1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. latehar
  5. jharkhand news national highway authority of india construction of fourlane bypass road in latehar cleared will get rid of traffic jam travel to bihar uttar pradesh madhya pradesh and chhattisgarh will be easy grj

Jharkhand News : लातेहार में फोरलेन बाइपास रोड के निर्माण का रास्ता साफ, ट्रैफिक जाम से मिलेगी मुक्ति, बिहार एवं यूपी का सफर होगा आसान

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News : लातेहार में फोरलेन बाइपास रोड के निर्माण का रास्ता साफ
Jharkhand News : लातेहार में फोरलेन बाइपास रोड के निर्माण का रास्ता साफ
प्रभात खबर

Jharkhand News, Latehar News, लातेहार (आशीष टैगोर) : लातेहार शहर में नयी बाइपास सड़क के निर्माण का रास्ता अब लगभग साफ हो चुका है. फोरलेन बाइपास सड़क निर्माण के लिए शीघ्र ही भूमि के अधिग्रहण का कार्य प्रारंभ किया जायेगा. भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, रांची के प्रबंधक ने बताया कि लातेहार में बाइपास सड़क का निर्माण एनएच-75 के दूसरे पैकेज (किलोमीटर 95.400 से किलोमीटर 145.450) के अंतर्गत पड़ता है. पैकेज-एक में (कुड़ू-उदयपुरा) के बीच घने जंगल व कोयले की खान होने की वजह से दोनो पैकेजों का संरेखण निर्धारित नहीं हो पाया है. गौरतलब हो कि लातेहार से हो कर बिहार, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश व छत्तीसगढ़ के लिए प्रतिदिन सैकड़ों बड़े-छोटे वाहनों का आवागमन होता है. इन्हें जाम में मुक्ति मिलेगी.

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, रांची के प्रबंधक ने बताया कि सचिव से बातचीत के बाद संरेखण अब लगभग निर्धारित हो चुका है. दोनों पैकजों के तहत (किलोमीटर 55.00 से किलोमीटर 147.450) तक सड़क को चार लेन में परिवर्तन के लिए आवश्यक भू-अर्जन कार्य शीघ्र ही प्रारंभ किया जायेगा. पैकेज-दो में ही लातेहार में बाइपास सड़क का निर्माण कार्य प्रस्तावित है. 19 जनवरी 2021 को नगर पंचायत अध्यक्ष सीतामनी तिर्की ने केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को एक पत्र भेज कर लातेहार में उदयपुरा से होटवाग तक (भाया ललमटिया-इचाक) बाइपास सड़क निर्माण कराने की मांग की थी.

श्रीमती तिर्की के द्वारा किये गये पत्राचार के बाद संबंधित मंत्रालय ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, रांची से लातेहार में बाइपास निर्माण के संबंध में रिपोर्ट मांगी थी. गौरतलब हो कि लातेहार से हो कर बिहार, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश व छत्तीसगढ़ के लिए प्रतिदिन सैकड़ों बड़े-छोटे वाहनों का आवागमन होता है. जब से रांची-मेदिनीनगर पथ को राष्ट्रीय उच्च पथ का दर्जा दिया गया है, इस पथ पर वाहनों का अत्यधिक दबाव बढ़ गया है. शहर का मुख्य पथ काफी संकीर्ण होने के कारण वाहनों के आवागमन में काफी परेशानी होती है. हालांकि वैकल्पिक व्यवस्था के तहत शहर के धर्मपुर से रेलवे स्टेशन रोड तक बनी पुरानी बाइपास सड़क से यात्री व मालवाहक वाहनों का परिचालन कराया जा रहा है. बावजूद इसके शहरवासियों को प्रतिदिन सड़क जाम का सामना करना पड़ता है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें