1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. latehar
  5. jharkhand news raja medni rai palamu forts historic tourist destination palamu fort will be rejuvenated 350 year old heritage will be preserved this is plan grj

Jharkhand News : पलामू प्रमंडल का ऐतिहासिक पर्यटन स्थल पलामू किले का होगा कायाकल्प, 350 साल पुरानी धरोहर होगी संरक्षित, ये है प्लान

झारखंड के पलामू प्रमंडल के ऐतिहासिक चेरो राजवंश का गौरव पलामू किला का कायाकल्प होगा. इसकी तैयारी शुरू कर दी गयी है. पलामू किले का जीर्णोद्धार और उसके संरक्षण के लिए जिला प्रशासन ने एक कार्ययोजना बनायी है. इसे लेकर मंगलवार (23 फरवरी) को बेतला के गेस्ट हाउस में एक बैठक आयोजित है. इस बैठक में जिला प्रशासन के अधिकारियों के अलावा ऑर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की टीम एवं नीलांबर-पीतांबर विश्वविद्यालय के इतिहास एवं पुरातत्व विभाग के प्रोफेसर शामिल होंगे. उपायुक्त अबु इमरान ने बैठक में शामिल होने के लिए नीलांबर-पीतांबर विश्वविद्यालय प्रबंधन को पत्र लिखा है. वहीं उन्होंने क्षेत्र के मुखिया समेत प्रबुद्धजनों से भी इसमें शामिल होने की अपील की है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News : पलामू किले का मुख्य द्वार
Jharkhand News : पलामू किले का मुख्य द्वार
प्रभात खबर

Jharkhand News, Latehar News, लातेहार (चंद्रप्रकाश सिंह) : झारखंड के पलामू प्रमंडल के ऐतिहासिक चेरो राजवंश का गौरव पलामू किला का कायाकल्प होगा. इसकी तैयारी शुरू कर दी गयी है. पलामू किले का जीर्णोद्धार और उसके संरक्षण के लिए जिला प्रशासन ने एक कार्ययोजना बनायी है. इसे लेकर मंगलवार (23 फरवरी) को बेतला के गेस्ट हाउस में एक बैठक आयोजित है. इस बैठक में जिला प्रशासन के अधिकारियों के अलावा ऑर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की टीम एवं नीलांबर-पीतांबर विश्वविद्यालय के इतिहास एवं पुरातत्व विभाग के प्रोफेसर शामिल होंगे. उपायुक्त अबु इमरान ने बैठक में शामिल होने के लिए नीलांबर-पीतांबर विश्वविद्यालय प्रबंधन को पत्र लिखा है. वहीं उन्होंने क्षेत्र के मुखिया समेत प्रबुद्धजनों से भी इसमें शामिल होने की अपील की है.

पलामू प्रमंडल के पर्यटन स्थलों में ऐतिहासिक पलामू किला चेरो राजवंश की गौरव गाथा का बखान करता बेहतरीन नमूना है. पलामू किला घूमने आने वाले पर्यटकों को तत्कालीन राजा राजवाड़े के सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक व सैन्य शक्ति के परिदृश्य की जानकारी मिलती है. वहीं मुगलकालीन संस्कृति से भी पलामू किला परिचय कराता है. घने जंगलों व पहाड़ियों के बीच कल-कल बहती औरंगा नदी के किनारे प्राकृतिक सौंदर्य से लबरेज पलामू किला अपनी खूबसूरती व कारीगरी का अद्भुत मिसाल है.

खंडहर में तब्दील होती जा रही पलामू किले की तस्वीर
खंडहर में तब्दील होती जा रही पलामू किले की तस्वीर
प्रभात खबर

पलामू-लातेहार जिला के सीमावर्ती इलाके में बेतला नेशनल पार्क से सटा पलामू किला राजा मेदनी राय की स्मृति से जुड़ा है. चेरो वंश के सबसे प्रतापी व लोकप्रिय राजा मेदिनी राय के द्वारा इस किले का निर्माण लगभग 350 वर्ष पहले कराया गया था. इस किले की भव्यता देखते ही बनती है. हालांकि यह किला धीरे-धीरे खंडहर में तब्दील होता जा रहा है. फिर भी इसकी विशालता अभी भी कायम है.

 पलामू किला
पलामू किला
प्रभात खबर

पलामू किला दो भागों में बंटा हुआ है. एक भाग पुराना किला के नाम से प्रसिद्ध है, जो औरंगा नदी के तट पर है. उसी किला से थोड़ी ही दूरी पर पहाड़ी पर एक और किला है जिसे नया किला का नाम दिया गया है. कहा जाता है कि नये किले का निर्माण राजा मेदनी राय के पुत्र प्रताप राय के द्वारा कराया गया था. बेतला में मंगलवार को आयोजित बैठक में इस विरासत को संरक्षित करने को लेकर कई बिंदुओं पर विचार विमर्श किया जायेगा.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें