1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. kodarma
  5. union minister stopped fly ash laden haiwa spreading pollution on the roads directed the koderma dc to take action smj

सड़कों पर प्रदूषण फैला रहे फ्लाई ऐश लदे हाइवा को केंद्रीय मंत्री ने रोका,कोडरमा DC को कार्रवाई का निर्देश

कोडरमा की सड़कों पर फ्लाई ऐश गिराते और प्रदूषण फैलाते हुए चल रहे हाइवा को केंद्रीय राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी ने पकड़ा. सड़कों पर फ्लाई ऐश से धूल के गुब्बार उड़ने परेशान लोगों की शिकायत पर केंद्रीय मंत्री ने कार्रवाई की. साथ ही डीसी को कार्रवाई का निर्देश भी दिया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news: सड़कों पर उतरी केंद्रीय मंत्री अन्नपूर्णा देवी. अधिकारियों को दिये निर्देश.
Jharkhand news: सड़कों पर उतरी केंद्रीय मंत्री अन्नपूर्णा देवी. अधिकारियों को दिये निर्देश.
प्रभात खबर.

Jharkhand news: कोडरमा जिला अंतर्गत बांझेडीह पावर प्लांट के ऐश पांड से फ्लाई ऐश लोड कर चलने वाले वाहनों से हो रही परेशानी को लेकर रविवार को केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी मुखर दिखीं. कोडरमा से बरही की ओर जा रही मंत्री ने जब रांची-पटना रोड पर धूल का गुब्बार उड़ता देखा, तो उन्हें परेशानी समझ में आयी. ऐसे में वह गुमो से वापस शहर के सुभाष चौक पर पहुंची और ऐश की ढुलाई कर ले जा रहे हाइवा वाहनों को खुद रोक दिया. केंद्रीय मंत्री के द्वारा सड़क पर इस तरह वाहन रोके जाने की सूचना के बाद प्रशासनिक महकमे से लेकर ऐश ढुलाई करने वाली कंपनी के प्रतिनिधियों के बीच हड़कंप मच गया. सूचना पर तुरंत बाद एसडीओ मनीष कुमार पूरे प्रशासनिक अमले के साथ मौके पर पहुंचे व ऐश लदे वाहनों पर ठोस कार्रवाई करने की बात कही. इसके बाद अन्नपूर्णा बरही के लिए रवाना हो गई.

Jharkhand news: कोडरमा की सड़कों पर फ्लाई ऐश के गिरने से धूल का उड़ता गुब्बार.
Jharkhand news: कोडरमा की सड़कों पर फ्लाई ऐश के गिरने से धूल का उड़ता गुब्बार.
प्रभात खबर.

ऐश लोड वाहनों को चिह्नित कर ब्लैक लिस्टेड की हो रही तैयारी

इस मामले को लेकर रविवार को दिनभर परिवहन विभाग के पदाधिकारी रेस दिखे. घंटों ऐश लदे वाहनों की धर-पकड़ के लिए जांच अभियान चला. हालांकि, जांच की सूचना आम होने पर ऐश लोड हाइवा के चालक जहां-तहां वाहन लगा कर भागने में सफल रहे. टीम ने ऐसे सभी वाहनों को चिह्नित किया है. सभी को ब्लैक लिस्टेड करने की तैयारी चल रही है.

क्या है पूरा मामला

जानकारी के अनुसार, डीवीसी के बांझेडीह स्थित पावर प्लांट से निकलने वाले ऐश को पिछले कुछ वर्षों से बिहार के विभिन्न जगहों पर भेजे जाने के अलावा जिले में बंद पड़े कुछ खदानों में भरा जा रहा है. इसके लिए ऐश लोड वाहन प्लांट एरिया से निकलकर चंदवारा, झुमरीतिलैया और कोडरमा होते हुए कभी डोमचांच तो कभी अन्य जगह पर जाते हैं. अक्सर हाइवा एवं अन्य वाहनों पर ओवरलोड ऐश लदे होने के कारण यह सड़क पर गिरता रहता है. यही नहीं अच्छे से ढका नहीं होने के कारण ऐश सड़क पर गिरता है, तो यह वाहनों के चलने से धूल बन कर राहगीरों के लिए परेशानी का सबब बन जाता है. इस वजह से आये दिन हादसे भी होते रहते हैं.

केंद्रीय मंत्री ने रुकवाया वाहन और डीसी को कार्रवाई का दिया निर्देश

पूर्व में भी इस मामले को लेकर लोग विरोध करते रहे हैं. प्रशासनिक महकमा कभी- कभार जुर्माना लगा कर शांत हो जाता है. यह मामला कोडरमा के लिए बड़ा बन गया था. इसी बीच सांसद सह केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री जब रविवार सुबह करीब 10 बजे अपने वाहन से बरही जाने के लिए निकली, तो सड़क पर की स्थिति देख हैरान रह गई. उन्होंने समस्या को समझते हुए खुद ऐश लदे वाहनों को रोका और डीसी आदित्य रंजन को फोन पर सूचित करते हुए कार्रवाई करने की बात कही.

मंत्री को वाहन रोकते देख चालक हुए फरार, विधायक भी पहुंची

सुभाष चौक पर मंत्री अन्नपूर्णा देवी को खुद वाहन रोकते देख ऐश लोड तीन हाइवा के चालक वाहनों को सड़क किनारे लगा फरार हो गये. सूचना पर एसडीओ मनीष कुमार, एमवीआई विजय गौतम, सीओ अनिल कुमार, सड़क सुरक्षा के हिमांशु कुमार आदि पहुंचे. एसडीओ ने तुरंत ठोस कार्रवाई करने की बात कही. मंत्री के जाने के बाद प्रशासनिक टीम केडिया धर्मकांटा के पास पहुंचा और जांच शुरू की, पर अधिकतर वाहन जहां-तहां खड़े हो गये. एक वाहन को टीम ने यहां जब्त किया. वहीं, चंदवारा में भी एक वाहन को जब्त किया गया. जांच में चंदवारा सीओ रामरत्न वर्णवाल भी शामिल थे.

विधायक डॉ नीरा यादव भी पहुंची बाईपास रोड

इधर, विधायक डॉ नीरा यादव भी शहर के बाईपास रोड पहुंची और जांच कर रहे एसडीओ को ठोस कार्रवाई करने की बात कही. डॉ यादव ने कहा कि नियम विरुद्व ऐश ढुलाई की वजह से लोगों की आंखें खराब हो रही है. जीना मुश्किल हो गया है. कंपनी बख्तर बंद वाहन में ऐश की ढुलाई करे तो कोई आपत्ति नहीं है, पर खुले वाहनों में वह भी ओवरलोड ढुलाई बर्दाश्त नहीं की जायेगी. अगर कोडरमा की ओर ऐसे वाहन दिखे तो बर्दाश्त नहीं होगा.

रूट बदलने पर विचार कर रहा प्रशासन, मॉनिटरिंग के लिए बनेगा एप

डीसी आदित्य रंजन ने बताया कि भविष्य में नियमों को ताक पर रखकर किसी भी संवेदक को एेश की ढुलाई करने नहीं दिया जायेगा. साथ ही अगर कोई व्यक्ति ऐसा करते हुए पाया गया, तो उसपर नियमसंगत कार्रवाई होगी. भविष्य में इस तरह की शिकायत ना हो इसके लिए संवेदक एवं अन्य संबंधित लोगों तथा अधिकारियों के साथ बैठक की जाएगी. मुख्य सड़क से ऐश ढुलाई रोकने को लेकर वैकल्पिक रूट को लेकर भी विचार होगा. साथ ही ऐश लदे वाहनों व संबंधित कंपनी के कार्यों की मॉनिटरिंग के लिए ऐप बनाया जायेगा. वहीं, एसडीओ ने बताया कि भविष्य में डस्ट से बचाव के लिए वाहन जो पानी के छिड़काव के लिए इस्तेमाल में आते हैं, उनकी संख्या बढ़ाई जायेगी. साथ ही साफ-सफाई के लिए गाड़ियों को भी बढ़ाया जायेगा.

Posted By: Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें