1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. kodarma
  5. jharkhand crime news skeleton of koderma youth found missing for one and a half month recovered from forest of dangra pahar smj

Jharkhand Crime News : डेढ़ माह से लापता कोडरमा के युवक का कंकाल बरामद, डंगरा पहाड़ के जंगल से हुई बरामदगी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : कोडरमा के डंगरा पहाड़ स्थित जंगल से लापता युवक दीपू का कंकाल पुलिस ने किया बरामद.
Jharkhand news : कोडरमा के डंगरा पहाड़ स्थित जंगल से लापता युवक दीपू का कंकाल पुलिस ने किया बरामद.
फाइल फोटो.

Jharkhand Crime News, Koderma News, कोडरमा न्यूज : कोडरमा जिला के डंगरा पहाड़ RIT के पीछे स्थित जंगल से बुधवार को कोडरमा थाना पुलिस ने एक युवक का कंकाल बरामद किया. जंगल में कंकाल मिलने की खबर से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी. कंकाल होने की खबर मिलते ही थाना प्रभारी द्वारिका राम दलबल के साथ घटनास्थल पहुंचे और पूरे मामले की जानकारी ली. पुलिस ने बरामद कंकाल का पोस्टमार्टम के लिए सदर हॉस्पिटल लाया, जहां उसकी पहचान करीब डेढ़ माह से ज्यादा समय से लापता करमा निवासी युवक के रूप में की गयी.

कोडरमा थाना की पुलिस ने डंगरा पहाड़ स्थित RIT के पीछे जंगल से करमा निवासी दीपू का कंकाल बरामद किया है. दीपू पिछले डेढ़ महीने से लापता था. दीपू का कंकाल मिलते ही पूरे क्षेत्र में सनसनी फेल गयी. पुलिस बरामद कंकाल को पोस्टमार्टम के लिए सदर हॉस्पिटल भेज दिया. वहीं, मामले की तफ्तीश में जुटी है.

मामले की जानकारी देते हुए थाना प्रभारी द्वारिका राम ने बताया कि जंगल जा रहे ग्रामीणों ने कंकाल होने की सूचना दी. इसके बाद घटनास्थल पहुंचकर मामले की जांच की गयी. छानबीन के क्रम में पता चला कि उक्त कंकाल 17 जनवरी से लापता चल रहे करमा निवासी 20 वर्षीय दीपक कुमार उर्फ दीपू पिता प्रेमचंद यादव की है. इसकी पुष्टि के लिए दीपक कुमार के परिजनों को बुलाया गया, जहां उन्होंने उक्त कंकाल दीपक कुमार की होने की बात कही. उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम कर कंकाल रूपी शव को उसके परिजनों को सौंप दिया जायेगा.

मालूम हो कि करमा निवासी दीपक कुमार उर्फ दीपू गत 17 जनवरी से लापता था. इसको लेकर तिलैया थाना में उसके भाई पिंटू कुमार यादव ने लिखित आवेदन देकर सनहा दर्ज कराया था. आवेदन में कहा गया था कि उसका भाई 17 जनवरी की सुबह करीब 8 बजे घर से निकला, पर वापस नहीं आया. उसकी काफी खोजबीन की गई, पर पता नहीं चला.

आवेदन में दीपू को पूर्व में वर्ष 2016 में अगवा किये जाने की भी बात कही गयी थी. बताया गया था कि उस समय कुछ लोग उसे उठाकर बरही की तरफ ले गये थे, पर बाद में वह वापस आ गया था. इस बार उसकी जानकारी नहीं मिल पा रही थी. ऐसे में संभावना है कि उसकी हत्या कर इस बार शव को जंगली क्षेत्र में फेंक दिया गया.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें