1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. kodarma
  5. two scorched by 11 thousand volts wires falling on the road people blocked the nawada deoghar road in protest smj

11 हजार वोल्ट के तार सड़क पर गिरने से दो झुलसे, विरोध में लोगों ने नवादा- देवघर रोड को किया जाम

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
11 हजार वोल्ट के तार की चपेट में आकर झुलसने से लोगों ने नवादा- देवघर रोड को 5 घंटे रखा जाम.
11 हजार वोल्ट के तार की चपेट में आकर झुलसने से लोगों ने नवादा- देवघर रोड को 5 घंटे रखा जाम.
प्रभात खबर.

Jharkhand News, Koderma News, सतगांवा (कोडरमा न्यूज) : कोडरमा जिला अंतर्गत सतगांवा थाना क्षेत्र के बासोडीह में मरचोई मोड़ के समीप सोमवार को बिजली तार की चपेट में आने से दो व्यक्ति झुलस गये. घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने नवादा- देवघर रोड को जाम कर दिया. टायर जलाकर बीच सड़क पर लोग घंटों जमे रहे. हालांकि, बाद में पहुंचे अधिकारियों ने लोगों को आश्वासन देकर करीब पांच घंटे बाद सड़क जाम हटाया. गंभीर रूप से झुलसे शिव बालक को बेहतर इलाज के लिए रिम्स रांची रेफर किया गया है.

सोमवार को सतगांवा थाना क्षेत्र के मरचोई मोड़ के समीप 11 हजार वोल्ट के तार सड़क पर गिरने से उसकी चपेट में दो लोग आ गये. इस दौरान झुलसे लोगों की पहचान नावाडीह पंचायत अंतर्गत बाद निवासी शिवबालक सिंह (40 वर्ष) पिता मुनेश्वर सिंह और रामवृक्ष राजवंशी (32 वर्ष) पिता सुकी राजवंशी के रूप में हुई है. इसमें से शिव बालक सिंह की स्थिति काफी गंभीर है.

जानकारी के अनुसार, शिव बालक सिंह अपने गांव के रामवृक्ष राजवंशी को साथ लेकर साइकिल से अपनी मां के श्राद्ध का सामग्री खरीदने आया था. उसकी मां का निधन 8 दिन पहले हुआ था. उसी ने मां को मुखाग्नि दी है और कर्ता बना हुआ है. दोनों साइकिल पर सवार होकर बासोडीह बाजार जा रहे थे. इसी बीच मरचोई मोड़ के समीप पहुंचते ही 11 हजार वोल्ट का तार सड़क पर गिर गया. जिसके चपेट में शिव बालक और रामवृक्ष राजवंशी आ गये.

इधर, दोनों घायलों को ग्रामीणों ने एक विद्यालय की गाड़ी से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सतगांवा पहुंचाया. यहां प्राथमिक उपचार के बाद स्थिति गंभीर देखते हुए शिव बालक सिंह को कोडरमा सदर रेफर कर दिया गया. वहीं, आक्रोशित ग्रामीणों ने मरचोई मोड़ को जाम भी कर दिया.

जाम की सूचना पाकर बीडीओ बैद्यनाथ उरांव एवं थाना प्रभारी श्याम लाल यादव घटनास्थल पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीण अड़े रहे. लोग घायलों का उचित इलाज और जर्जर बिजली तार को बदलने की मांग पर अड़े थे.

जाम स्थल पर बिजली विभाग के अस्सिटेंड इंजीनियर अभिषेक कुमार, जूनियर इंजीनियर उज्जवल तिवारी और विजय सिंह भी पहुंचे और आश्वासन दिया कि घायलों के इलाज एवं पीड़ित परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन दिया. साथ ही बिजली तार को जल्द बदलने की बात कही.

सुबह 9 बजे से लगा जाम दोपहर करीब 2 बजे खत्म हुआ. जाम का नेतृत्व राजकुमार यादव, चंद्रिका यादव के द्वारा किया गया. मौके पर इंस्पेक्टर आरएन ठाकुर, ढाब थाना प्रभारी आनंद मोहन, सांसद प्रतिनिधि विनोद यादव, जिप सदस्य भुनेश्वर राम, नावाडीह मुखिया नंदलाल प्र. यादव, खुट्टा मुखिया मथुरा प्र. यादव, टेहरो मुखिया नरेश प्र. यादव, एसआई एकराम खान, मुकेश यादव, चंद्रदेव सिंह आदि उपस्थित थे.

सोमवार को लगता है हटिया, बड़ी घटना टली

घटना का मुख्य कारण सतगांवा में पिछले 32 वर्षों से लगा बिजली तार है. लोगों के अनुसार, तार जर्जर होने की वजह से कई बार गिर चुका है, जिससे कई घटनाएं घट चुकी हैं, लेकिन आज तक पुराने बिजली तार पर ही सतगांवा की बिजली आपूर्ति टिकी हुई है. जर्जर तार की वजह से दिन-ब-दिन घटनाएं बढ़ती जा रही है. सोमवार को बासोडीह में हाट बाजार लगता है. अगर दोपहर के समय यह हादसा होता, तो नुकसान कई लोगों का हो सकता था. इधर, गंभीर रूप से झुलसे शिव बालक के परिजन घटना के बाद खासे परेशान हैं. शिव बालक मां के निधन के बाद कर्ताधर्ता बना हुआ था. अब बीच में उसके अस्पताल चले जाने से परिवार वालों के समक्ष दोहरा संकट खड़ा हो गया है. वहीं, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें