विशेष बातचीत में फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा, आर्थिक मंदी से जल्द उबरेगा स्टील सेक्टर

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
दो दिवसीय दौरे पर झारखंड पहुंचे केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह
केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते गुरुवार को झारखंड के दो दिवसीय दौरे पर रांची पहुंचे. उन्होंने गुरुवार को बोकारो स्टील प्लांट का दौरा किया. बोकारो जाने से पहले रांची में प्रभात खबर से विशेष बातचीत में श्री कुलस्ते ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भारत की स्थिति अच्छी है. आर्थिक मंदी का असर किसी खास सेक्टर पर नहीं, बल्कि सभी पर पड़ता है. फिलहाल 1991 वाली स्थिति नहीं है. स्टील सेक्टर आर्थिक मंदी के दौर से जल्द उबरेगा.
Qझारखंड में स्टील सेक्टर के विकास की क्या संभावनाएं हैं?
देश को आगे बढ़ाने में झारखंड, ओड़िशा व छत्तीसगढ़ का बहुत बड़ा योगदान है. यहां पर स्टील सेक्टर में विकास की काफी संभावनाएं हैं. झारखंड स्टील सेक्टर में सक्षम प्रदेश है. यहां पर रॉ मैटेरियल उपलब्ध है. अभी बोकारो स्टील प्लांट व माइंस के भ्रमण के लिए आये हैं. प्लांट की क्षमता व आवश्यकताओं का आकलन करने के बाद भविष्य में विस्तार को लेकर योजना बनायी जायेगी. बोकारो स्टील प्लांट के आधुनिकीकरण को लेकर काम हुआ है. इसके विस्तारीकरण को लेकर भी संभावनाएं तलाशेंगे.
Qक्या स्टील सेक्टर पर भी मंदी का असर पड़ा है?
अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भारत की स्थिति अच्छी है. आर्थिक मंदी का असर सभी सेक्टर पर पड़ता है. इसके कई कारण हैं. इस बार लंबे समय (लगभग चार माह) तक बारिश होने का प्रभाव कल-कारखानों पर पड़ा है. फिर भी 1991 वाली स्थिति नहीं है. हम इससे काफी अच्छी स्थिति में हैं. बहुत जल्द स्टील सेक्टर आर्थिक मंदी से उबरेगा. स्टील का उत्पादन भी बढ़ेगा. भारत ने स्टील की गुणवत्ता व सुरक्षा से कभी समझौता नहीं किया है. इसलिए यहां की स्टील की मांग अच्छी है.
Qआपकी नजर में सरकार कैसा काम कर रही है? क्या झारखंड में फिर भाजपा की सरकार बनेगी?
झारखंड, हरियाणा व महाराष्ट्र में एक बार फिर से भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनेगी. पिछले पांच साल के दौरान मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में सरकार ने विकास के नये आयाम स्थापित किये हैं. इससे पहले राजनीतिक अस्थिरता के कारण झारखंड का जितना विकास होना चाहिए था, नहीं हो पाया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता के हित में कई फैसले किये हैं.
कश्मीर से धारा 370 व 35-ए समाप्त कर लोगों का विश्वास जीता है. जनता का भी सरकार को पूरा समर्थन मिल रहा है. इसके अलावा प्रधानमंत्री अावास योजना, उज्ज्वला योजना के साथ अन्य जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लोगों को मिल रहा है. दूसरी तरफ, कांग्रेस के पास कोई विजन नहीं है. देश में भाजपा के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं है. अन्य दल भी सदमे में हैं.
Qझारखंड में धर्मांतरण पर रोक लगाने के फैसले को आप कैसे देखते हैं?
धर्मांतरण से सबसे ज्यादा नुकसान आदिवासी समाज को होता है. धर्मांतरित व्यक्ति दो तरह की सुविधाओं के भागीदार हो जाते हैं. ऐसे में गरीब आदिवासी पीछे रह जाते हैं. आदिवासी समाज अपने धर्म, संस्कृति व परंपरा को बचाये रखने का प्रयास कर रहा है. ये प्रकृति के पुजारी हैं. भगवान बिरसा मुंडा भी जल, जगंल व जमीन की लड़ाई के लिए आगे आये. हमारी आस्था भी इनके प्रति है.
होगा वेज रिविजन, मिलेगा पदनाम
इधर, बोकारो स्टील प्लांट का दौरा करने पहुंचे श्री कुलस्ते ने कहा कि इस्पात उद्योग में वैश्विक मंदी का दौर है. इसके बावजूद भारतीय इस्पात उद्योग अन्य देशों के मुकाबले बेहतर स्थिति में है. सेल की इकाइयों को बेहतर करने का प्रयास किया जा रहा है.
जब श्री कुलस्ते से पूछा गया कि सेल मजदूरों का वेज रिविजन और डिप्लोमाधारी इंजीनियर्स के पदनाम की मांग लंबे अरसे से पेंडिंग है. उन्होंने कहा कि हर मसले का समाधान होगा. सभी मांगों पर सकारात्मक तरीके से विचार किया जा रहा है. बहुत जल्द फैसला होगा.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें