1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. chhath puja 2020 jharkhand live chhath puja nahay khay chhath puja karyakram pooja samagri for chhath puja jharkhand chhath guidelines social distancing mask gur

Chhath Puja 2020, Jharkhand LIVE : खरना के साथ ही छठव्रतियों का 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : महापर्व छठ के दूसरे दिन गुरुवार को छठ व्रतियों ने खरना का प्रसाद ग्रहण किया.
Jharkhand news : महापर्व छठ के दूसरे दिन गुरुवार को छठ व्रतियों ने खरना का प्रसाद ग्रहण किया.
प्रभात खबर.

Chhath Puja 2020, Jharkhand LIVE : रांची : नेम-निष्ठा और लोक आस्था का 4 दिवसीय महापर्व छठ बुधवार से नहाय खाय के साथ शुरू हो गया है. दूसरे दिन गुरुवार शाम को छठव्रतियों ने खरना का प्रसाद ग्रहण किया. इसके साथ ही छठव्रतियों का 36 घंटे का निर्जला उपवास भी शुरू हो गया है. वहीं, दूसरी ओर 4 दिनों तक चलनेवाले इस महापर्व को लेकर छठ घाट की साफ-सफाई कर दी गयी है. छठ गीतों से माहौल भक्तिमय है. राज्य की हेमंत सोरेन सरकार ने घाट पर जाकर छठ पूजा करने के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर आवश्यक सावधानी बरतने की अपील की है. झारखंड में महापर्व छठ की गतिविधियों की जानकारी के लिए जुड़े रहिए हमारे साथ.

email
TwitterFacebookemailemail

गुमला के सिसई रोड छठ तालाब में छठव्रतियों के लिए बनेगा सेल्फी प्वाइंट : डीसी

गुमला डीसी शिशिर कुमार सिन्हा ने सिसई रोड स्थित छठ तालाब में सेल्फी प्वाइंट स्थापित करने का निर्देश अधिकारियों को दिया है. साथ ही सजावट में कहीं कोई कमी है, तो उसे शुक्रवार सुबह 11:00 बजे तक पूरा कर लेने के लिए कहा गया है. डीसी गुरुवार की रात 8 बजे सिसई रोड छठ तालाब में स्थापित फव्वारा का उद्घाटन कर रहे थे. फव्वारा का उद्घाटन के बाद डीसी ने नगर परिषद के अधिकारी एवं संवेदक को तालाब को सुंदर बनाने के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिये. डीसी ने कहा कि छठव्रतियों के तालाब में पहुंचने पर उन्हें किसी प्रकार की परेशानी ना हो. इसका पूरा ख्याल रखा जाये. जहां-जहां जलजमाव है वहां मिट्टी और मोरम डालने के लिए कहा गया. डीसी ने कहा कि सिसई रोड छठ तालाब को सुंदर बनाने के लिए हर संभव प्रयास किया जायेगा. पहली कड़ी में तालाब में फव्वारा स्थापित किया गया है और छठ पर्व को देखते हुए सेल्फी प्वाइंट बनाने का निर्देश दिया गया है. मौके पर डीडीसी संजय बिहारी अंबष्ठ, अपर समाहर्ता सुधीर प्रसाद, एसडीओ रवि आनंद, नगर परिषद के कार्यपालक अभियंता हातिमताई राय, विशेष प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता अमरेंद्र कुमार, एलआरडीसी सुषमा नीलम सोरेंग सहित न्यू विशाल क्लब के सभी सदस्य मौजूद थे.

email
TwitterFacebookemailemail

छठव्रतियों की स्वागत में सज गये उपराजधानी दुमका के छठ घाट

लोक आस्था एवं सूर्योपासना के महान पर्व छठ को लेकर उपराजधानी दुमका में उत्साह पूरे चरम पर अरौर माहौल भक्तिमय है. चहुंओर छठ गीतों की गूंज है. गुरुवार को लोहंडा यानी खरना के अवसर पर छठ व्रतियों ने गुड़ से बनी खीर एवं घी चुपड़ी रोटी का प्रसाद तैयार किया. छठी मइया की पूजा की तथा प्रसाद ग्रहण किया. वहीं, ग्रामीण इलाकों में भी छठ घाटों की सफाई कर उसे शानदार ढंग से सजाया-संवारा गया है. शहरी क्षेत्र में छठ महापर्व को लेकर खासा उत्साह देखने को मिल रहा है. शहर के खुटाबांध, पोखरा चौक बड़ा बांध, रसिकपुर बड़ा बांध, पुसारो नदी एवं विशेश्वर पोखर छठ पूजा को लेकर सजा दिया गया है. घाटों की सफाई से लेकर सजावट तक का सारा काम समाप्त हो चुका है. पोखर के चारों ओर ज्यादा गहराई वाले क्षेत्र को बांस अथवा रस्सी से घेराबंदी कर दी गयी है, ताकि कोई भी छठ व्रती गहरे पानी में न जाएं.

email
TwitterFacebookemailemail

कामडारा में लोक आस्था का महापर्व छठ को लेकर उत्साह का माहौल

गुमला जिला अंतर्गत कामडारा, पोकला, कुरकुरा समेत आसपास के इलाकों में लोक आस्था का महापर्व छठ को लेकर लोगों में खासा उत्साह देखा जा रहा है. कामडारा में सभी समुदाय के लोग आपसी प्रेम और सौहार्द के साथ छठ घाट और तालाब वाले रास्ते की साफ- सफाई की गयी. प्रखंड मुख्यालय के चौक- चौराहों में छठी मईया के गीत से वातावरण भक्तिमय हो गया. कोरोना और महंगाई के बीच पूरी आस्था के साथ महापर्व छठ का आयोजन हो रहा है. गुरुवार शाम में छठव्रती भगवान सूर्यदेव की आराधना कर खरना का धार्मिक अनुष्ठान संपन्न किये. इस दौरान लोगों को खरना प्रसाद ग्रहण किया. हालांकि, कोरोना संकमण से बचाव को लेकर लोग जागरूक भी दिखें. जिप सदस्य सुनिता तोपनो ने प्रखंड वासियो को छठ महापर्व की हार्दिक शुभकामनाएं दी है.

email
TwitterFacebookemailemail

कोडरमा एसडीओ ने छठ घाटों का किया निरीक्षण

कोडरमा एसडीओ मनीष कुमार ने गुरुवार को विभिन्न छठ घाटों का औचक निरीक्षण किया. इस दौरान संबंधित क्षेत्र के पदाधिकारियों को कई आवश्यक निर्देश भी दिये. शहरी क्षेत्र कोडरमा, डोमचांच एवं झुमरीतिलैया के नगर प्रशासक और प्रखंडों के बीडीओ-सीओ को छठ घाटों की साफ- सफाई, सुरक्षा समेत अन्य जरूरी व्यवस्था करने का निर्देश दिया. एसडीओ ने पदाधिकारियों को कहा कि साफ- सफाई इस तरह हो, ताकि किसी भी घाट में फिसलन न रहे. साथ ही गहरे छठ घाटों में बेरिकेटिंग करने समेत अन्य निर्देश दिये. एसडीओ ने लोगों से कोरोना काल को देखते हुए छठ घाटों में 2 गज की सामाजिक दूरी, मास्क का इस्तेमाल करने तथा राज्य सरकार के अन्य निर्देशों का कड़ाई से पालन करने की अपील की. मौके पर नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी जितेंद्र कुमार जैसल, अविनाश कुमार, सिटी मैनेजर राजकुमार वर्मा आदि मौजूद थे.

email
TwitterFacebookemailemail

हजारीबाग डीसी ने किया छठ घाट का निरीक्षण

महापर्व छठ को लेकर हेमंत सरकार के नयी गाइडलाइन के बाद अब अधिकारी भी छठ घाट की ओर रुख करने लगे हैं. हजारीबाग डीसी आदित्य कुमार आनंद ने गुरुवार को हजारीबाग झील छठ घाट का निरीक्षण करते हुए अधिकारियों को कई दिशा-निर्देश दिये. उन्होंने लोगों से कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव करते हुए महापर्व छठ मनाने की अपील की है.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ गीतों को किया गया ऑनलाइन लांच

चंदन लोकप्रिय गायिका रेखा तिवारी की पुत्री है. चंदन ने बताया कि छठ महापर्व के मौके पर पुरबिया तान के तहत लोकराग गीतमाला-03 के तहत आठ छठ गीतों को ऑनलाइन लांच किया है. इसमें छठ पर्व की महत्ता बताते हुए 'छठ के गीत : शास्त्र भी वही, मंत्र भी वही' का आलेख भी चंदन तिवारी ने लिखा है. इसके पहले जन्माष्टमी के मौके पर लोकराग गीतमाला-01 के तहत 'सोहर' व दशहरा के मौके पर लोकराग गीतमाला-02 के तहत 'देवी पचरा' का लिरिक्स लांच किया जा चुका है. उन्होंने बताया कि लिरिक्स उपलब्ध होने पर कोई भी गीत को गा सकता है. खासकर नयी पीढ़ी इससे अपनी सभ्यता व संस्कृति से अवगत होगी.

email
TwitterFacebookemailemail

चंदन तिवारी के छठ गीत मचा रहे धूम

बोकारो में रूनझुन-रूनझुन छठी मइया आवेली रूनझुन आवे मइया के कहार...कुंवर सिंह कॉलोनी चास निवासी चंदन तिवारी का नया छठ गीत छठ व्रतियों के बीच काफी लोकप्रिय हो गया है. गीत को शाहाबादी म्यूजिक पर रिलीज किया गया है. गीत में चंदन तिवारी का साथ अमरेश शाहाबादी ने दिया है. संगीत भी अमरेश शाहाबादी ने दिया है, जबकि गीत विजया एस कुमार ने लिखा है. वीडियो डायरेक्टर सत्या एस पांडेय हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

50 से लेकर 80 रुपये तक बिका मिट्टी का चूल्हा

खरना को लेकर शहर का बाजार कच्चे चूल्हे से पटा हुआ नजर आया. दुंदीबाद बाजार में मिट्टी के चूल्हों की खरीदारी को लेकर लोग उमड़ पड़े. मिट्टी के चूल्हे 50-80 रुपये में बिके. छठ का प्रसाद कच्चे मिट्टी के चूल्हे पर ही बनता है. विक्रेताओं ने बताया कि आज के आधुनिक दौर में भी इन चूल्हों की मांग है. श्रद्धालु इन्हें बहुत ही आस्था के साथ खरीदते हैं. इसलिए महीनों पहले ही इनको बनाने का कार्य शुरू हो जाता है, ताकि छठ पर इनकी मांग पूरी हो.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ पूजा में बरतें सावधानी

छठ पूजा के दौरान सभी श्रद्धालुओं को एक-दूसरे के बीच दो गज (छः फीट) की दूरी रखनी होगी. छठ घाटों पर मास्क पहनना अनिवार्य है. पानी के अन्दर किसी भी परिस्थिति में थूकना सख्त मना है. पूजा स्थल व घाट पर किसी तरह का न स्टॉल लगाया जायेगा व न ही पटाखा फोड़ने की इजाजत है. छठ घाटों पर म्यूजिकल व सांस्कृतिक कार्यक्रम की भी अनुमति नहीं है.

email
TwitterFacebookemailemail

सिंह मेंशन में बने घाट में छठ

सिंह मेंशन में स्थित तालाब पर घाट को तैयार कर लिया गया है. लाइट लगायी गयी है. इस घाट पर परिवार के साथ ही आसपास के रहने वाले लोग भी छठ करने आते हैं. गाइडलाइन का पालन हो, इसे देखते हुए घाट तैयार किया गया है.

email
TwitterFacebookemailemail

17 सालों से कर रहीं छठ

रागिनी सिंह ने बताया कि वह 17 वर्षों से छठ कर रही हैं. हर साल उत्साह के साथ छठ मैया की आराधना करती हैं और भगवान भास्कर को अर्घ देती हैं. किरण सिंह 10 वर्षों से और मिन्नी सिद्धार्थ गौतम पांच सालों से छठ व्रत कर रही हैं. रागिनी सिंह ने बताया कि छठ को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गयी है. छठ आते ही उत्साह बढ़ जाता है. परिवार पर हमेशा मैया की कृपा बनी रहे. उन्होंने झरिया के साथ ही कोयलांचल वासियों को छठ की शुभकामनाएं दी.

email
TwitterFacebookemailemail

डाला सूप की खरीदारी जोरों पर

छठ लेकर बाजारों में सूप डाला की मांग बढ़ गयी है. इसकी मांग को देखते हुए दुकानदार ऊंची कीमत पर इसे बेच रहे हैं. हीरापुर में में बड़ा डाला (दउरा) 200 रुपए प्रति डाला, छोटा डाला 120 से 150 रुपए और सूप 40 से 60 रुपए प्रति पीस बिक रहा है.

email
TwitterFacebookemailemail

आटा चक्की पर पहुंच रहे लोग

खरना के प्रसाद और ठेकुआ बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाले आटे के लिए आटा चक्कियों पर लोग पहुंच रहे हैं. प्रसाद के आटा के लिए बुधवार को ही व्रतियों ने गेहूं धो कर सूखा लिया था.

email
TwitterFacebookemailemail

रागिनी, किरण व मिन्नी साथ कर रहीं छठ

धनबाद में पूर्व विधायक संजीव सिंह की पत्नी रागिनी सिंह छठ कर रही हैं. बुधवार को नहाय-खाय करने के बाद खरना की तैयारी में जुटी हैं. रागिनी के साथ ही ननद किरण सिंह व देवरानी मिन्नी सिद्धार्थ गौतम भी छठ व्रत कर रही है. पर्व को लेकर परिवार में उत्साह का माहौल है.

email
TwitterFacebookemailemail

खरीदारी को लेकर भीड़

छठ की अंतिम खरीदारी को लेकर लोग बाजार पहुंच रहे हैं. फलों की खरीदारी की जा रही है. सुबह से ही लोग बाजार में खरीदारी करने में लगे हैं. इसके बाद खरना की तैयारी में लोग जुटेंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

दूध की डिमांड

सुधा डेयरी के क्षेत्रीय प्रबंधक श्रीरंग सिंह ने कहा कि सुधा डेयरी का रोजाना 35 हजार लीटर दूध धनबाद में खपत होती है. महापर्व छठ में डिमांड तीन गुणा बढ़ जाता है. 90 हजार लीटर दूध की डिमांड है. बुधवार को बुकिंग के अनुसार शाम में कुछ दूध सप्लाई की गयी. गुरुवार को सुबह भी सप्लाई की जायेगी.

email
TwitterFacebookemailemail

चार लाख लीटर दूध से बनेगा खरना का महाप्रसाद

धनबाद में नहाय खाय के साथ चार दिवसीय महापर्व छठ शुरू हो गया. गुरुवार को लोहंडा है. लोहंडा में छठ का महाप्रसाद बनता है. दूध की खपत अधिक होती है. लिहाजा पशुपालकों के अलावा डेयरी कंपनियों ने भी पूरी तैयारी कर ली है. डेयरी कंपनियों ने हर दिन की डिमांड से तीन गुना अधिक दूध मंगाया है. अनुमानित साढ़े तीन से चार लाख लीटर दूध की खपत होगी.

email
TwitterFacebookemailemail

सज गये छठ बाजार

छठ को लेकर बाजार सज गये हैं. नारियल से लेकर हर फल की संभावित बिक्री को लेकर चौक चौराहे तक दुकानें सज गयी हैं. शहर में फलों की दुकानों की संख्या पिछले चार दिनों मे दस गुना तक अधिक हो गयी है. पुराना बाजार व हीरापुर में छठ की खरीददारी को लेकर काफी अधिक भीड़ रही. इन दोनों बाजारों में कहीं ठेला, तो कहीं सड़क किनारे फलों की बिक्री हो रही है. नारियल, सेब, संतरा, ईख के अलावा पानीफल, डाब नींबू की दुकान सज गयी है. इनके साथ ही सूप और डाला की खरीदारी का काम अंतिम दौर में है.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ की खरीदारी

व्रती और उनके परिवार के सदस्यों ने खरना के जरूरी सामान की खरीदारी की. लोगों ने अरवा चावल और गुड़ की खरीददारी की. इधर त्योहार को लेकर बरवाअड्डा स्थित कृषि बाजार समिति से लेकर हर छोटा बड़ा बाजार फलों की मंडी में तब्दील हो गया है.

email
TwitterFacebookemailemail

छठमय माहौल

पारंपरिक गीत के साथ ही घर की महिलाओं ने गेहूं साफ कीं, वहीं पुरुष सूप दउरा, फल लाते दिखे. परिवार के सदस्यों के साथ ही आस पास वाले भी छठी मइया का काम हाथों हाथ ले रहे हैं. पूरा वातावरण छठ मय हो गया है. आज गुरुवार को खरना है.

email
TwitterFacebookemailemail

छठी मईया से मांगा आशीष

छठ व्रतियों ने अपनी भक्ति उनके चरणों में समर्पित कर घर परिवार, बच्चे सबकी सलामती के लिए आशीष मांगा. नेम से मिट्टी के चूल्हे पर आम की लकड़ी जलायी गयी. आंच जलाने से पहले मां से आज्ञा मांगी गयी. कहीं कहीं गैस पर भी महाप्रसाद बनाया गया. मिट्टी के चूल्हे पर अरवा चावल, चना दाल, कद्दू की सब्जी बनाकर भोग लगाया गया. भूल चूक की माफी मांगी कर व्रतियों ने प्रसाद ग्रहण किया. उसके बाद ही परिवार सगे संबंधी को महाप्रसाद खिलाया गया.

email
TwitterFacebookemailemail

छठी मइया की उपासना

नहाय खाय के साथ व्रतियों ने बुधवार को भास्कर देव की आराधना कर चार दिवसीय व्रत को निर्वघ्न पार करने की विनती की. व्रतियों ने सुबह नेम निष्ठा से स्नान ध्यान कर छठी मइया की उपासना की.

email
TwitterFacebookemailemail

सूर्योपासना के महापर्व में छठमय हुआ कोयलांचल

नहाय खाय के साथ धनबाद में भी बुधवार से सूर्योपासना का चार दिवसीय महापर्व छठ प्रारंभ हो चुका है. भक्तों के मन में भक्ति की तरंगें हिलोरें ले रही हैं. कहीं छठ घाट सजाये जा रहे हैं, तो कहीं घर पर भी आस्था का घाट सज रहा है. बच्चों से लेकर बुजुर्ग सभी भक्ति में रम गये हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

36 घंटे का निर्जला व्रत

खरना अनुष्ठान संपन्न होने के बाद उनका 36 घंटे का निर्जला व्रत शुरू हो जायेगा. शुक्रवार को अस्ताचलगामी और शनिवार को उदयाचलगामी भास्कर को अर्घ दिया जायेगा. इसी के साथ छठ महापर्व का समापन हो जायेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

महापर्व के दूसरे दिन खरना

महापर्व के दूसरे दिन यानी आज खरना का अनुष्ठान होगा. गुरुवार को व्रती दिनभर उपवास रखेंगी. सूर्यास्त के बाद भगवान की पूजा-अर्चना करेंगी. खीर, रोटी, केला आदि नेवेद स्वरूप अर्पित किया जायेगा. सबकी मंगलकामना की प्रार्थना के साथ व्रती प्रसाद ग्रहण करेंगी.

email
TwitterFacebookemailemail

नहाय खाय संपन्न, खरना आज

नहाय खाय के दिन कोरोना के कारण अधिकतर व्रतियों ने घरों में ही स्नान किया. व्रतियों ने स्नान ध्यान के बाद कद्दू, भात और दाल आदि तैयार कर भगवान को अर्पित किया. इसके बाद सबकी मंगल कामना के लिए प्रार्थना की और कद्दू-भात ग्रहण किया. प्रसाद स्वरूप बांटा गया. इसी के साथ पहले दिन का अनुष्ठान संपन्न हुआ.

email
TwitterFacebookemailemail

नहाय-खाय के साथ चार दिवसीय छठ पर्व शुरू, खरना आज

पहिले पहिल हम कईनी, छठी मईया व्रत तोहार, करिहा क्षमा छठी मईया, भूल-चूक गलती हमार...,जैसे गीतों के बीच बुधवार से लोक आस्था का चार दिवसीय छठ महापर्व शुरू हो गया. महापर्व के पहले दिन नहाय-खाय अनुष्ठान हुआ. आज गुरुवार को खरना है.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ को लेकर निर्देशों का करें पालन, जान जोखिम में नहीं डालें

देवघर : अनुमंडल पदाधिकारी-सह-अनुमंडल दण्डाधिकारी दिनेश कुमार यादव ने मीडिया के जरिये जानकारी दी है कि राज्य सरकार की ओर से वर्तमान में छठ पर्व को लेकर प्राप्त दिशा-निर्देश के अनुसार ढील दी गयी है. इस स्थिति में छठ पर्व व वर्तमान में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सभी छठ घाटों पर श्रद्धालुओं की अोर से सोशल डिस्टेंसिंग के तहत आपस में दो गज की दूरी बनाये रखने के साथ मास्क व सेनिटाईजर (हांथों की सफाई) का प्रयोग अनिवार्य रूप से लागू रहेगा. इसके अलावा अनुमंडल पदाधिकारी ने छठ पूजा के अवसर पर संपूर्ण देवघर अनुमण्डल क्षेत्र में विधि व्यवस्था व शांति बनाये रखने के साथ आमजनों के स्वास्थ्य सुरक्षा को देखते हुए कई आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

10 हजार मास्क व 50 लीटर सैनिटाइजर देंगे विधायक सुखराम

महापर्व छठ को लेकर चक्रधरपुर विधायक सुखराम उरांव ने नगर पर्षद को 10 हजार मास्क और 50 लीटर सैनिटाइजर देंगे. इस संबंध में विधायक श्री उरांव ने कहा कि आस्था का महापर्व छठ मनाने के दौरान सामाजिक दूरी समेत अन्य दिशा- निर्देशों का पालन हर कोई करें. कोरोना का खतरा अभी खत्म नहीं हुआ है. ऐसे में अब तक आपने जो सावधानी बरती है और सरकार को जो सहयोग किया है, वैसा ही छठ महापर्व के दौरान करें, ताकि हम कोरोना से जंग जीत सकें.

email
TwitterFacebookemailemail
Jharkhand news : महापर्व छठ को लेकर विभिन्न छठ घाटों का निरीक्षण करते झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता.
Jharkhand news : महापर्व छठ को लेकर विभिन्न छठ घाटों का निरीक्षण करते झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता.
ट्विटर.

हेल्थ मिनिस्टर ने जमशेदपुर के विभिन्न छठ घाटों का किया निरीक्षण

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने जमशेदपुर के विभिन्न छठ घाटों का निरीक्षण कर तैयारियों की समीक्षा की. इस दौरान घाटों की साफ- सफाई, समुचित विद्युत की व्यवस्था समेत अन्य विषयों पर जानकारी संबंधित अधिकारियों से प्राप्त किया. वहीं, छठ श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की परेशानी न हो इसका स्पष्ट निर्देश भी दिया. मंत्री ने महापर्व छठ पर सभी छठ व्रतियों का स्वागत किया है.

email
TwitterFacebookemailemail

महापर्व छठ की भक्ति में डूबा धनबाद

बुधवार से सूर्योपासना का 4 दिवसीय महापर्व छठ शुरू हो गया है. कहीं छठ घाट सजाये जा रहे हैं, तो कहीं घर पर भी आस्था का घाट सज रहा है. बच्चों से लेकर बुजुर्ग सभी भक्ति में रम गये हैं. बुधवार को नहाय खाय के साथ परवैतिनों ने भाष्कर देव की अराधना कर 4 दिवसीय व्रत को निर्विध्न पार करने की विनती की. व्रतियों ने सुबह नेम निष्ठा से स्नान ध्यान कर छठी मइया की उपासना की. अपनी भक्ति उनके चरणों में समर्पित कर घर परिवार, बच्चे सबकी सलामती के लिए आशीष मांगा. नेम से मिट्टी के चूल्हे पर आम की लकड़ी जलायी गयी. आंच जलाने से पहले मां से आज्ञा मांगी गयी. कहीं- कहीं गैस पर भी महाप्रसाद बनाया गया. मिट्टी के चूल्हे पर अरवा चावल, चना दाल, कद्दू की सब्जी बनाकर भोग लगाया गया. भूल चूक की माफी मांग कर व्रतियों ने प्रसाद ग्रहण किया. उसके बाद ही परिवार समेत सगे- संबंधी को महाप्रसाद खिलाया गया. पारंपरिक गीत के साथ ही घर की महिलाओं ने गेंहू साफ की, वहीं पुरुष सूप, दऊरा, फल लाते दिखे. परिवार के सदस्यों के साथ ही आसपास वाले भी छठी मइया का काम हाथों हाथ ले रहे हैं. पूरा वातावरण छठ मय हो गया है. गुरुवार को खरना होगा.

email
TwitterFacebookemailemail

सरायेकला में नहाय खाय के साथ लोक आस्था का महापर्व छठ शुरू

सरायकेला-खरसावां जिला में लोक आस्था का महापर्व छठ बुधवार को नहाय खाय के साथ शुरू हो गया है. झारखंड सरकार द्वारा छठ पर्व को लेकर गाइडलाइन में आंशिक बदलाव के बाद छठ व्रतियों में उत्साह देखा जा रहा है. सरायकेला, खरसावां, चांडिल, गम्हरिया, आदित्यपुर एवं राजखरसावां आदि इलाकों के छठ घाटों की साफ- सफाई की गयी. बुधवार को छठ व्रतियों ने नदी-तालाबों में स्नान कर कद्दू-भात बनाकर ग्रहण किया. छठ व्रतियों ने स्नान आदि के बाद सात्विक भोजन के रूप में चना का दाल, मिश्रित कद्दू (लौकी), भात आदि का सेवन किया. गुरुवार को खरना का व्रत है. शुक्रवार को अस्ताचलगामी सूर्य (डूबते सूर्य) को अर्घ दिया जायेगा, जबकि शनिवार को उगते सूर्य को अर्घ देने के बाद छठ व्रती पारण करेंगे. सूर्य उपासना के इस पर्व को प्रकृति प्रेम और प्रकृति पूजा का सबसे उदाहरण भी माना जाता है. छठ गीतों से माहौल भक्तिमय हो गया है. 4 दिनों तक चलने वाले इस महापर्व का उदयचलगामी सूर्य को अर्घ के साथ 21 नवंबर, 2020 को समापन होगा. बुधवार को जनप्रतिनिधियों ने भी छठ घाटों का जायजा लिया.

email
TwitterFacebookemailemail

रांची में 151 छठव्रतियों के बीच पूजन सामग्री का वितरण

रांची जिला दुर्गा पूजा समिति की ओर से 151 छठव्रतियों के बीच संपूर्ण छठ पूजन सामग्री का वितरण किया है. इस वितरण कार्यक्रम में सांसद संजय सेठ एवं विधायक सीपी सिंह उपस्थित थे. वहीं, इस आयोजन की अगुवाई पूजा समिति के संयोजक मुनचुन राय ने किया. समिति के सदस्यों ने राजधानी रांची के चुटिया क्षेत्र स्थित हटिया तालाब, भट्टी टोली, नायक टोली, कृष्णापुरी, रेलवे कॉलोनी आदि क्षेत्रों के छठव्रती महिलाओं के बीच छठ पूजन सामग्री सूप, नारियल, डाभ, सेब, अगरबत्ती, आलता, गन्ना, दूध समेत 21 रुपये दिये गये. इस अवसर पर सांसद श्री सेठ और विधायक श्री सिंह ने राज्य के सभी छठ व्रतियों को छठ की बधाई देते हुए कोरोना संक्रमण से बचाव के साथ पूजा मनाने का आग्रह किया.

email
TwitterFacebookemailemail

नहाए खाए के साथ बड़कागांव में छठ पर्व शुरू

हजारीबाग जिला अंतर्गत बड़कागांव प्रखंड तथा आसपास के क्षेत्रों में आज से छठ व्रत का विधान शुरू हो गया है. 4 दिन तक चलने वाले महापर्व छठ पर्व के पहले दिन नहाय खाय के साथ छठव्रतियों ने महापर्व की शुरुअात की. पहले दिन प्रसाद के रूप में छठ व्रती कद्दू भात ग्रहण किया. छठव्रती पूनम देवी, मदन रजक, सुरेंद्र सोनी, प्रदीप सोनी का संयुक्त रूप से कहना है कि छठ पर्व शुद्धता का प्रतीक है. हर काम गंगा के पानी से शुरू करना शुभ होता है. यही कारण है कि छठ के पहले दिन व्रतियों ने गंगा यानी नदियों एवं तालाबों के पानी में गेंहू और चावल धोए. बड़कागांव के विभिन्न छठ घाट जैसे- सूर्य मंदिर छठ घाट, पीपल नदी छठ घाट, झरिवा नदी, छठ घाट, चेपा कला के छठ घाट, महुगाई कला के छठ घाट, बादम छठ घाट, छठ घाट गोंदलपूरा, छठ घाट, सोनपुरा छठ, छठ घाट सिंदवारी आदि छठ घाटों में सूर्य को अर्घ दिया जाता है. महापर्व छठ क लिए हरहरा नदी तक उतरने के लिए सीढ़ी का निर्माण किया गया. वहीं, मंदिर के आसपास क्षेत्रों में साफ- सफाई की गयी. इस पावन कार्य में मुख्य रूप से समाज के अध्यक्ष शशि कुमार मेहता, सचिव रविंदर कुमार महतो, सरोज कुमार, गुड्डू कुमार, बराई महतो, मनोरंजन कुमार महतो आदि की मुख्य भूमिका रही.

email
TwitterFacebookemailemail
Jharkhand news : महापर्व छठ पूजा का प्रसाद कद्दू-भात ग्रहण करती पूर्व शिक्षा मंत्री सह वर्तमान विधायक डॉ नीरा यादव.
Jharkhand news : महापर्व छठ पूजा का प्रसाद कद्दू-भात ग्रहण करती पूर्व शिक्षा मंत्री सह वर्तमान विधायक डॉ नीरा यादव.
प्रभात खबर.

पूर्व मंत्री डॉ नीरा यादव भी कर रही छठ पूजा

झारखंड की पूर्व शिक्षा मंत्री और वर्तमान विधायक डॉ नीरा यादव भी छठ कर रही है. नहाय खाय के साथ डॉ यादव ने महापर्व की आराधना शुरू की है. डॉ यादव समेत अन्य छठव्रतियों ने कद्दू-भात का प्रसाद ग्रहण किया.

email
TwitterFacebookemailemail

लातेहार में छठ महापर्व की धूम, शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में खासा उत्साह

लातेहार जिला में भी नहाय खाय के साथ 4 दिवसीय महापर्व छठ की शुरुआत हो गयी है. गुरुवार को खरना के साथ छठव्रतियों का निर्जला उपवास शुरू हो जायेगा. छह को लेकर शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में खासा उत्साह देखा जा रहा है. शहर के हर गली एवं चौक-चौराहों पर छठ मइया के गीत बज रहे हैं. शहर के धर्मपुर मोड़ स्थित सब्जी मार्केट में सब्जी विक्रेता संघ के द्वारा छठ व्रतियों के बीच नि:शुल्क कद्दू का वितरण किया गया.

email
TwitterFacebookemailemail

छठव्रतियों व श्रद्धालुओं से कोडरमा एसडीओ की अपील

कोडरमा के अनुमंडल पदाधिकारी मनीष कुमार ने कोविड-19 की रोकथाम के मद्देनजर राज्य सरकार के नये गाइडलाइन का अनुपालन करने की अपील छठव्रतियों एवं श्रद्धालुओं से की है. उन्होंने कहा कि कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सभी छठ घाटों पर श्रद्धालुओं द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग के तहत आपस में 2 गज की दूरी बनाये रखने के साथ मास्क एवं सेनेटाइजर का प्रयोग अनिवार्य रूप से लागू रहेगा. इस दौरान श्री कुमार ने छठव्रतियों एवं श्रद्धालुओं को छठ महापर्व की शुभकामनाएं दी. उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के मद्देनजर सतर्कता बरतते हुए सरकार के द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करें.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ घाट के निरीक्षण करने पहुंचे सिसई बीडीओ

गुमला के सिसई प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रवीण कुमार द्वारा प्रखंड के विभिन्न छठ घाटों का निरीक्षण किया. इस दौरान सामाजिक कार्यकर्ताओं एवं समितियों के लोगों को जरूरी दिशा-निर्देश दिया गया. कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर झारखंड सरकार द्वारा पूर्व में नदियों और तालाबों के घाटों में छठ पूजा पर रोक के आदेश पर बदलाव करते हुए सरकार द्वारा नयी गाइडलाइंस के तहत सोशल डिस्टैंसिंग, मास्क का प्रयोग, सैनेटाइजर आदि के साथ छठ घाटों में पूजा की अनुमति दी गयी है. इसी के तहत बीडीओ ने क्षेत्र के विभिन्न छठ घाटों की साफ-सफाई, विधि-व्यवस्था, सुरक्षा, प्रकाश-व्यवस्था, घाटों का पहुंच पथ आदि सुविधाओं का संबंधित समितियों से जानकारी प्राप्त की. वहीं, उन्होंने सभी समितियों को महामारी से बचाव और अनावश्यक भीड़- भाड़ न लगने देने, स्टाॅल एवं खेल- खिलौनों तथा अन्य दुकान नहीं लगाने का निर्देश दिया. साथ ही उन्होंने छठ व्रत करने वाले परिवारों से भी अगर हो सके तो अपने-अपने घरों पर ही छठ पूजा करने की अपील की गयी. इस मौके पर कनीय अभियंता अनिल कुमार, सिसई थाना के पुलिस बल एवं अधिकारी भी मौजूद थे.

email
TwitterFacebookemailemail

सोशल डिस्टैंसिंग के साथ छठ पूजा

बुंडू स्थित सूर्य मंदिर के निकट विशाल तालाब में छठ पूजा की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं. इस तालाब में छठ पूजा करने का काफी महत्व है. तालाब के निकट ही संस्कृति विहार द्वारा निर्मित भव्य सूर्य मंदिर है, जहां छठ व्रती माथा टेकते हैं. संस्कृति विहार के कार्यक्रम संयोजक के अनुसार सूर्य मंदिर में सूर्य देवता की दर्शन के लिए भारी भीड़ उमड़ती है, लेकिन कोरोना महामारी के कारण इस बार सोशल डिस्टैंसिंग का पालन किया जाएगा. अर्घ देने के वक्त भी सोशल डिस्टैंसिंग पालन किया जाएगा.

email
TwitterFacebookemailemail

महापर्व छठ का उत्साह 

लोक आस्था का महापर्व छठ को लेकर सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन में संशोधित किये जाने से स्थानीय छठ पूजा समिति समेत विभिन्न संगठन के लोगों ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को बधाई दी है. टेडकी पुल स्थित मुख्य छठ घाट समिति के अध्यक्ष अजित कुमार सोनी ने बताया कि महापर्व को देखते हुवे विगत कई दिनों से तैयारी की जा रही थी लेकिन सरकार की ओर से छठ पूजा पर पाबंदी के बाद असमंजस का स्थिति बनी थी. मुख्यमंत्री के द्वारा गाइडलाइंस संशोधित किए जाने के बाद स्थानीय श्रद्धालुओं में खुशी की लहर है.

email
TwitterFacebookemailemail

नहाय खाय के बाद खरना

नहाय-खाय के दिन भोजन करने के बाद व्रती अगले दिन शाम को खरना पूजा करती हैं. इस पूजा में महिलाएं शाम के समय लकड़ी के चूल्हे पर गुड़ की खीर बनाकर उसे प्रसाद के तौर पर खाती हैं और इसी के साथ व्रती महिलाओं का 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू हो जाता है.

email
TwitterFacebookemailemail

संशोधित गाइडलाइंस का स्वागत 

श्री महावीर मंडल डोरंडा केंद्रीय समिति के अध्यक्ष संजय पोद्दार एवं मंत्री पप्पू वर्मा ने कहा कि छठ महापर्व को लेकर जारी गाइडलाइंस में सरकार द्वारा जो संशोधन किया गया है, वह स्वागत योग्य है. लोक आस्था को ध्यान में रखते हुए सरकार का यह फैसला सराहनीय है. श्री महावीर मंडल डोरंडा केंद्रीय समिति लोगों से अपील करती है की छठ घाट पर एहतियात जरूर बरतें. जो भी श्रद्धालु घाट पर जाएं, मास्क अवश्य पहनें. सोशल डिस्टैंसिंग का पालन अवश्य करें और प्रयास करें छोटे बच्चे कम से कम घाट पर जाएं तथा 60 साल से ऊपर के बुजुर्ग घाट पर ना जाएं.

email
TwitterFacebookemailemail

नहाय-खाय का महत्व

छठ पूजा में भगवान सूर्य की पूजा का विशेष महत्व है. चार दिनों के महापर्व छठ की शुरुआत नहाय-खाय से होती है. इस दिन व्रती स्नान करके नए कपड़े धारण करती हैं और पूजा के बाद चना दाल, कद्दू की सब्जी और चावल को प्रसाद के तौर पर ग्रहण करती हैं.

स्नान करतीं व्रती
स्नान करतीं व्रती
प्रभात खबर
email
TwitterFacebookemailemail

महापर्व छठ की शुरूआत

महापर्व छठ की शुरूआत आज नहाय-खाय के साथ हो गयी है. कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से ये महापर्व शुरू हो जाता है. छठ का पर्व दिवाली के 6 दिन बाद मनाया जाता है. यह पर्व खासतौर पर बिहार, पूर्वी उत्तर प्रेदश और झारखंड में बहुत धूमधाम से मनाया जाता है. ये व्रत संतान प्राप्ति और संतान की मंगलकामना के लिए किया जाता है.

email
TwitterFacebookemailemail

सोशल डिस्टैंसिंग का जरूर करें पालन

सीएम हेमंत सोरेन ने राज्य के लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर अगर हो सके, तो अधिक से अधिक लोग अपने घरों में ही छठ पूजा करें. वहीं, नदी व तालाबों की घाटों पर कम संख्या में श्रद्धालु जायें. यहां भी मास्क और सोशल डिस्टैंसिंग का अनुपालन जरूर करें.

email
TwitterFacebookemailemail

अभी भी है संक्रमण

झारखंड के सीएम ने कहा कि दुर्गापूजा और दीपावली में भी लोगों ने अपनी जिम्मेवारी समझी. इस महापर्व छठ में भी लोग जिम्मेवारी समझते हुए मास्क, सोशल डिस्टैंसिंग और सैनिटाइजिंग की महता को जरूर समझें क्योंकि अभी संक्रमण गया नहीं है. वातावरण में अभी भी संक्रमण है.

email
TwitterFacebookemailemail

सुरक्षा पहली प्राथमिकता

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता राज्य की जनता की सुरक्षा और उनकी जानमाल की रक्षा है. इस त्योहार के माध्यम से अपने परिवार के सदस्यों के लंबी उम्र की कामना की जाती है. कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम में सरकार के साथ-साथ लोगों का भी सहयोग मिल रहा है.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ गाइडलाइंस पर हो रहा था विरोध

आपको बता दें कि पिछले दिनों हेमंत सरकार की ओर से छठ महापर्व को लेकर गाइडलाइन जारी की गयी थी, जिसमें नदी और तालाब की जगह अपने घरों में छठ करने की अपील की गयी थी. हालांकि, इस अपील की चहुंओर विरोध होने लगा था. विपक्ष के साथ-साथ सत्ता पक्ष के लोगों ने भी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से इस पर पुनर्विचार करने की मांग की गयी थी. विपक्ष ने तो तालाबों में उतर कर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था.

email
TwitterFacebookemailemail

जनभावना को देखते हुए अनुमति

राजधानी रांची के प्रोजेक्ट भवन में मंगलवार शाम को पत्रकारों से बात करते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि जनभावना को देखते हुए राज्य सरकार ने तालाबों और नदियों में छठ मनाने की अनुमति प्रदान कर दी है. कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को देखते हुए केंद्र सरकार के आदेश के अनुरूप ही गाइडलाइन जारी की गयी थी, लेकिन विपक्ष इसे राजनीतिक रंग दे रहा था, जो सही नहीं है.

नहाय खाय का रस्म निभातीं व्रती
नहाय खाय का रस्म निभातीं व्रती
प्रभात खबर
email
TwitterFacebookemailemail

नयी गाइडलाइंस में मिली छूट

आपको बता दें कि पिछले दिनों छठ पूजा को लेकर झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार की गाइडलाइन जारी हुई थी, जिसमें छठव्रतियों को घरों में ही छठ मनाने की बात कही गयी थी, जिसका चौतरफा विरोध होने लगा था. आखिरकार छूट के साथ घाट पर पूजा की इजाजत दी गयी.

email
TwitterFacebookemailemail

सुरक्षित होकर मनाएं छठ

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सभी श्रद्धालुओं से मास्क लगाने के साथ-साथ सोशल डिस्टैंसिंग, सैनिटाइजिंग, दो गज की दूरी बनाकर त्योहार मनाने की अपील की है. इसके साथ ही छठ घाट पर कम से कम श्रद्धालु जायें, ताकि कोरोना वायरस संक्रमण का प्रसार न हो सके.

email
TwitterFacebookemailemail

अब छठ घाट पर दे सकते हैं अर्घ

झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने नदी और तालाब के घाटों पर कुछ शर्तों के साथ छठ मनाने की अनुमति मंगलवार को दी है. इसके साथ ही अब छठव्रती नदी और तालाबों में भी अर्घ दे सकेंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ घाटों का जायजा

मेयर आशा लकड़ा व डिप्टी मेयर संजीव विजयवर्गीय ने मंगलवार को जगन्नाथपुर तालाब, धुर्वा डैम समेत धुर्वा व डोरंडा क्षेत्र के छठ घाटों का निरीक्षण किया. मेयर ने कहा कि घाटों की सफाई व्यवस्था दुरुस्त है. डिप्टी मेयर ने कहा कि छठ शुद्धता, सादगी व पवित्रता का पर्व है.

email
TwitterFacebookemailemail

लापरवाही पर होगी कार्रवाई

छठ घाटों की सफाई में लापरवाही बरतने पर संबंधित वार्ड के सुपरवाइजर पर कार्रवाई की जायेगी. मेयर ने कहा कि छठ के दौरान काफी संख्या में लोग अस्थायी जलकुंडों में अर्घ देते हैं. इसके लिए निगम टैंकर से पानी उपलब्ध करायेगा. अगर किसी जरूरतमंद को पानी की जरूरत है, तो वे निगम के फोन नंबर 9431104429 पर अपनी बात रख सकते हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

युद्ध स्तर पर करें घाटों की सफाई

रांची में छठ के दौरान शहर के विभिन्न छठ घाटों व गली-मोहल्ले की सफाई व्यवस्था दुरुस्त रखने को लेकर मंगलवार को मेयर आशा लकड़ा ने अधिकारियों संग बैठक की. मेयर ने कहा कि छठ को लेकर शहर के सभी तालाब व घाटों की सफाई युद्ध स्तर पर करें. छठ से पहले शहर के सभी घाटों को पूरी तरह से दुरुस्त करें.

email
TwitterFacebookemailemail

सड़कों व गलियों में भी कूड़े का अंबार

छठ के दौरान सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाता है. वहीं, दूसरी ओर अब तक शहर की सफाई व्यवस्था पटरी पर नहीं लौटी है. शहर की गलियों व सड़कों पर अब भी जगह-जगह कूड़े का अंबार लगा हुआ है.

email
TwitterFacebookemailemail

निगम का दावा खोखला निकला

छठ से पहले शहर के सभी छठ घाटों को श्रद्धालुओं के लिए तैयार करने का दावा निगम द्वारा किया जा रहा था. इसके लिए मेयर, डिप्टी मेयर से लेकर नगर आयुक्त तक छठ घाटों का जायजा लेने के लिए निकले थे, लेकिन अब तक छठ घाटों की सफाई नहीं हो पायी.

email
TwitterFacebookemailemail

पसरी हुई है गंदगी

राजधानी रांची में तालाब के किनारे जगह-जगह पूजन सामग्री व गंदगी का ढेर लगा है. बड़ा तालाब, जेल तालाब व लाइन टैंक तालाब में तो अब तक दुर्गा पूजा के दौरान विसर्जित की गयी मूर्तियों के अवशेष पड़े हुए हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

सिर्फ नाम का सफाई अभियान

मंगलवार को रांची नगर निगम के कर्मचारियों ने शहर के छठ घाटों में सफाई अभियान तो चलाया, लेकिन यह सफाई अभियान कम दिखावा अधिक था. मजदूरों की संख्या कम होने के कारण दीपावली के बाद तालाबों में विसर्जित की गयी मूर्तियों व पूजन सामग्री को नहीं हटाया गया.

email
TwitterFacebookemailemail

घाटों पर पसरी गंदगी

दीपावली के बाद शहर के अधिकतर छठ घाट पूजन सामग्री व मूर्ति के अवशेष से पटे हुए हैं. ऐसे में शुक्रवार को जब श्रद्धालु अर्घ देने के लिए घाट पहुंचेंगे, तो उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ घाट पर कर सकते हैं पूजा

झारखंड सरकार ने छठ घाटों पर अर्घ करने की अनुमति दे दी है. सरकार के इस आदेश से छठ व्रतियों में खुशी की लहर है. दूसरी ओर शहर के अधिकतर तालाबों की अब तक सफाई नहीं हो पायी है. इन तालाबों में गंदगी का अंबार लगा हुआ है.

email
TwitterFacebookemailemail

घाटों पर छठ पूजा की मिली इजाजत

सीएम हेमंत सोरेन के निर्देश के बाद प्राधिकार ने पहले जारी गाइडलाइन में संशोधन करने पर सहमति दी. बैठक में मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ नितिन कुलकर्णी, वित्त विभाग की प्रधान सचिव हिमानी पांडेय, आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव अमिताभ कौशल औऱ कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के सचिव अब अबू बकर सिद्दीकी ने भी अपनी राय रखी.

email
TwitterFacebookemailemail

सुरक्षित होकर मनाएं छठ

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि यह पर्व लोक आस्था के साथ जुड़ा हुआ है. ऐसे में जन भावनाओं का ख्याल रखते हुए सुरक्षित माहौल में नदियों ,तालाबों, डैम आदि में अर्घ्य देने के लिए पहले से जारी किये गये दिशा निर्देशों में आंशिक संशोधन किया जाये. उन्होंने यह भी कहा कि इस आयोजन में कोरोना से बचाव को लेकर जारी अन्य दिशा निर्देशों का पालन भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ पूजा का आयोजन

कोरोना संक्रमण को देखते हुए सतर्कता और सुरक्षित तरीके से छठ महापर्व के आयोजन को लेकर पुख्ता व्यवस्था होनी चाहिए. सीएम ने कहा कि जो लोग छठ पूजा तालाब या नदी में करना चाहते हैं उन्हें जाने दिया जाये, पर लोगों से अपील भी की जाये कि घरों में ही छठ का आयोजन करें.

email
TwitterFacebookemailemail

लोक आस्था का महापर्व

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि छठ महापर्व लोक आस्था से जुड़ा हुआ है. चार दिनों तक चलनेवाले इस महापर्व में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होते हैं. संध्याकालीन अर्घ और प्रातः कालीन अर्घ के लिए के लिए नदियों, तालाबों, डैम, झील और अन्य वाटर बॉडीज में श्रद्धालु जुटते हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ गाइडलाइंस पर विमर्श

छठ घाटों पर पूजा करने की अनुमति को लेकर केवल राजनीतिक दल के लोग ही प्रदर्शन कर रहे हैं. आम लोग अपने-अपने घरों में तैयारी कर रहे हैं. प्राधिकार की बैठक में बिहार समेत अन्य राज्यों द्वारा छठ महापर्व को लेकर जारी एडवाइजरी पर भी विचार विमर्श किया गया.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ पूजा को लेकर बैठक

झारखंड में नदी व तालाबों में छठ पूजा करने की अनुमति देने के पहले मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता की उपस्थिति में मंगलवार को राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक हुई. कोरोना को देखते हुए छठ महापर्व के सुरक्षित आयोजन को लेकर विस्तार से विचार-विमर्श हुआ. कुछ अधिकारियों का कहना था कि छठव्रती अपने-अपने घरों में ही पूजा करना पसंद कर रहे हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ सामग्री की कीमत में उछाल

सामान्य दिनों में दस रुपए बिकने वाले कद्दू की कीमत मंगलवार को 20-30 रुपए रही. पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार सूप-दउरा की कीमतों में भी उछाल है. इनका दाम एक सौ रुपए तक महंगा हो गया है.

email
TwitterFacebookemailemail

छठ बाजार गुलजार

छठ को लेकर बाजार गुलजार हैं. बड़ी संख्या में लोग बाजार में छठ को लेकर खरीदारी कर रहे हैं. छठ के पहले दिन यानी आज नहाय खाय है. इस मौके पर व्रती स्नान के बाद कद्दू भात सेवन करती हैं. इस कारण मंगलवार को बाजार में कद्दू दोगुने कीमत पर बेचे गए.

email
TwitterFacebookemailemail

महापर्व छठ की तैयारी

महापर्व छठ को लेकर तैयारी जोर शोर से चल रही है. एक ओर जहां तमाम छठ व्रतियों के घरों में गतिविधियां तेज हो गई हैं, वहीं बाजार में सूप-दौरा, फल-फूल की दुकानें सज गई हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

नहाय खाय आज

आज बुधवार को नहाय खाय है. छठ व्रती प्रसाद के रूप में कद्दू भात का सेवन करेंगे. अगले दिन गुरुवार (19 नवंबर) को खड़ना है. इस दिन खीर भोजन का प्रसाद बनता है. फिर शुक्रवार (20 नवंबर) को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ दिया जायेगा. शनिवार (21 नवंबर) को उदीयमान सूर्य को अर्घ देने के साथ ही महापर्व छठ संपन्न हो जायेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

चार दिवसीय छठ महापर्व आज से  

रांची : नेम-निष्ठा और लोक आस्था का चार दिवसीय महापर्व छठ आज बुधवार से नहाय खाय के साथ शुरू हो गया. चार दिनों तक चलनेवाले इस महापर्व को लेकर लोग तैयारी में जुट गये हैं. छठ घाटों की साफ-सफाई की जा रही है. छठ गीतों से माहौल भक्तिमय हो गया है. झारखंड में महापर्व छठ की गतिविधियों की जानकारी के लिए जुड़े रहिए हमारे साथ.

email
TwitterFacebookemailemail

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें