1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ramgarh
  5. prakash hetamsaria selected for singapore national award bijhar founder did many things smj

रामगढ़ के प्रकाश हेतमसरिया का सिंगापुर के राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए चयन, बिझार के संस्थापक ने किये कई कार्य

रामगढ़ निवासी प्रकाश हेतमसरिया सिंगापुर के राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए चयनित हुए हैं. वर्ष 1999 में उन्हें सिंगापुर की नागरिकता मिली थी. झारखंड-बिहार के लोगों को साथ लेकर बिझार संस्था की स्थापना की. इसके तहत कई सामाजिक कार्य भी किये.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
रामगढ़ के प्रकाश हेतमसरिया का सिंगापुर के राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए हुआ चयन.
रामगढ़ के प्रकाश हेतमसरिया का सिंगापुर के राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए हुआ चयन.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (रामगढ़) : झारखंड के रामगढ़ जिला अंतर्गत गोला रोड चट्टी बाजार निवासी प्रकाश हेतमसरिया का चयन सिंगापुर में राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए किया गया है. श्री हेतमसरिया शहर के जाने-माने समाजसेवी बसंत कुमार हेतमसरिया के छोटे भाई हैं. वे वर्ष 1995 में सिंगापुर गये थे तथा 1999 में उन्हें सिंगापुर की नागरिकता मिल गयी थी.

वे शुरू से ही सिंगापुर में सामाजिक कार्यों में भाग लेते रहे. साथ ही हर साल अर्थ डे पर पर्यावरण को लेकर बड़ा आयोजन सिंगापुर में करते हैं. जिसमें सिंगापुर के प्रमुख लोग भाग लेते हैं. सिंगापुर सरकार द्वारा प्रकाश हेतमसरिया का चयन नागरिकों को दिये जाने वाले लोक सेवा पदक (पिंगट बक्ती मस्याराकत) प्राप्त करने के लिए चुना गया.

सिंगापुर के प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्रीय दिवस पर 9 अगस्त, 2021 को सिंगापुर के राष्ट्रीय पुरस्कारों की घोषणा की गयी जिसमें श्री हेतमसरिया का भी नाम है. घोषणा के बाद सिंगापुर के राष्ट्रपति के आधिकारिक निवास पर आयोजित समारोह में सिंगापुर के राष्ट्रपति द्वारा उन्हें पुरस्कार प्रदान किया जायेगा.

सिंगापुर में सराहनीय जनसेवा, कलाओं, खेल, विज्ञान, व्यवसाय, पेशेवरों और श्रमिक आंदोलन के क्षेत्र में उपलब्धि के लिए वहां के नागरिकों को यह पुरस्कार प्रदान किया जाता है. प्रकाश हेतमसरिया की स्कूली शिक्षा रामगढ़ के गांधी स्मारक उच्च विद्यालय तथा कॉलेज की शिक्षा रांची में हुई है. प्रकाश हेतमसरिया की इस उपलब्धि पर रामगढ़ के विभिन्न संस्थाओं के लोगों ने बधाई दी है.

प्रकाश ने परिवार की परंपरा को सिंगापुर में भी रखा जिंदा

प्रकाश हेतमसरिया के परिवार की पहचान रामगढ़ में समाजसेवी के रूप में हैं. उन्होंने अपने परिवार की परंपरा को सिंगापुर में भी जिंदा रखा है. प्रकाश ने सिंगापुर जाकर बसे झारखंड-बिहार के लोगों को साथ लेकर वहां बिझार संस्था की स्थापना की. बिझार की मदद से रामगढ़ जिले में कई सामाजिक कार्य किये गये हैं. जिनमें गोला के हरिहर साहू बालिका उच्च विद्यालय में कंप्यूटर शिक्षा शुरू करने के लिए 3 कंप्यूटर सहित अन्य सामग्री का योगदान उल्लेखनीय है. साथ ही रामगढ़ में भी कई काम किये गये हैं. प्रकाश हेतमसरिया पर उनके सिंगापुर में किये कार्यों के लिए उनकी जीवनी पर एक किताब लिखी गयी है. जिसका विमोचर सिंगापुर के आजादी की 50वीं वर्षगांठ के मौके पर सिंगापुर के उद्योग मंत्री ने की थी.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें