1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. kodarma
  5. cheated beneficiary by posing as a fake bank officer in koderma a cyber criminal arrested from kathikund in dumka smj

कोडरमा में फर्जी बैंक अधिकारी बनकर लाभुक से की ठगी, दुमका के काठीकुंड से एक साइबर क्रिमिनल गिरफ्तार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
दुमका के कांठीकुंड से गिरफ्तार साइबर क्रिमिनल समेत बरामद सामान की जानकारी देते SDPO अशोक कुमार.
दुमका के कांठीकुंड से गिरफ्तार साइबर क्रिमिनल समेत बरामद सामान की जानकारी देते SDPO अशोक कुमार.
प्रभात खबर.

Jharkhand Cyber Crime News (झुमरीतिलैया, कोडरमा) : झारखंड के कोडरमा जिला की तिलैया पुलिस ने फर्जी बैंक अधिकारी बन लोगों के बैंक खाते से पैसा उड़ाने वाले गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार किया है. आरोपी की पहचान जुल्कर अंसारी 32 वर्ष पिता स्वर्गीय यूसुफ अंसारी निवासी आलुबेडा दुमका के रूप में हुई है. इसके पास से थम्ब इम्प्रेशन मशीन, विभिन्न बैकों का 108 पीस एटीएम कार्ड, 10 बैंक खाता और 8 मोबाइल बरामद हुआ है. इस बात की जानकारी शुक्रवार को SDPO अशोक कुमार ने दी.

तिलैया थाना परिसर में आयोजित पत्रकार वार्ता में SDPO अशोक कुमार ने बताया कि डीवीसी चौक विशुनपुर रोड निवासी रामदेव यादव पिता स्वर्गीय हेमलाल चौधरी ने गत 6 जुलाई को खुद के साथ हुई ठगी को लेकर थाना में मामला दर्ज कराया था.

क्या है मामला

पीड़ित रामदेव यादव के अनुसार, 5 अलग-अलग मोबाइल नंबर से फर्जी बैंक अधिकारी बनकर फोन करने वाले ने उनके बैंक खाते से 96 हजार 934 रुपये उड़ा लिए. इस शिकायत के बाद एसपी के निर्देशानुसार कांड के उद्भेदन के लिए एक टीम का गठन किया गया. तकनीकी शाखा के सहयोग से कांड में प्रयोग किये गये विभिन्न मोबाइल नंबर के धारक का नाम व पता उपलब्ध हुआ. इसके बाद थाना प्रभारी द्वारिका राम के नेतृत्व में आरोपी जुल्कर अंसारी को गिरफ्तार किया गया.

उसके दुमका जिला अंतर्गत स्थित गांव के घर से विभिन्न बैंकों के एटीएम कार्ड, थम्ब इम्प्रेशन मशीन व अन्य सामान बरामद किया गया. आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसके साथ अन्य दो साथी सरफराज अंसारी उर्फ मासे उर्फ सुल्तान अंसारी व साहिल अंसारी मिलकर फोन के माध्यम से फर्जी बैंक अधिकारी बनकर लोगों को फोन कर ठगी का काम करते हैं.

ठगी का पैसा गिरफ्तार आरोपी जुल्कार अपने मामा लालमुद्दीन अंसारी व स्थानीय प्रकाश सिंह के खाता में मंगाकर आपस में बंटवारा कर लेते थे. उन्होंने बताया कि कांड के अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर प्रयास किये जा रहे हैं.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें