1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. kodarma
  5. jharkhand cyber crime news online fraudster arrested by mathura by creating fake facebook id of officers learn modus operandi of accused smj

Jharkhand Cyber Crime News : अधिकारियों का फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर ऑनलाइन ठगी करने वाला मथुरा से गिरफ्तार, जानें आरोपी की मोडस ऑपरेंडी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
झारखंड समेत अन्य राज्यों के अधिकारियों से ऑनलाइन ठगी करने का आरोपी साहिब यूपी के मथुरा से गिरफ्तार.
झारखंड समेत अन्य राज्यों के अधिकारियों से ऑनलाइन ठगी करने का आरोपी साहिब यूपी के मथुरा से गिरफ्तार.
प्रभात खबर.

Jharkhand Cyber Crime News, Koderma News, कोडरमा न्यूज : झारखंड समेत कई राज्यों के बड़े पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों के नाम का फर्जी सोशल मीडिया अकाउंट (फेसबुक आईडी) बनाकर ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह के सदस्य को पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. गिरफ्तार आरोपी साहिब पिता समां खां उत्तरप्रदेश के मथुरा जिला अंतर्गत कोसीकला उटावर नागला का रहने वाला है. मामले में गिरोह के दो अन्य सदस्यों को पुलिस तलाश रही है. इनकी गिरफ्तारी को लेकर प्रयास किया जा रहा है, जबकि गिरफ्तार साहिब को पूछताछ के बाद सोमवार को जेल भेज दिया गया.

पिछले महीने कोडरमा के डीसी रमेश घोलप, एसपी डाॅ एहतेशाम वकारीब के निजी फेसबुक आईडी से मिलता-जुलता फर्जी सोशल मीडिया अकाउंट बनाकर मैसेंजर के जरिये लोगों से पैसे की मांग की जा रही थी. हालांकि, समय रहते इसकी जानकारी अधिकारियों को मिलने पर दोनों ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से इस तरह की ठगी से बचने की अपील जारी की थी. इस घटना के बाद तिलैया थाना में आईटी एक्ट व अन्य धाराओं के तहत थाना कांड संख्या 56/21 दर्ज किया गया था.

केस दर्ज होने के बाद एसपी के निर्देश पर विशेष टीम मामले की जांच कर रही थी. जांच के क्रम में सुराग मिलने पर टीम मथुरा गयी और वहां से साहिब को हिरासत में लेकर पूछताछ के लिए कोडरमा पहुंची. यहां पूछताछ के दौरान आरोपी ने अपने बयान में बताया कि वह हाल के कई वर्षों से इस तरह का काम कर रहा है.

पूछताछ में यह बात सामने आयी कि उसने कोडरमा एसपी के अलावा महाराष्ट्र पुलिस के एक बड़े अधिकारी व अन्य का भी फर्जी सोशल मीडिया अकाउंट बनाकर ठगी का प्रयास कर चुका है. कोडरमा एसपी डाॅ एहतेशाम वकारीब ने बताया कि आरोपी के पास से दो मोबाइल, बैंक से जुड़े दस्तावेज व अन्य सामान बरामद किये गये हैं.

आरोपी के बैंक खाता का स्टेटमेंट देख प्रतीत होता है कि इसके माध्यम से माह में तीन से चार लाख तक का ट्रांजेक्शन होता था. वह लगातार इस तरह फर्जी अकाउंट बनाकर ठगी का प्रयास करता था. उन्होंने लोगों से सोशल मीडिया के जरिए की जाने वाली भ्रामक अपील, बैंक खाता की जानकारी आदि देने से बचने की बात कही.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें