1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. kodarma
  5. 3 month child slammed to death in koderma over land dispute matter smj

जमीन विवाद को लेकर कोडरमा में 3 माह के बच्चे को पटक कर मार डाला, मचान में आग लगाकर परिवार को मारने की कोशिश

कोडरमा के चंदवारा में जमीन विवाद को लेकर आरोपियों ने 3 माह के बच्चे की पटक कर मार डाला, वहीं मचान में आग लगाकर मारने की कोशिश की. पुलिस मामला दर्ज कर छानबीन तेज कर दी है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: कोडरमा के चंदवारा में जमीन विवाद को लेकर मचान में लगायी आग.
Jharkhand news: कोडरमा के चंदवारा में जमीन विवाद को लेकर मचान में लगायी आग.
प्रभात खबर.

Jharkhand News: कोडरमा जिला अंतर्गत चंदवारा थाना क्षेत्र के ढाब थाम में एक परिवार के लिए जमीन विवाद गले का फांस बन गया है. जमीन विवाद के कारण आरोपियों ने जहां 3 माह के मासूम को पटक कर मार डाला, वहीं घर के पास बने मचान में आग लगाकर पूरे परिवार को जान से मारने का प्रयास भी किया.

पूरे मामले की जानकारी सामने आने पर पुलिस के वरीय पदाधिकारियों ने घटना को गंभीरता से लिया है. परिजनों द्वारा दफनाये गये बच्चे के शव को रविवार को दोबारा बाहर निकाल कर सदर अस्पताल में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया गया. पुलिस ने इस संबंध में पीड़ित पक्ष के परिजन के आवेदन के आधार पर मामला दर्ज किया है. हालांकि, केस में नामजद किये गये सभी आरोपी फरार बताये जाते हैं.

थाना को दिये आवेदन में चंदवारा निवासी रामदेव यादव ने कहा है कि 27 नवंबर की सुबह करीब तीन बजे गांव के अनिल यादव व मुन्ना यादव दोनों के पिता टुकन यादव, संदीप यादव, आनंद यादव दोनों के पिता नारायण यादव, मनोज यादव, अशोक यादव दोनों के पिता स्वर्गीय गिरधारी यादव घर में घुसे. इस दौरान घर में घुसे इनलोगों ने रामदेव की भाभी सावित्री से छेड़खानी करने लगा.

इसी बीच आरोपियों ने उसकी भाभी की गोद से तीन माह के बच्चे को छिन लिया और पटकर जान से मार दिया. शोर मचाने पर परिवार के सभी लोग जुटे, तो पूरे परिवार को मारने के उद्देश्य से आरोपियों ने घर से सटे पुआल के मचान में आग लगा दी. किसी तरह से परिवान के अन्य लाेग बचे.

इसके बाद गंभीर रूप से घायल बच्चे को तत्काल सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. हालांकि, सदर अस्पताल से संतुष्ट नहीं होने पर बच्चे को लेकर हजारीबाग गये, पर वहां भी यही बात कही गयी. इधर, पीड़ित रामदेव ने पुलिस प्रशासन से आग्रह किया है कि उपरोक्त लोगों पर कानूनी कार्रवाई की जाये.

दफनाये गये शव को पोस्टमार्टम के लिए मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में निकाल गया

बताया जाता है कि खुद के साथ हुई घटना के बाद पीड़ित परिवार पूरी तरह सहम गया. बच्चे की मौत से आहत परिजनों ने एक तरफ थाना में आवेदन दिया और दूसरी तरफ मृत बच्चे के शव को शनिवार शाम को स्थानीय मुक्तिधाम के पास दफना दिया. हालांकि, मामले की गंभीरता का पता जब पुलिस के वरीय पदाधिकारियों को हुई, तो तत्काल मजिस्ट्रेट की नियुक्ति की गयी.

बतौर मजिस्ट्रेट बीडीओ संजय कुमार यादव, थाना प्रभारी दुष्यंत सिंह, एसआई रंजीत कुमार, हरदुगन होरो, एएसआई नीरज कुमार व पुलिस बल की मौजूदगी में रविवार सुबह बच्चे के शव को दफन स्थल से निकाला गया. इसके बाद सदर अस्पताल ले जाकर पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में डीएस के नेतृत्व में गठित मेडिकल बोर्ड ने पोस्टमार्टम किया. पोस्टमार्टम के बाद शव को फिर से दफनाया गया.

जमीन को लेकर पुराना विवाद है. आरोपी बख्शे नहीं जायेंगे : डीएसपी

इस संबंध में कोडरमा डीएसपी (मुख्यालय) संजीव कुमार सिंह ने कहा कि पीड़ित परिवार व आरोपी पक्ष के बीच वर्षों से करीब 10 एकड़ जमीन को लेकर विवाद चल रहा है. इसी विवाद में झगड़ा होने की जानकारी सामने आयी है. पीड़ित पक्ष के आवेदन के आधार पर केस दर्ज किया गया है. वैसे दोनों पक्षों में पहले से मारपीट आदि को लेकर केस चलने की भी जानकारी सामने आयी है. नई घटना में बच्चे को पटक कर मार देने, महिला से छेड़खानी व मचान में आग लगाकर परिवार को जान से मारने के प्रयास का आरोप है. पुलिस सभी बिंदुओं पर विस्तृत जांच कर रही है. कहा कि आरोपी बख्शे नहीं जायेंगे.

Posted By: Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें