रतिक्रियाएं

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
JAC Inter Exam 2021 : सीएम हेमंत सोरेन ने 12वीं बोर्ड की परीक्षा पर मांगी राय
JAC Inter Exam 2021 : सीएम हेमंत सोरेन ने 12वीं बोर्ड की परीक्षा पर मांगी राय
फाइल फोटो

JAC Inter Exam 2021, www.jac.jharkhand.gov.in, रांची न्यूज : झारखंड में 12वीं बोर्ड की परीक्षा के आयोजन को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राय मांगी है. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा है कि झारखंड में 12वीं बोर्ड की परीक्षा (Jharkhand Intermediate Exam 2021) को लेकर 12वीं में पढ़ने वाले बच्चे, अभिभावक और शिक्षकगण अपनी राय दें कि 12वीं बोर्ड की परीक्षा कैसे ली जाए. अपना बहुमूल्य सुझाव कमेंट कर साझा करें. इससे भारत सरकार के साथ होने वाली बैठक में राय और दिक्कतों को बेहतर ढंग से रखने में मदद मिलेगी. इस पर मिली-जुली प्रतिक्रिया आई है. अधिकतर ने कोरोना महामारी को देखते हुए परीक्षा कैंसिल करने को कहा है. उन्होंने कहा है कि जान है तो जहान है. परीक्षा से कोरोना संक्रमण बढ़ने का खतरा है.

इंटरमीडिएट परीक्षा के आयोजन को लेकर छात्रों, अभिभावकों एवं शिक्षकों ने मिली-जुली प्रतिक्रिया दी है.

हम जानते हैं कि 12 वीं बोर्ड हमारा भविष्य है, लेकिन जिस बच्चे ने अपना अभिभावक खोया है, जिसके घर में कोरोना के मरीज हैं, जो बच्चा खुद कोरोना पॉजिटिव है, उसका क्या...ऐसे में परीक्षा का आयोजन संभव नहीं. इससे कोरोना के मामले बढ़ेंगे. परीक्षा रद्द हो.

सिलेबस में कटौती कर परीक्षा आयोजित की जाये. सिर्फ प्रमोट नहीं किया जाये. 12 बोर्ड बच्चों के भविष्य का आधार है.

कोरोना के बढ़ते संक्रमण से अभिभावक डरे हुए हैं. इसलिए बच्चों की जान जोखिम में नहीं डाल सकते हैं. ऐसे में परीक्षा का आयोजन नहीं हो.

दसवीं और बारहवीं की परीक्षा किसी भी परिस्थिति में रद्द नहीं करें. आने वाले दिनों में परीक्षा का आयोजन करें. परीक्षा नहीं होने से बच्चों की मेहनत बेकार चली जायेगी.

पिछली परीक्षाओं के आधार पर रिजल्ट दें. कोरोना में बढ़ते संक्रमण के बीच रिस्क लेना ठीक नहीं है. परीक्षाएं तो होती रहेंगी, जीवन दोबारा नहीं मिलेगा. इसलिए परीक्षा रद्द की जाये.

कोरोना काल में परीक्षा का आयोजन उचित नहीं है. परीक्षा रद्द की जाये या फिर ऐच्छिक हो. 90 फीसदी बच्चे ऐसी परिस्थिति में परीक्षा के लिए मानसिक तौर पर तैयार नहीं हैं.

कोरोना संक्रमण के बीच परीक्षा कैंसिल की जाये. इससे कोरोना का खतरा बढ़ेगा. जान ही नहीं रहेगी, तो परीक्षा का क्या होगा.

मेरा पूरा परिवार हाल में ही कोरोना से ठीक हुआ है. पिता जी अभी सीरियस हैं. ऐसी हालत में सभी दबाव दे रहे हैं कि 12वीं की परीक्षा नहीं दो. कोरोना से सभी डरे हुए हैं.

हम मरना नहीं चाहते. अपने परिवार को खोना नहीं चाहते. प्लीज परीक्षा कैंसिल की जाये.

जान है तो जहान है. कोरोना महामारी को देखते हुए परीक्षा रद्द होनी चाहिए. इसका आयोजन बाद में भी किया जा सकता है.

सीएम हेमंत सोरेन के ट्वीट करने के 4 घंटे के अंदर 4600 से अधिक कमेंट, 2100 से अधिक रिट्वीट, 9400 लाइक किए गए हैं. इसमें कोरोना के खतरे का भय लोगों को डरा रहा है. जान जोखिम में डालकर परीक्षा के आयोजन को लेकर तैयार नहीं हैं.

हेमंत सोरेन ने ट्वीट किया है कि कक्षा बारहवीं में पढ़ने वाले सभी बच्चों के अभिभावक, अध्यापकों और खुद छात्रों से इस वर्ष इंटरमीडिएट की परीक्षा पर राय जानना चाहता हूं. कृपया अपना बहुमूल्य सुझाव कमेंट कर साझा करें. इससे भारत सरकार के साथ होने वाली बैठक में राय और दिक्कतों को बेहतर ढंग से रखने में मदद मिलेगी.

झारखंड में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण सभी स्कूल कॉलेज बंद हैं. 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा को लेकर तारीख तय नहीं हुई है. बढ़ते संक्रमण को देखते हुए पूर्व निर्धारित तारीख पर परीक्षा टाल दी गयी थी. अब सरकार राय लेकर इस पर निर्णय लेगी.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें