1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. kodarma
  5. je death of building division in koderma allegations of negligence by administrative and health department sam

कोडरमा में भवन प्रमंडल के जेई की मौत, प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का लगा आरोप

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
प्रतीकात्मक तस्वीर.
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Coronavirus in Jharkhand : कोडरमा : कोडरमा जिले में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ रहे मामलों के साथ ही लापरवाही की भी घटनाएं सामने आ रही है. कोडरमा में प्रशासनिक एवं स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से बुधवार को भवन प्रमंडल के एक कनीय अभियंता (Junior Engineer) की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो गयी. गत 31 अगस्त को झुमरीतिलैया ब्लॉक मैदान में लगे जांच शिविर में अपनी कोरोना जांच करायी थी. इस जांच में उन्हें कोरोना संक्रमित पाया गया था. इसके बावजूद उन्हें कोविड केयर अस्पताल में भर्ती करने की जगह उन्हें घर भेज दिया गया. इसी बची जेई की तबीयत खराब होने लगी. परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग से संपर्क कर केयर सेंटर में भर्ती को लेकर गुहार लगाते रहे, पर किसी ने सुध नहीं ली. परेशान होकर जेई अपने एक रिश्तेदार के साथ उचित इलाज के लिए रांची जा रहे थे. रास्ते में बरही के पास उनकी मौत हो गयी.

बताया जाता है कि 54 वर्षीय कनीय अभियंता को 1 से 31 अगस्त, 2020 तक चंदवारा के बांझेडीह जाने वाली फोरलेन सड़क के पास चेक पोस्ट पर बतौर दंडाधिकारी प्रतिनियुक्त किया गया था. प्रतिनियुक्तित अवधि समाप्त होने एवं 31 अगस्त को ही विशेष जांच शिविर आयोजित होने की वजह से कनीय अभियंता ने झुमरीतिलैया ब्लॉक मैदान में लगे शिविर में अपनी कोरोना जांच करायी थी. उक्त जांच में उन्हें संक्रमित बताया गया था.

31 अगस्त को जेई को यह कहकर घर वापस भेज दिया गया था कि जिला स्तर से आपको फोन कर कोविड केयर में भर्ती लिया जायेगा. इस दिन के बाद से उक्त जेई अपने घर पर ही था. आरोप सामने आया है कि जेई की तबीयत खराब होने पर परिजन स्वास्थ्य विभाग से संपर्क कर केयर सेंटर में भर्ती को लेकर गुहार लगाते रहे, पर यह हो नहीं सका. परेशान होकर जेई अपने एक रिश्तेदार के साथ उचित इलाज के लिए रांची जा रहे थे. लेकिन, रास्ते में बरही के पास मौत हो गयी.

इधर, संक्रमित मिलने के 2 दिन बाद तक जेई को कोविड केयर सेंटर में भर्ती नहीं लिए जाने के सवाल पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ रंजीत कुमार ने बताया कि यह जिला स्तर का मामला है. परिजनों ने किससे संपर्क साधा भी या नहीं यह मुझे जानकारी नहीं है, पर जहां तक बात सामने आयी है, उसके अनुसार उक्त जेई पहले से ही लीवर की समस्या से ग्रसित थे. जांच शिविर में उन्होंने खुद को कुछ भी तकलीफ नहीं होने की बात कही थी. ऐसे में किसी की परेशानी को तब तक कैसे समझा जा सकता है जब तक उक्त व्यक्ति जानकारी नहीं देगा.

कोविड केयर नहीं ले जाये जा रहे संक्रमित, परेशानी

जिले में शिविर लगाकर लगातार हो रही जांच संक्रमितों की संख्या अचानक बढ़ गयी है. ऐसे में उन संक्रमितों को जिन्हें कोई प्रारंभिक लक्षण नहीं है उन्हें घर पर ही आइसोलेट रहने को कहा जा रहा है. समय व वाहन, सेंटर में बेड की सुविधा की सहूलियत को देखने के बाद ऐसे लोगों को सेंटर में शिफ्ट किया जा रहा है. स्वास्थ्य विभाग की जानकारी के अनुसार, जिले में मात्र तीन 108 एंबुलेंस हैं, जिनसे कोविड मरीजों को शिफ्ट किया जाता है, पर 2 दिनों के अंदर 200 से ज्यादा संक्रमित मिलने की वजह से शिफ्ट करने में थोड़ी परेशानी हो रही है. गुरुवार तक सभी को सेंटर में शिफ्ट कर दिया जाएगा.

जिले में 19 नये संक्रमित

जिले में कोरोना संक्रमण का मामला लगातार बढ़ रहा है. बुधवार को 19 नये मामले सामने आये. बताया जाता है कि रैपिड एंटीजन टेस्ट किट से अलग-अलग जगहों पर हुई जांच में 10 और ट्रूनेट मशीन से हुई जांच में 9 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई. उच्च विद्यालय, कोडरमा में शिविर लगाकर शिक्षकों एवं उनके परिजनों सहित अन्य को मिलाकर कुल 141 लोगों की जांच में 4 संक्रमित मिले. वहीं, अदालत परिसर में 40 लोगों की जांच में सभी की रिपोर्ट निगेटिव आयी. सदर अस्पताल के आइसोलेशन में 62 लोगों की जांच में 6 संक्रमित मिले.

88 वर्षीय बुजुर्ग समेत 54 लोग हुए स्वस्थ

कोरोना संक्रमण को मात देकर 88 वर्षीय बुजुर्ग बुधवार को विशेष कोविड अस्पताल होली फैमिली से निकले. इसके अलावा कोविड केयर सेंटर एवं विशेष कोविड अस्पताल में इलाजरत कोरोना संक्रमित 54 लोगों के बुधवार को स्वस्थ होने पर घर भेजे गये. जानकारी के अनुसार, डोमचांच नगर पंचायत क्षेत्र के आईटीआई कॉलेज में बनाये गये कोविड केयर सेंटर से 40 मरीजों को आर-वन जांच रिपोर्ट निगेटिव आने पर छुट्टी दी गयी. नोडल पदाधिकारी डॉ पी मिश्रा ने स्वस्थ हुए लोगों को अगले 14 दिन तक होम कोरेंटिन में रहने का निर्देश दिया. साथ ही मास्क पहनने एवं सोशल डिस्टैंसिंग का ध्यान रखने को कहा. मौके पर डॉ उमेर आलम, डॉ विश्वनाथ विपुल, रूपेश कुमार, दिलीप साव, सतीश यादव, राजकुमार रविदास आदि मौजूद थे.

वहीं, विशेष कोविड अस्पताल होली फैमिली में आर-वन जांच रिपोर्ट निगेटिव आने पर 14 लोगों को सम्मानपूर्वक घर भेजा गया. नोडल पदाधिकारी सह एसीएमओ डाॅ एबी प्रसाद ने सभी की हौसला आफजाई की. साथ ही अगले 14 दिनों तक होम कोरेंटिन में रहने को कहा. मौके पर डॉ अलफो, सिस्टर सुषमा, विनीता व अन्य मौजूद थे.

316 लोगों का लिया गया सैंपल

इधर, जिले में कोरोना वायरस की जांच को लेकर बुधवार को 316 लोगों का स्वाब सैंपल लिया गया. उक्त जानकारी एसीएमओ डाॅ एबी प्रसाद ने दी है. उन्होंने बताया कि सदर अस्पताल स्थित फ्लू कॉर्नर में 30 लोगों की स्क्रीनिंग भी की गयी है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें