1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. latehar
  5. one day after opening betla national park closed indefinitely many tourists returned without visiting smj

खुलने के एक दिन बाद ही बेतला नेशनल पार्क हुआ अनिश्चितकालीन बंद, बगैर घूमे लौटे कई टूरिस्ट

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : खुलने के एक दिन बाद ही फिर बंद हुआ बेतला नेशनल पार्क. पर्यटकों में मायूसी.
Jharkhand news : खुलने के एक दिन बाद ही फिर बंद हुआ बेतला नेशनल पार्क. पर्यटकों में मायूसी.
सोशल मीडिया.

Jharkhand news, Latehar news : बेतला (लातेहार) : पलामू टाइगर रिजर्व (Palamu Tiger Reserve) के डिप्टी डायरेक्टर कुमार आशीष के आदेश के बाद एक नवंबर, 2020 को बेतला नेशनल पार्क सैलानियों के लिए खोला गया था. करीब एक दर्जन सैलानी बेतला नेशनल पार्क का भ्रमण भी कर चुके थे. जिनमें 8 पश्चिम बंगाल के एवं 4 पलामू प्रमंडल के थे. लेकिन, दूसरे दिन सोमवार (2 नवंबर, 2020) को दोबारा बेतला नेशनल पार्क (Betla National Park) को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है. बंद होने के कारणों को बताने में विभागीय पदाधिकारी बच रहे हैं.

बताया जा रहा है कि अब तक बेतला नेशनल पार्क के खोले जाने के लिए विभागीय अधिकारियों के द्वारा आदेश प्राप्त नहीं किया गया है. 15 अक्टूबर, 2020 को भी बेतला नेशनल पार्क खोले जाने की बात पीटीआर के डिप्टी डायरेक्टर कुमार आशीष के द्वारा कही गयी थी, लेकिन उस समय भी पार्क को नहीं खोला गया. एक नवंबर, 2020 को भी पार्क उनके आदेश के बाद खोल दिया गया. लेकिन, सोमवार को सुबह 10:00 बजे फिर डिप्टी डॉयरेक्टर बेतला पहुंचकर पर्यटकों के प्रवेश पर रोक लगा दिये.

पार्क बंद हो जाने से बेतला वासियों में मायूसी

बेतला नेशनल पार्क के बंद हो जाने से बेतला वासियों में एक बार फिर मायूसी छा गयी है. बेतला नेशनल पार्क से जुड़े गाइड, वाहन मालिक, होटल संचालकों में बेतला नेशनल पार्क के बंद कर दिये जाने पर सोमवार को बेतला पार्क गेट के समीप अपनी व्यथा को सुनायीं. उनलोगों ने बताया कि पिछले 8 महीने से बेतला नेशनल पार्क के बंद हो जाने से उनके समक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गयी है. लॉकडाउन के कारण किसी भी तरह के रोजगार नहीं मिलने से उनकी आर्थिक स्थिति काफी लचर हो गयी है. उनका घर परिवार बेतला नेशनल पार्क से ही चलता था.

उनलोगों ने कहा कि जब एक नवंबर, 2020 को बेतला नेशनल पार्क खोला गया, तो उनमें इसे लेकर काफी प्रसन्नता थी. उन्हें उम्मीद जगी थी कि अब उनके समक्ष भुखमरी की स्थिति खत्म हो जायेगी. लेकिन, एक बार दोबारा बेतला नेशनल पार्क के बंद हो जाने से उनमें घोर निराशा छा गयी है.

उनलोगों ने बताया कि बेतला नेशनल पार्क में कोरोना संक्रमण को देखते हुए बचाव के लिए कई जरूरी उपाय किये गये थे. इसका अनुपालन गाइड, वाहन मालिकों आदि के द्वारा किया जा रहा था. कहते हैं कि यदि पार्क खुला रहता है, तो वे लोग कोरोना संक्रमण को देखते हुए पूरी तरह से सतर्कता बरतेंगे. बेतला के लोगों ने प्रशासन से बेतला नेशनल पार्क को खोलने की इजाजत देने की मांग की है.

पर्यटकों में बन रही है भ्रम की स्थिति

पलामू टाइगर रिजर्व के क्षेत्र द्वारा बेतला नेशनल पार्क के खोले जाने की बात मीडिया में आने पर कई पर्यटक बेतला पहुंचे, लेकिन सोमवार को जब दोबारा पार्क को बंद पाया, तो वे लोग निराश हुए. पूर्व में भी 15 अक्टूबर को बेतला नेशनल पार्क खोले जाने की बात मीडिया के समक्ष डिप्टी डायरेक्टर के द्वारा कही गयी थी. बताया जा रहा है कि जिला के किसी वरीय पदाधिकारी के हस्तक्षेप के बाद पार्क को बंद कर दिया गया. पर्यटकों ने यह सवाल किया है कि जब आदेश प्राप्त हुआ ही नहीं है, तो बेतला पार्क को खोले जाने की बात क्यों की गयी.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें