1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. latehar
  5. human trafficking 31 girls were being taken 1700 km away for job by putting their lives at risk jharkhand police rescued in latehar district mtj

Human Trafficking: 31 लड़कियों की जान जोखिम में डालकर बस में भरकर नौकरी के लिए ले जा रहे थे 1700 किमी दूर

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Human Trafficking: इसी बस में भरकर नौकरी के नाम पर लड़कियों को चेन्नई ले जा रहे थे मानव तस्कर.
Human Trafficking: इसी बस में भरकर नौकरी के नाम पर लड़कियों को चेन्नई ले जा रहे थे मानव तस्कर.
Md. Shamim

Human Trafficking: बालूमाथ (मो शमीम) : नौ नाबालिग समेत झारखंड की 31 लड़कियों को बस में भरकर नौकरी दिलाने के नाम पर उनकी जाम जोखिम में डालकर 1700 किलोमीटर दूर चेन्नई ले जाया जा रहा था. लातेहार जिला की पुलिस को समय रहते इसकी सूचना मिल गयी और बालूमाथ में बस को रोककर लड़कियों को संदिग्ध मानव तस्करों के चंगुल से मुक्त करा लिया. तमिलनाडु की बस को जब्त भी कर लिया है. दक्षिण भारतीय दोनों ड्राइवर न हिंदी समझ पा रहे हैं, न बोल पा रहे हैं. इसलिए दोनों से पूछताछ करने में काफी दिक्कतें आ रही हैं.

लातेहार जिला के बालूमाथ थाना क्षेत्र के डाढा ग्राम के नावाबांध से बालूमाथ थाना पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर एक बस (टीएन-49एएम-9633) में सवार 31 लड़कियों को मानव तस्करी (ह्यूमन ट्रैफिकिंग) से बचा लिया. जानकारी के अनुसार, बुधवार को सभी लड़कियों को धागा मिल में नौकरी का लालच देकर झारखंड से तमिलनाडु ले जाया जा रहा था. इन लड़कियों में नौ नाबालिग हैं.

पता चला है कि लातेहार, लोहरदगा, रांची और सिमडेगा जिलों से लड़कियों को तमिलनाडु के कृष्णा कपड़ा मिल ले जाया जा रहा था. पुलिस ने बस को रुकवाने के बाद सभी लड़कियों को बाहर ले जाने का परमिट या निबंधन की कोई कॉपी चालक और उप चालक से मांगी, तो वह कोई भी कागजात पेश कर पाने में असमर्थ रहा.

पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला है कि बालूमाथ का शिवा उरांव नामक व्यक्ति इन सभी लोगों को तमिलनाडु ले जा रहा था. शिवा उरांव ने सभी लड़कियों से कहा था कि उन्हें नौ-नौ हजार रुपये प्रति माह वेतन मिलेंगे. पुलिस ने चालक और उप चालक को हिरासत में लिया है. बरामद हुई सभी लड़कियो को स्थानीय कस्तूरबा विद्यालय में रखा गया है.

Human Trafficking: कथित तौर पर मानव तस्करों के चंगुल से मुक्त करायी गयी लड़कियों को कस्तूरबा गांधी स्कूल में रखा गया है.
Human Trafficking: कथित तौर पर मानव तस्करों के चंगुल से मुक्त करायी गयी लड़कियों को कस्तूरबा गांधी स्कूल में रखा गया है.
Md Shamim

क्या कहते हैं अधिकारी

बालूमाथ के अंचल अधिकारी रवि कुमार ने कहा कि लातेहार, लोहरदगा, रांची व सिमडेगा सहित कई जिलों से लड़कियों को तमिलनाडु के कृष्णा कपड़ा मिल ले जाया जा रहा था. इनमें नौ नाबालिग लड़कियां भी हैं. बस चालक के पास से लड़कियों को ले जाने का कोई परमिट नहीं था. पुलिस की प्रारंभिक जांच में पता चला है कि बालूमाथ का ही शिवा उरांव नामक व्यक्ति इन लड़कियों को बाहर ले जा रहा था. फिलहाल शिवा पुलिस की गिरफ्त से बाहर है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें