आदि मानव का विकास दिखेगा ज्योति संगम में

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
आदि मानव का विकास दिखेगा ज्योति संगम में रांची. राजधानी में मारवाड़ी स्कूल के समीप ज्योति संगम की अोर से इस वर्ष आदिमानव व उसके विकास के स्वरूप को पूजा पंडाल में दिखाया जायेगा. इस पूजा समिति की अोर से इको फ्रेंडली पूजा का आयोजन किया जा रहा है. पर्यावरण का ख्याल रखते हुए हरियाली को दर्शाया जा रहा है. पंडाल के निर्माण में भी पर्यावरण का ख्याल रखा गया है. झोपड़ीनुमा पंडाल में प्रवेश करते ही आदि मानव के बदलते स्वरूप से भक्त रूबरू होंगे. भक्तों को पंडाल के अंदर चार टर्न लेना पड़ेगा. हर टर्न में उन्हें अलग-अलग स्वरूप का दर्शन होगा़ अंत में आदिमानव के वर्तमान मानव स्वरूप को दिखाया जायेगा़ उसके बाद मां का दर्शन होगा. पुआल व मिट्टी आदि से मठ का निर्माण किया जा रहा है. उसी में मां दुर्गा को स्थापित कर पूजा अर्चना की जायेगी. यहां आदिमानव की मूर्ति के अलावा सजीव आदि मानव का भी दर्शन होगा. जानवर की खाल का भी उपयोग किया जायेगा. पंडाल के अंदर साउंड व बिजली सिस्टम भी लगाया जा रहा है. पंडाल में प्रवेश करने पर ऐसा लगेगा, जैसे जंगल में शिकार किया जा रहा हाे. इसकी मूर्ति का निर्माण कोलकाता के कारीगर कर रहे है. संगम की अोर से मारवाड़ी स्कूल में पूजा का आयोजन किया जा रहा है. यहां भव्य प्रकाश की व्यवस्था की गयी है. पंडाल परिसर से लेकर बाहर तक लाइट की व्यवस्था रहेगी. यहां भक्तों की सुविधा के लिए पानी से लेकर शौचालय तक की व्यवस्था की जा रही है. इसके अलावा वाहन पार्किंग की भी सुविधा होगी. इसके अलावा खाने पीने के लिए फूड स्टॉल भी लगाये जा रहे हैं. सुरक्षा का खास ध्यान रखा जा रहा है. इसके लिए सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेंगे. वहीं स्वयंसेवक भी तैनात रहेंगे. दस लाख का बजट पूरे आयोजन पर लगभग दस लाख रुपये खर्च किये जायेंगे. 11 फीट ऊंची मां की प्रतिमा यहां स्थापित की जायेगी. यह पूरी तरह से बांग्ला मूर्ति की तरह नजर आयेगी. इसका निर्माण स्थानीय मूर्तिकार माखन पाल कर रहे है. मां के प्रतिमा के पीछे भी कलाकृति दिखेगी . इसके अलावा दीवार के पीछे चित्रकारी भी की जायेगी. कमेटी का गठनमुख्य संरक्षक मंत्री सीपी सिंह, संरक्षक तिलक राज आजमानी व शिव कुमार गुप्ता, संयोजक दीपक कुमार पंकज, अजय बथवाल, हेमंत पोद्दार, अध्यक्ष चंद्रमोहन खत्री, उपाध्यक्ष राज कुमार गुप्ता, सचिव प्रमोद कुमार लोहिया, सह सचिव सुनील कुमार साहू, कोषाध्यक्ष अमर मोदी.मुख्य आकर्षणखर्च : दस लाख रुपयेप्रतिम : 11 फीट ऊंचीपंडाल : आदि मानव की झलकियांपर्यावरण पर विशेष ध्यान
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें