कोडरमा : जिला प्रशासन की अनोखी पहल, शराब की बोतलों पर मतदान का संदेश

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

- जिला प्रशासन के निर्देश पर उत्पाद विभाग ने शुरू किया अभियान

- शराब दुकानों में बिक्री से पहले बोतलों पर चिपका मिलेगा स्टीकर

प्रतिनिधि, कोडरमा

लोकसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग व प्रशासन की चल रही तैयारियों के बीच मतदान प्रतिशत बढ़ाने को लेकर कोडरमा में अलग अभियान शुरू किया गया है. यहां शराब व बीयर की बोतलों पर अब 'मतदान अवश्य करें' का संदेश दिखेगा. शराब दुकानों में विभिन्न ब्रांड की शराब व बीयर की खरीदारी करने वाले लोगों को जागरूक करने के लिए जिला प्रशासन के निर्देश पर उत्पाद विभाग ने इसकी कवायद शुरू कर दी है.

शराब के शौकिनों को खरीदारी के साथ जागरूकता संदेश पढ़ाने के लिए बोतलों पर मतदान से संबंधित स्टीकर चिपकाया जा रहा है. उत्पाद अधीक्षक अजय कुमार गोड़ ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए बताया कि इस बार के लोकसभा चुनाव में अधिक से अधिक मतदान हो इसके लिए जिला प्रशासन विभिन्न स्तर से प्रयास कर रहा है.

उपायुक्त के निर्देश पर उत्पाद विभाग ने शराब व बीयर की बोतलों पर 'मतदान अवश्य करें' का संदेश वाला स्टीकर लगाने का कार्य शुरू किया है. संबंधित स्टीकर स्वीप कोषांग की ओर से प्रिंट कर विभाग को उपलब्ध कराया गया है. स्टीकर को शराब दुकान संचालकों को उपलब्ध कराकर बोतलों पर चिपकाना सुनिश्चित किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इस तरह के अभियान का मकसद मतदान प्रतिशत बढ़ाना है. चूंकि शराब के शौकीन लोग भी मतदाता होते हैं. ऐसे में इस तरह की पहल कर जागरूकता लाने का प्रयास किया जा रहा है.

51 शराब दुकानों पर मिलेगी जागरूकता संदेश वाली बोतल

उत्पाद अधीक्षक ने बताया कि नयी व्यवस्था के बाद जिले में कुल 51 देशी-विदेशी व कंपोजिट शराब की दुकानों का संचालन शुरू हो रहा है. वर्तमान में 49 दुकानों को लाइसेंस निर्गत कर दिया गया है. शुक्रवार को इनमें से 13 शराब दुकानों को स्टॉक भी निर्गत कर दिया गया है. इन सभी पर जागरूकता संदेश वाला स्टीकर लगाने के बाद ही शराब की बिक्री होगी.

एप डाउनलोड करने की भी अपील

बोतलों पर चिपकाये जा रहे स्टीकर में लिखा है कि छह मई को कोडरमा जिले में चुनाव है. कृप्या नैतिकता के साथ अपना मतदान अवश्य करें. ज्यादा जानकारी के लिए प्ले स्टोर/बार कोड स्कैन कर इलेक्शन मैनेजमेंट कोडरमा डाउनलोड करें. जारी स्टीकर में दाहीने ओर एक बार कोड भी दिया गया है, जिसे स्कैन कर एप को डाउनलोड किया जा सकता है.

शराब की बिक्री पर चुनाव आयोग की नजर

इधर, एक तरफ जिला प्रशासन शराब की बोतलों पर मतदान अवश्य करें का संदेश दे रहा है, वहीं, दूसरी ओर शराब की बिक्री पर चुनाव आयोग की पैनी नजर है. आयोग रोजाना होने वाले शराब बिक्री का रिकार्ड तलब कर रहा है. बताया जाता है कि आयोग इस बात की मॉनीटरिंग कर रहा है कि कहीं चुनाव की तिथि नजदीक आते ही किसी इलाके में अचानक शराब की बिक्री में बेताहशा वृद्धि तो नहीं हो रही है. ज्यादा बिक्री से मतदान को प्रभावित करने की बात को बल मिलता है, जिस पर आयोग की नजर है. आयोग के निर्देश पर उत्पाद विभाग सभी दुकानों में रोजाना होने वाली बिक्री का डाटा तैयार कर मुख्यालय को उपलब्ध करा रहा है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें