अपर्णा सेन से ईडी ने पूछताछ की

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
सारदा घोटाला : बंगाल के कपड़ा मंत्री भी हुए पेश एजेंसियां, कोलकाताकरोड़ों रुपये के सारदा चिटफंड घोटाले के सिलसिले में धनशोधन की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सोमवार को फिल्म कलाकार अपर्णा सेन व पश्चिम बंगाल के वस्त्र मंत्री श्यामपद मुखर्जी से पूछताछ की. ईडी सारदा समूह द्वारा प्रकाशित एक पत्रिका की संपादक के रूप में अपर्णा सेन की भूमिका की जांच कर रहा है. सूत्रों के मुताबिक सेन का बयान धनशोधन निवारण कानून की धारा- 50 के तहत दर्ज किया. उन्होंने सभी सवालों का जवाब दिये और आश्वासन दिया कि इस मामले में वह भविष्य में भी सहयोग करती रहेंगी. सुदीप्त सेन प्रवर्तित समूह द्वारा प्रकाशित पत्रिका से वे जुड़ी हुई थीं. यह समूह विभिन्न जांच एजेंसियों की जांच के दायरे में है. पिछले साल बड़ी संख्या में निवेशकों ने आरोप लगाया था कि फरजी पोंजी स्कीमों के जरिये उनकी मेहनत से कमाई गयी राशि ठग ली गयी. वहीं, ईडी ने मुखर्जी से पूछताछ 2009 में एक संपत्ति की बिक्री के सिलसिले में थी. मुखर्जी के खिलाफ आरोप लगाया गया था कि उन्होंने कुछ संपत्ति के हस्तांतरण के जरिये कुछ पूंजी अर्जित की है. रिपोर्ट में क्या ईडी की ताजा जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि इस मामले में धनशोधन राशि 1983.02 करोड़ रुपये की है. इसकी पहचान 'अपराध से अर्जित हुई आय' के रूप में की गयी है. मामले की जांच कर रही एजेंसियों में ईडी, सीबीआइ, पश्चिम बंगाल, ओडि़शा और असम की राज्य पुलिस शामिल है.क्या है मामला सूत्रों ने कहा कि सारदा चिटफंड मामला लाखों बहु-स्तरीय लेन-देन से जुड़ा हुआ है. जांच में पता लगा है कि 90 प्रतिशत से ज्यादा कंपनियां सिर्फ कागजों में थीं. 224 में से सिर्फ 17 कंपनियों ने वास्तव में कुछ कारोबार किया था. जांच अधिकारियों के मुताबिक शेष कंपनियां 'डमी' के तौर पर बनायी गयी थीं ताकि कथित पोंजी योजनाओं को ढाल मिल सके. सारदा समूह की चार कंपनियां जांच एजेंसियों के निशाने पर हैं. इनमें सारदा रियल्टी प्राइवेट इंडिया लि, सारदा टूर एंड ट्रैवल्स प्रा लि, सारदा गार्डेन रिसार्ट एंड होटल प्रा लि तथा सारदा हाउसिंग प्रा लि हैं. इस मामले में मुख्य आरोपी और सारदा समूह अध्यक्ष सुदीप्त सेन तथा तृणमूल कांग्रेस सांसद कुणाल घोष तथा कई अन्य पहले ही गिरफ्तार किये जा चुके हैं.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें