1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ramgarh
  5. indian railways news 40 youths of ramgarh cheated in the name of giving job as train sanitizer in railways smj

Indian Railways News : रेलवे में ट्रेन सेनिटाइजर की नौकरी देने के नाम पर बेरोजगारों से ठगी, झांसे में आये रामगढ़ के 40 युवक

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
रेलवे में ट्रेन सेनिटाइजर की नौकरी दिलाने के नाम पर रामगढ़ के 40 युवकों से लाखों की ठगी.
रेलवे में ट्रेन सेनिटाइजर की नौकरी दिलाने के नाम पर रामगढ़ के 40 युवकों से लाखों की ठगी.
फाइल फोटो.

Jharkhand News (दुलमी, रामगढ़): आज कोरोना संक्रमण के कारण पूरा देश त्राहिमाम कर रहा है. कोरोना रूपी इस आपदा से देश भर में गरीब व माध्यम वर्ग के लोगों की आर्थिक स्थिति चरमरा गयी है. कई लोग दाने-दाने को मोहताज हो रहे हैं जबकि कई गरीब लोग दूसरों से सहारा लेकर किसी तरह अपना घर परिवार चला रहे है. ऐसी विकट स्थिति में भी एक ठग गिरोह ने इस आपदा को अवसर में बदलने का काम किया है.

इसके बाद इन युवाओं ने ठग से संपर्क किया, तो ठग ने स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह का बहाना बना कर टाल-मटोल करने लगा. ठगी के शिकार हुए 40 बेरोजगारों में से कई ने कहा कि नौकरी मिलने की आस में कर्ज लेकर ठग को राशि दिया, लेकिन नौकरी तो मिलना दूर जो राशि दिये थे वह भी नहीं मिल रहा है.

जानकारी के अनुसार, एक ठग गिरोह ने एस एस इंटरप्राइजेज नाम से एक फर्जी कंपनी बना कर रामगढ़ जिला अंतर्गत विभिन्न गांवों के 40 बेरोजगार युवाओं को ठगी का शिकार बनाया है. बताया जाता है कि इन युवाओं से ट्रेन में सेनेटाइज्ड करने की नौकरी लगाने के नाम पर 10 से 13 हजार रुपये तक की वसूली की गयी है. इन युवाओं को मार्च माह तक नौकरी लगाने का आश्वासन दिया गया था. लेकिन इसके दो माह बीतने के बाद भी नौकरी नहीं लगी.


फरवरी माह में दिये हैं राशि, अब कर रहा है आनाकानी

ठगी के शिकार हुए सीरू निवासी दुधेश्वर महतो ने कहा कि होन्हे निवासी तुलसी महतो ने हमलोगों को नौकरी लगाने के नाम पर धनबाद स्थित ऑफिस तक ले गया. वहां पर इंटरव्यू लिया गया. इसके बाद हमलोगों की सूची निकाली गयी. फरवरी माह में नौकरी लगाने की एवज में राशि भी ली गयी. लेकिन, अब राशि की मांग किये जाने पर आनाकानी कर रहा है. वहीं, डाड़ी होसिर निवासी छोटेलाल महतो ने कहा कि 11 हजार रुपया लेकर कांट्रेक्ट पर सात वर्ष के लिए ट्रेन में सेनेटाइज्ड करने की नौकरी लगाने का आश्वासन दिया गया. लेकिन, अब तरह-तरह की बात कह कर टालमटोल कर रहा है.

ये बेरोजगार युवा हुए ठगी के शिकार

बताया जाता है कि रामगढ़ जिले के होन्हे, सीरु, मदगी, डाड़ी, चितरपुर, मारंगमरचा सहित कई गांवों के शंकर प्रसाद, विवेक कुमार, शिवा कुमार, उपेंद्र नायक, विवेक नायक, श्रेशन महतो, राम राजन सिंह, शत्रुघ्न राजवीर, अभिश्वर महतो, सुजीत किशोरिया, विमल कुमार, गोविंद मुंडा, राजकुमार स्वर्णकार, भीम महतो, विजय महतो, शंकर रविदास, विजय करमाली, सुभाष नायक, आशीष कुमार, महादेव मुंडा,चंद्रशेखर महतो, जितेंद्र प्रसाद मुंडा, खुशी लाल महतो, संतोष कुमार महतो, दिनेश कुमार महतो, सरजू महतो, राजकुमार साव, कुलेश्वर राम, धीरेंद्र सिंह मुंडा, प्रेम किरोडिया, अजय कुमार, खिरोदर महतो, राहुल महतो, लखन नायक, राजीन राजन, बिपुल करमाली, छोटेलाल महतो, दुधेश्वर महतो, मनेश्वर मुंडा, अजय करमाली ठगी के शिकार हुए है.

लॉकडाउन के कारण काम रुका है : तुलसी महतो

बेरोजगार युवकों को ट्रेन में सेनिटाइजर की नौकरी देने के नाम पर तुलसी महतो का नाम आने पर उन्होंने सफाई दी है. उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल और झारखंड में लॉकडाउन के कारण काम रुका हुआ है. डेढ़-दो माह के अंतराल में काम शुरू हो जायेगा. इसके बाद इनलोगों को काम मिल जायेगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें