1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. lohardaga
  5. no one will be hungry in jharkhand development will be seen soon minister dr rameshwar oraon smj

झारखंड में नहीं रहेगा कोई भूखा, जल्द दिखेगा विकास : मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कृषि प्रदर्शन सह गोष्ठी कार्यक्रम में मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव समेत अन्य ने की शिरकत.
कृषि प्रदर्शन सह गोष्ठी कार्यक्रम में मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव समेत अन्य ने की शिरकत.
प्रभात खबर.

Jharkhand News, Lohardaga news, लोहरदगा : झारखंड के वित्त एवं खाद्य, सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामला विभाग के मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव रविवार को लोहरदगा पहुंचे. सबसे पहले मंत्री श्री उरांव कृषि प्रदर्शनी सह गोष्ठी कार्यक्रम में शिरकत किये. इस दौरान उन्होंने कहा कि भले ही कोरोना संक्रमण के कारण राज्य में विकास कार्य रुका, लेकिन अब विकास दिखेगी. उन्होंने राज्य वासियों को आश्वस्त किया कि कोई भूखा नहीं रहेगा.

मनरेगा अंतर्गत बिरसा हरित ग्राम योजना के तहत नाशपाती पौधरोपण, कृषि प्रदर्शनी सह गोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन हुआ. यह आयोजना लोहरदगा जिला अतंर्गत पेशरार प्रखंड के हेसाग पंचायत स्थित पुनदाग गांव में हुआ. इस कार्यक्रम की शुरुआत झारखंड के वित्त एवं खाद्य, सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामला विभाग के मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने किया. मौके पर राज्यसभा सांसद धीरज प्रसाद साहू और डीसी दिलीप कुमार टोप्पो ने भी शिरकत की.

इस अवसर पर कृषि प्रदर्शनी सह गोष्ठी कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए झारखंड सरकार के मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा कि योजना सरकार की है और सरकार आपकी है. योजना सरकार के विचार होते हैं. उन्होंने फूल की खेती करने पर जोर दिया. साथ ही कहा कि सरकार बाजार की व्यवस्था करेगी.

मंत्री श्री उरांव ने कहा कि कृषि का अर्थ सिर्फ धान और गेहूं उपजाना नहीं है. धान और गेहूं पेट भरने के लिए है. पेट भरने के अलावा अन्य कार्यों के लिए भी आय की जरूरत होती है. हेमंत की सरकार जनता की सरकार है. पेशरार से यहां तक दो पुल बनाना है, जो शीघ्र चालू होगा.

उन्होंने कहा कि सरकार का एक साल कोरोना महामारी में गुजर गया. शेष 4 साल में काम से लोहरदगा का नक्शा बदल जायेगा. पुंदाग से पेशरार तक जुड़ने से भी यहां का नक्शा बदल जायेगा. पेट भरने के लिए रोटी, तन ढंकने के लिए कपड़ा, जीवन के लिए पानी, रहने के लिए मकान के अलावा अन्य मूलभूत सुविधा की जरूरत है, जिसे राज्य सरकार पूरा करने में जुटी है.

मंत्री श्री उरांव ने कहा कि कई गरीबों के पास आज तक राशन कार्ड नहीं है. इसलिए सभी का हरा कार्ड बनाया जा रहा है. सभी को राशन बांटा जायेगा. उन्होंने आश्वस्त किया कि राज्य में किसी भी व्यक्ति को भूखा नहीं रहने दिया जायेगा. हर पंचायत में 5 नये चापाकल लगेंगे, वहीं पुराने चापाकलों की मरम्मत भी की जायेगी. इसके अलावा 10 रुपये में साड़ी, धोती, लूंगी भी दी जायेगी.

उन्होंने कहा कि खुद किसान घर से हैं. किसानों के दर्द को सरकार बखूबी समझ रही है. किसानों द्वारा ऋण चुकता नहीं कर पाने की स्थिति में कृषि ऋण माफ करने का काम राज्य सरकार कर रही है. साथ ही किसानों को खाद और बीज भी उपलब्ध करा रही है. वहीं, धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 2050 रुपया किसानों को दिया जा रहा है.

राज्यसभा सांसद धीरज प्रसाद साहू ने कहा कि कांग्रेस और हेमंत सरकार हर वक्त आपके साथ है. राज्य के विकास को लेकर सरकार प्रतिबद्ध है. सरना आदिवासी धर्म कोड को लेकर कांग्रेस गंभीर है. केंद्र सरकार को चाहिए कि जल्द सरना आदिवासी धर्म कोड के प्रस्ताव को पारित करे.

जम्मू से आया नाशपाती का पौधा 

डीसी दिलीप कुमार टोप्पो ने कहा कि जिले में नाशपाती बागवानी पर जोर दिया जा रहा है. नेतरहाट के बाद यह दूसरा स्थान है जहां नाशपाती बागवानी के लिए किसानों को प्राेत्साहित किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि एक एकड़ में 100 से 125 पौधे लगेंगे. इस तरह से करीब 200 एकड़ में नाशपाती का पौधा लगाने की योजना है. नाशपाती का पौधा जम्मू- कश्मीर से लाया गया है. इसकी आयु 3 साल की होगी. इन पौधों को बच्चे की तरह रक्षा करना लाभुक की जवाबदेही हाेगी.

कार्यक्रम में डीडीसी अखौरी शशांक सिन्हा, एसडीओ अरविंद लाल ने वनाधिकार पट्टा से संबंधित जानकारी दी. वहीं कृषि पदाधिकारी शिवकुमार राम ने कृषि ऋण माफी योजना के बारे में मंत्री को अवगत कराया. कार्यक्रम के दौरान 90 फीसदी अनुदान पर 35 पंपसेट और पाइप का वितरण किया गया. वहीं, 7 किसानों को केसीसी का स्वीकृति पत्र दिया गया.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें