1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. kodarma
  5. coronavirus jharkhand news covid 19 corrosion from corona kodarma news jharkhand hindi news prt

Coronavirus : कम संसाधन में भी कोरोना से जंग में मिला बेहतर रिजल्ट- डीसी

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
कम संसाधन में भी कोरोना से जंग में मिला बेहतर रिजल्ट
कम संसाधन में भी कोरोना से जंग में मिला बेहतर रिजल्ट
file

कोडरमा : जिला प्रशासन ने कम संसाधन में भी कोरोना के खिलाफ जारी जंग में बेहतर परिणाम हासिल किया है. कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं. जल्द-से-जल्द कोरोना मरीजों की पहचान कर इलाज शुरू करने पर फोकस किया गया. अब तक 58,791 संदिग्ध मरीजों का सैंपल लिया गया है, जिसमें 2695 लोग कोरोना से संक्रमित मिले. इसमें पुरुष संक्रमितों की संख्या 1965 व महिला रोगियों की संख्या 730 है. इनमें से 2313 लोग कोरोना से स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं.उक्त बातें डीसी रमेश घोलप ने समाहरणालय में आयोजित प्रेस वार्ता में कही. डीसी ने कहा कि प्रशासनिक और स्वास्थ्य विभाग की तत्परता से पॉजिटिव रेट में कमी आयी है.

मुख्य बातें :- 

  • अब तक 58,791 लोगों की हो चुकी है जांच 2695 लोग मिल चुके हैं संक्रमित

  • 2313 लोग कोरोना संक्रमण से स्वस्थ होकर जा चुके हैं घर

जिले में पॉजिटिव केसों का प्रतिशत 4.5 है. कोरोना टेस्ट के मामले में कोडरमा पूरे राज्य में अव्वल है. रिकवरी रेट की बात करें तो जिले में इसका प्रतिशत 85 है, जो राज्य के अन्य जिलों से बेहतर है. डीसी ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा समय समय पर चलाये गये जागरूकता अभियान से भी हमें काफी लाभ हुआ. इससे लोग जागरूक हुए जिसके कारण बुजुर्गों व बच्चों में पॉजिटिव दर में कमी देखी गयी.

विशेष कोविड कैंप में दिखी जागरूकता : डीसी ने बताया कि कोरोना मरीजों की पहचान के लिए समय समय पर जिले के विभिन्न जगहों में लगाये गये विशेष कोविड जांच कैंप में लोगों ने आगे बढ़कर जांच में हिस्सा लिया. इससे रोगियों की पहचान तेजी से करने में सहयोग मिला. अभियान के दौरान विभिन्न कल कारखानों के अलावे मंडलकारा आदि जगहों पर भी कैंप लगाकर सैंपल संग्रह किया गया. मंडलकारा में 243 बंदी पॉजिटिव मिले. हालांकि वर्तमान में सभी स्वस्थ हो चुके है. वहीं विशेष कोविड जांच कैंपों के माध्यम से 33,374 लोगों की जांच की गयी.

जिले में बनाये गये आठ कोविड केयर सेंटर : डीसी ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए एहतियात बरतते हुए संक्रमण पर रोकथाम को लेकर हर संभव प्रयास किया गया. इसके तहत जिले में आठ कोविड केयर सेंटर बनाये गये हैं, जिसमें 930 बेड की व्यवस्था है. वहीं सदर अस्पताल में 10 वेंटिलेटर और 120 ऑक्सीजन सिलिंडर की सुविधा उपलब्ध है.

कोविड जांच में तेजी लाने के लिए सदर अस्पताल के अलावे जयनगर व सतगांवा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में अतिरिक्त ट्रू नेट मशीन लगाया गया है. विभिन्न कोविड हॉस्पिटल में भर्ती कोरोना मरीजों की सतत निगरानी व भोजन, दवा, पानी आदि की उचित व्यवस्था की गयी है.

जिलेवासियों से कोरोना जांच की अपील : प्रेसवार्ता के दौरान डीसी श्री घोलप ने जिलेवासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण से संबंधित किसी भी प्रकार के प्राथमिक लक्षण जैसे खांसी, सर्दी, बुखार अथवा सांस लेने में तकलीफ हो तो जल्द से जल्द अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर कोरोना जांच कराये. समय-समय पर ऑक्सीमीटर से अपने ऑक्सीजन स्तर जांच करें.

इस अवसर पर डीसी के अलावे डीडीसी आर रॉनिटा, एसडीओ मनीष कुमार, सीएस डॉ पार्वती कुमारी नाग, डीएस डॉ रंजन कुमार, डॉ शरद कुमार, प्रशिक्षु उपसमाहर्ता संतोष कुमार, अमित कुमार, कांति रश्मि ,सारांश जैन, मनोज मरांडी, गिरेंद्र तुडी आदि मौजूद थे.

28 लोगों ने दी कोरोना को मात प्रतिनिधि,कोडरमा बाजार : महिला कॉलेज डोमचांच स्थित कोविड हॉस्पिटल में 28 लोगों की फाइनल जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद शुक्रवार को उन्हें छुट्टी दे दी गयी. जिला यक्ष्मा पदाधिकारी सह कोविड हॉस्पिटल के नोडल पदाधिकारी डॉ रमण कुमार के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सभी को सम्मानपूर्वक घर भेजा. मौके पर नोडल पदाधिकारी ने उन्हें 14 दिन तक अपने घरों में रहने की सलाह दी गयी. उन्होंने कहा कि कोरोना से डरने नहीं, बल्कि सतर्क रहने की जरूरत है.

इस वायरस से बचने के लिए यह जरूरी है कि जब तक जरूरी न हो लोग अपने घर से बाहर न निकलें. हमेशा मास्क का प्रयोग करें. सोशल डिस्टैंसिंग का अनुपालन कड़ाई से करें. इस अवसर पर डॉ रमण के अलावे स्वास्थ्य विभाग के कर्मी मौजूद थे. इधर, डोमचांच में शुक्रवार को नगर पंचायत क्षेत्र के आइटीआइ कॉलेज में बनाये गये कोविड सेंटर से 16 मरीजों को छुट्टी दे दी गयी.

वहीं सभी का रिपोर्ट निगेटिव आने पर सम्मान पूर्वक घर भेज दिया गया. नोडल पदाधिकारी डॉ पी मिश्रा ने स्वस्थ हुए लोगों को अगले 14 दिन तक होम कोरेंटिन में रहने का निर्देश दिया. साथ ही मास्क पहनने व सोशल डिस्टैंसिंग का ध्यान रखने को कहा. मौके पर डॉ उमेर आलम, जयंती टोप्पो, संजू एक्का, सतीश यादव, राजकुमार रविदास, दीन दयाल प्रसाद आदि मौजूद थे.

Post by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें