1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. corona recovery rate jharkhand latest news coronavirus covid 19 positives vaccine patients rims jharkhand me coraona prt

Corona Recovery Rate : झारखंड में अब तक 93 फीसदी मरीज हो चुके हैं स्वस्थ, 6055 हैं कुल एक्टिव केस

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Corona Recovery Rate in Jharkhand
Corona Recovery Rate in Jharkhand
prabhat khabar

रांची : झारखंड में शुक्रवार को 28162 सैंपल की जांच हुई और 1.54 फीसदी यानी कुल 435 संक्रमित मिले हैं. वहीं तीन संक्रमितों की मौत हो गयी है. इनमें जमशेदपुर से दो व गोड्डा से एक संक्रमित की मौत हो गयी है. अब तक कुल 862 की मौत हो चुकी है. राज्य में कोरोना के कुल 99045 पॉजिटिव मिले चुके हैं. जिसमें 93.01 फीसदी यानी 92128 स्वस्थ हो चुके हैं. इस समय कुल एक्टिव केस 6055 है. सरायकेला, पाकुड़ व लातेहार जिलों में शुक्रवार को एक भी संक्रमित नहीं मिले हैं.

नये पॉजिटिव मिले : शुक्रवार को रांची से सर्वाधिक 103 संक्रमित मिले हैं. वहीं बोकारो से 65,चतरा से पांच, देवघर से 28, धनबाद से 24, दुमका से 10, पूर्वी सिंहभूम से 36, गढ़वा से छह, गिरिडीह से पांच, गोड्डा से 16, गुमला व हजारीबाग से 11-11, जामताड़ा से 14, खूंटी से 19, कोडरमा से एक, लोहरदगा से 10, पलामू से नौ, सिमडेगा से तीन व पश्चिमी सिंहभूम से 46 संक्रमित मिले हैं.

499 निगेटिव हुए : शुक्रवार को 499 संक्रमितों की रिपोर्ट निगेटिव आयी है. इनमें बोकारो से 27, देवघर से 28, धनबाद से 26, दुमका से एक, जमशेदपुर से 50, हजारीबाग से 26, जामताड़ा से पांच, खूंटी से 25, कोडरमा से 34, लातेहार से 12, रांची से 159, साहिबगंज से दो, सरायकेला से 15, व प. सिंहभूम से तीन मरीज स्वस्थ हुए हैं.

सदर अस्पताल के कोविड विंग मेें 26 संक्रमित भर्ती : रांची सदर अस्पताल के कोविड विंग में 26 संक्रमितों को भर्ती कर इलाज किया जा रहा है. कोरोना संक्रमित जिनको ऑक्सीजन की आवश्कता है, उनको अब जिला प्रशासन द्वारा सदर अस्पताल के कोविड विंग में भर्ती कराया जा रहा है. उपाधीक्षक डॉ एस मंडल ने बताया कि कोविड विंग सही से संचालित हो रहा है. डॉक्टर जिनकी ड्यूटी पारस अस्पताल में लगी हुई थी, वह सदर अस्पताल के डीसीसीएच विंग में योगदान दे रहे हैं.

चेन्नई में भर्ती हैं शिक्षा मंत्री स्वास्थ्य में हो रहा सुधार : रांची. महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट (एमजीएम) चेन्नई में पल्मोनोलॉजी विंग में भर्ती कोरोना संक्रमित शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की स्थिति में सुधार हो रहा है. शिक्षा मंत्री को एकमो मशीन में रखा गया है. फेफड़ा को आराम देने से स्वास्थ्य में सुधार दिख रहा है. ऐसे में शिक्षा मंत्री का स्वास्थ्य बेहतर होने की उम्मीद वहां के डॉक्टर कर रहे हैं.

अस्पताल के लंग ट्रांसप्लांट विशेषज्ञ व चेस्ट मेडिसिन विंग के क्लिनिकल डायरेक्टर डॉ अपार जिंदल ने बताया कि शिक्षा मंत्री का स्वास्थ्य स्थिर है. धीरे-धीरे सबकुछ ठीक होगा. कोरोना की दोबारा जांच की कोई आवश्यकता नहीं है. आरटीपीसीआर जांच को बार-बार दोहराया नहीं जाता है. 20 दिनों के भीतर संक्रमित व्यक्ति अपने आप निगेटिव हाे जाता है. ऐसे में कोरोना जांच पर हम ज्यादा जरूरी नहीं समझ रहे हैं. कोविड के कारण उनके फेफड़ा में जो दुष्प्रभाव हुआ है, उसको ठीक करना ज्यादा जरूरी है.

Posted by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें