1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. lohardaga
  5. jharkhand governor draupadi murmu insists on job oriented course said women should be selfreliant smj

झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू जॉब ओरिएंटेड कोर्स पर दी जोर, बोली- स्वावलंबी बनें महिलाएं

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
वुमेन कॉलेज और मॉडल डिग्री कॉलेज के उद्घाटन मौके पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने किया संबोधित.
वुमेन कॉलेज और मॉडल डिग्री कॉलेज के उद्घाटन मौके पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने किया संबोधित.
प्रभात खबर.

Jharkhand News, Lohardaga News, लोहरदगा : झारखंड की राज्यपाल सह कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू बुधवार (27 जनवरी, 2021) को लोहरदगा पहुंची. इस दौरान लोहरदगा जिले के सेन्हा प्रखंड स्थित बरही में नवनिर्मित वुमेन कॉलेज और गुमला जिला के घाघरा प्रखंड में नवनिर्मित मॉडल डिग्री कॉलेज का उद्घाटन किया. राज्यपाल ने कहा कि बेहतर व्यक्तित्व, समाज और राष्ट्र निर्माण के लिए शिक्षा ही सशक्त माध्यम है. विकास का सफर शिक्षा के रास्ते से ही शुरू होता है. हर विद्यार्थी को गुणवत्तायुक्त शिक्षा मिले, इसे सुनिश्चित किया जाना बेहद जरूरी है.

राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि स्टूडेंट्स को सिर्फ शिक्षा नहीं दी जाये, बल्कि शिक्षा का स्तर ऐसा होना चाहिए, ताकि उसके व्यक्तित्व का समग्र विकास हो सके और इसमें शिक्षकों की सबसे अहम भूमिका है. महिला कॉलेज की स्थापना से छात्राओं को बेहतर शिक्षा के साथ-साथ बेहतर समाज निर्माण में काफी सहयोग मिलेगा.

महिला शिक्षा पर विशेष जोर

उन्होंने कहा कि महिलाएं आज किसी भी मामले में पुरुषों से कमजोर नहीं है. हर क्षेत्र में महिलाएं अपना परचम लहरा रही है. ऐसे में जरूरी है कि महिला शिक्षा को अधिक से अधिक बढ़ावा मिले. झारखंड में कई राज्यों की तुलना में महिलाओं की संख्या का अनुपात ज्यादा है. इस वजह से महिला शिक्षा के लिए व्यवस्था को और मजबूत बनाने की जरूरत है. इस दिशा में सरकार के द्वारा पहल भी की जा रही है. उन्होंने महिला शिक्षा से ही महिला सशक्तीकरण को और मजबूती प्रदान करने पर जोर दिया.

वर्तमान में जॉब ओरिएंटेड कोर्स की है जरूरत

राज्यपाल श्रीमती मुर्मू ने कहा कि आज के परिवेश में रोजगारपरक पाठ्यक्रम की महत्ता सबसे अधिक है. विद्यार्थियों का रुझान वैसे पाठ्यक्रम की ओर ज्यादा है, जो उन्हें रोजगार से जोड़ता है. ऐसे में स्टूडेंट्स की मानसिकता और पसंद को देखते हुए स्कूल और कॉलेज में जॉब ओरिएंटेड कोर्स की पढ़ाई हो. इसके लिए सिलेबस में बदलाव करने पर भी जोर दिया.

कई नये कॉलेज को हो रहा निर्माण

राजपाल ने कहा कि झारखंड में 11 महिला कॉलेज तथा रांची यूनिवर्सिटी के तहत 3 महिला कॉलेज बन रहे हैं. गुमला जिले के घाघरा में एक और सिमडेगा जिले के बानो में एक मॉडल डिग्री कॉलेज खुल रहा है. नये कॉलेज के खुलने से स्टूडेंट्स खासकर छात्राओं को पढ़ाई के लिए और बेहतर सुविधाएं मिल सकेंगी.

महिलाएं बनें सशक्त

उन्होंने महिलाओं को स्वावलंबी बनाने पर भी जोर दिया. साथ ही राज्यपाल श्रीमती मुर्मू ने कहा कि महिलाएं अपनी सुरक्षा खुद करें. इसके लिए जूडो- कराटे, ताइक्वांडों जैसी परंपरागत सुरक्षात्मक कलाएं सीखनी चाहिए. इससे वे मानसिक और शारीरिक दोनों रूप से मजबूत बन सकेंगी. वहीं, बच्चों में नैतिक गुण विकसित करने पर भी जोर दिया. बच्चों को नैतिक शिक्षा भी देना चाहिए, ताकि बेहतर मानव भी बन सके. उन्होंने आप लोकल से वोकल बनें. इससे आप खुद सशक्त बनेंगे और दूसरों को भी आत्मनिर्भर बना पायेंगे. इससे सशक्त राष्ट्र का निर्माण होगा.

कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय स्कूल की सराहना

राज्यपाल श्रीमती मुर्मू ने कहा कि कई कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों में जाने का मौका मिला. आज केजीबीवी में सुविधाएं बढ़ी हैं. इन स्कूलों में पढ़ाई अच्छी हो रही है. रिजल्ट अच्छे हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि झारखंड में बेटा-बेटी में कोई भेदभाव नहीं है. पढ़ाई करने से बेटियां जिंदगी की रास्ता खुद ढूंढ लेंगी.

हॉस्टल का होगा निर्माण

इस मौके पर राज्य के योजना सह वित्त, वाणिज्यकर, खाद्य सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री डाॅ रामेश्वर उरांव ने कहा कि गुमला और लोहरदगा में एक-एक महिला कॉलेज की स्थापना होना खुशी का क्षण है. जिले में साक्षरता दर बढ़ी है. आप शिक्षित होंगे, तो आपकी प्रतिष्ठा बढ़ेगी. माॅडल सिस्टम विकसित होगा. शिक्षक अच्छे एवं समर्पित हों, विद्यार्थी अच्छे हों. यहां पढ़नेवाली छात्राओं को लिए हॉस्टल का निर्माण कराया जायेगा.

महिला शिक्षा के क्षेत्र में हो रहे अहम बदलाव

पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद सुदर्शन भगत ने कहा कि आज महिला शिक्षा के क्षेत्र में बड़ा परिवर्तन जिले में हुआ है. महिला कॉलेज की स्थापना हुई है. ग्रामीण क्षेत्रों में कॉलेज बनने से सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्र की बालिकाओं के लिए शैक्षणिक संस्थान में बढ़ोत्तरी हुई है. शिक्षा के सतत् विकास को बढ़ावा देने के लिए संकल्पित होकर चलने की आवश्यकता है. कार्यक्रम में बिशुनपुर विधायक चमरा लिंडा, रांची यूनिवर्सिटी के कुलपति डाॅ रमेश कुमार पांडेय, प्रति कुलपति डॉ कामिनी कुमार समेत जिला प्रशासन एवं यूनिवर्सिटी के कई पदाधिकारी मौजूद थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें