अंचल में आवेदनों का अंबार, जिले में 50 हजार से ज्यादा लंबित

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रांची: रांची जिले में आवासीय, जाति और आय प्रमाण पत्रों का अंबार लगा हुआ है. लगभग 50 हजार आवेदन विभिन्न स्तरों से लंबित हैं. रांची सदर अनुमंडल स्तर पर ही 18 हजार से ज्यादा आवेदन लंबित हैं. परीक्षा का समय होने की वजह से इन दिनों छात्र और अभिभावक प्रमाण पत्र के लिए अंचल कार्यालय और एसडीओ कार्यालयों का चक्कर लगा रहे हैं. कार्यालय में कर्मचारी-अधिकारियों की कमी के अलावा कुछ तकनीकी परेशानियां भी हैं, जिससे आवेदनों के निबटारे की रफ्तार धीमी है.

इधर, प्रमाण पत्रों के जल्द निष्पादन के लिए विभिन्न अंचलों से कंप्यूटर ऑपरेटरों को लगाया गया है. वे तेजी से आवेदनों का निष्पादन भी कर रहे हैं़ इसके बावजूद लंबित आवेदनों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. अधिकारियों का कहना है कि रोजाना 12 सौ आवेदनों का निपटारा हो रहा है. लेकिन, उससे कहीं ज्यादा संख्या में नये आवेदन भी आ रहे हैं. इधर, लंबित आवेदनों की बढ़ती संख्या को देखते हुए उपायुक्त मनोज कुमार ने प्रज्ञा केंद्र के सीएससी प्रबंधक को पत्र लिखा है. उन्होंने सर्वर की धीमी रफ्तार और विभिन्न प्रज्ञा केंद्र संचालकों द्वारा प्रमाण पत्र के लिए मनमानी राशि वसूलने पर चिंता जतायी है. उन्होंने तेजी से आवेदनों का निपटारा करने को कहा है़.
ऑपरेटरों की लापरवाही पर कार्रवाई का आदेश
प्रमाण पत्रों के निष्पादन में हो रहे विलंब के लिए कुछ हद तक प्रज्ञा केंद्र और कंप्यूटर ऑपरेटर भी जिम्मेवार हैं. अधिकारियों का कहना है कि कंप्यूटर आॅपरेटर बगैर बताये अवकाश पर चले जा रहे हैं. इस वजह से उनका लाॅगइन बंद हो जा रहा है. इस पर उपायुक्त ने सभी सीओ को लापरवाह कंप्यूटर ऑपरेटरों को चिह्नित कर कार्रवाई का निर्देश दिया है.
एसडीओ ने भी उपायुक्त को लिखा पत्र
एसडीओ ए सत्यजीत ने डीसी को पत्र लिख कर झारसेवा पोर्टल में हो रही समस्याओं की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि प्रज्ञा केंद्रों द्वारा आवेदकों के दस्तावेजों को बिना जांचे व अधूरा ही अंचल को भेजा जा रहा है. इससे अनुमंडल स्तर पर आवेदनों के निष्पादन में दिक्कत हो रही हैं. अंचल स्तर से भी आवेदन बिना जांचे भेजा जा रहा है.
रात के 10 बजे तक दो शिफ्ट में हो रहा है काम
परीक्षाओं की वजह से बड़ी संख्या में आवेदन आ रहे हैं. उम्मीद है 15 से 20 दिनों में आंकड़ा और भी कम हो जायेगा. आवेदनों के निबटारे के लिए रात के दस बजे तक दो शिफ्ट में काम हो रहा है. इसमें कंप्यूटर ऑपरेटरों के अलावा 16 ब्लॉक मैनेजरों को भी लगाया गया है.
मनोज कुमार, उपायुक्त, रांची
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें