झारखंड : जनविरोधी नीतियों के खिलाफ राजद 17 को बैठेगा महाधरना पर, निकाय चुनाव अकेले लड़ेगी पार्टी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रांची : सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ प्रदेश राजद की ओर से 17 मार्च को राजभवन के समक्ष महाधरना दिया जायेगा. इसमें राज्य के सभी जिलों के कार्यकर्ता हिस्सा लेंगे. इसके बाद पार्टी की ओर से राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा जायेगा. साथ ही सरकार को बर्खास्त करने की मांग की जायेगी. यह जानकारी राजद की प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी ने प्रदेश पदाधिकारियों, जिलाध्यक्षों व प्रखंड अध्यक्षों की बैठक के बाद पत्रकारों को दी.
उन्होंने कहा कि सरकार लगातार जनविरोधी निर्णय ले रही है. मामला चाहे प्राथमिक विद्यालयों को बंद करने का हो, पारा शिक्षकों का हो या भूमि अधिग्रहण का. सरकार के निर्णय से राज्य की जनता हलकान है.
कहा कि भूमि अधिग्रहण बिल को केंद्र सरकार ने वापस कर दिया, इसके बाद भी रघुवर सरकार हठधर्मिता पर उतारू है. दोबारा केंद्र सरकार को बिल भेजा गया है. राज्य की जनता में सरकार की इस हठधर्मिता से आक्रोश है. उन्होंने कहा कि राजधानी में अपराध चरम पर है. आये दिनों बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं हो रही हैं. सरकार के एजेंडे में लॉ एंड ऑर्डर नाम की कोई चीज नहीं है. अपराधियों का राज कायम है. सरकार पूंजीपतियों व कॉरपोरेट घरानों के लिए काम कर रही है.
एक बूथ,15 यूथ का कार्यक्रम चलेगा
प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी की ओर से एक बूथ, 15 यूथ का कार्यक्रम चलाया जायेगा. इसको लेकर जिलाध्यक्षों को निर्देश दिया गया. प्रत्येक बूथ पर पांच महिलाओं की भागीदारी रहेगी. पंचायत से लेकर प्रखंड स्तर तक कमेटी का गठन किया जायेगा.
निकाय चुनाव अकेले लड़ेगी पार्टी
उन्होंने कहा कि नगर निकाय चुनाव में पार्टी अपना उम्मीदवार खड़ा करेगी. इसको लेकर पार्टी की ओर से नियुक्त पर्यवेक्षकों ने बैठक कर ली है.
कुछ जगहों पर बैठक नहीं हुई है. सभी जगहों पर बैठक होने के बाद पार्टी की ओर से एक साथ उम्मीदवारों की सूची जारी की जायेगी. बैठक में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गिरिनाथ सिंह, संजय सिंह यादव, मनोज भुईंया, सुरेश पासवान, जनार्दन पासवान, डॉ मनोज कुमार, आबो देवी, राजेश यादव, हाजी जुबैर भाई, मुस्तफा अंसारी, आबिद अली समेत जिला व प्रखंड अध्यक्ष मौजूद थे.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें