बाक्स में ) केदला वाशरी के मेंटनेंस कार्य में विलंब, नुकसान

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
15 दिन में होगा पांच करोड़ का नुकसान एक जुलाई को वाशरी की मरम्मत शुरू हुई थी बीएमइ कंपनी को सौंपा गया था कार्य घाटोटांड़.सीसीएल की केदला बसंतपुर वाशरी का मरम्मत कार्य एक जुलाई से हो रहा है. बीएमइ (मैकनली भरत इंजीनियरिंग कंपनी) द्वारा 4.70 करोड़ की लागत से वाशरी का मेंटेनेंस कार्य कराया जा रहा है. इसके लिए वाशरी एक जुलाई से बंद है. इसके कारण वाशरी को करोड़ों का नुकसान हो रहा है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, उचित देख रेख व समय -समय पर मेंटेनेंस का कार्य नहीं होने के कारण केदला वाशरी की स्थिति काफी खराब हो गयी थी. इसे ठीक करने के लिए प्रबंधन इसकी मरम्मत करा रहा है. तय शर्त के मुताबिक, बीएमइ कंपनी को काम करने से पहले इसमें लगनेवाले सभी सामान को वाशरी में ला कर रख लेना था. ताकि काम में अनावश्यक विलंब नहीं हो. स्थानीय प्रबंधन को भी यह हिदायत दी गयी थी कि कंपनी द्वारा सभी सामान लेकर यहां रख लिया जाये. इसके बाद ही उसे वाशरी को बंद कर काम के लिए हैंडओवर किया जाये. परंतु यहां ऐसा नहीं हुआ. स्थानीय प्रबंधन ने कंपनी को एक जुलाई को वाशरी को काम करने के लिए हैंडओवर कर दिया. 16 अप्रैल से पहले होना था मरम्मत कार्य : जानकारी के मुताबिक, मेंटेनेंस में लगी कंपनी को वाशरी के कई हिस्से का काम 16 अगस्त से पहले कर लेना था. इसके बाद सीसीएल प्रबंधन को उसमें कुछ विभागीय स्तर पर काम करा कर ट्रायल करना था. परंतु अभी तक काफी काम बाकी है. कुछ पार्ट्स अभी तक आये भी नहीं हैं. इन पार्ट्स को अभी से 45 दिन पहले ही आ जाना चाहिए था. जानकारों की माने तो वाशरी का मेंटेनेस का काम अभी 15 दिन पीछे चल रहा है. अगर समय से वाशरी मरम्मत हो कर हैंडओवर नहीं हुआ, तो मात्र 15 दिन में वाशरी को करीब पांच करोड़ का नुकसान होगा .
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें