1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. lohardaga
  5. strong warning to naxalites of jharkhand dgp said dulishwar martyrdom not go in vain get proper answer smj

झारखंड डीजीपी की नक्सलियों को कड़ी चेतावनी, बोले- दुलेश्वर की शहादत नहीं जायेगी बेकार, मिलेगा माकूल जवाब

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
झारखंड डीजीपी नीरज सिन्हा ने नक्सलियों के खिलाफ पुलिस अधिकारियों को दिये कई दिशा-निर्देश.
झारखंड डीजीपी नीरज सिन्हा ने नक्सलियों के खिलाफ पुलिस अधिकारियों को दिये कई दिशा-निर्देश.
प्रभात खबर.

Jharkhand News, Lohardaga News, लोहरदगा (गोपी कुंवर) : झारखंड के नये डीजीपी नीरज सिन्हा का पहला लोहरदगा दौरा बुधवार (17 फरवरी, 2021) को था. इस दौरान पुलिस अधिकारियों से जहां नक्सली गतिविधियों की जानकारी ली, वहीं बम विस्फोट में शहीद हुए सैप के जवान के परिजनों को हर संभव सहयोग की बात कही. साथ ही उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस गतिविधियां अधिक बढ़ाने के दिशा- निर्देश भी दिये.

बुधवार को झारखंड के डीजीपी नीरज कुमार के साथ एडीजी ऑपरेशन नवीन कुमार सिंह, आईजी ऑपरेशन साकेत कुमार सिंह लोहरदगा पहुंचे. इस दौरान डीजीपी ने अधिकारियों के साथ जिले के सुदूरवर्ती उग्रवाद प्रभावित सेरेंगदाग थाना क्षेत्र में आवश्यक बैठक कर नक्सलियों के खात्मे को लेकर कई योजना बनाते हुए पुलिस अधिकारियों को आवश्यक दिशा- निर्देश भी दिये.

इस दौरान डीजीपी नीरज सिन्हा ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि नक्सली किसी भी कीमत पर बख्शे नहीं जायेंगे. उन्होंने अधिकारियों को कई निर्देश भी दिये. बैठक में डीजीपी काफी सख्त नजर आये. बैठक के बाद डीजीपी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि ये घटना दुखद है. पुलिस दुलेश्वर प्रास के शहादत को व्यर्थ नहीं जाने देगी. नक्सलियों को इसका माकूल जवाब दिया जायेगा. इसकी योजना बना ली गयी है.

उन्होंने कहा कि क्षेत्र से उग्रवाद को मिटाना है. इसके लिए उन्होंने पुलिस अधिकारियों को कई दिशा- निर्देश भी दिये. उन्होंने कहा कि बारुदी सुरंग विस्फोट में शहीद जवान दुलेश्वर प्रास के परिजनों को पूरी मदद दी जायेगी. उनके एक आश्रित को सरकारी नौकरी, 45 लाख रुपये की बीमा राशि, 25 लाख रुपये का अनुग्रह अनुदान, जब तक उनकी नौकरी है, तबतक का वेतन समेत अन्य मदद उनके परिजनों को दी जायेगी.

मालूम हो कि नक्सलियों द्वारा बिछाये गये IED बम विस्फोट में घायल हुए जवान दिलेश्वर को इलाज के लिए रांची के मेडिका ले जाया गया था, जहां इलाज के क्रम में उसकी मौत हो गयी. दुलेश्वर प्रास गुमला जिले के जारी प्रखंड अंतर्गत कटिम्बा गांव के निवासी थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें