1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. khunti
  5. birsa munda jayanti on november 15 cm hemant soren starts program government at your door these are the hopes of the villagers grj

बिरसा मुंडा की जयंती कल,CM हेमंत सोरेन करेंगे सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का आगाज,ग्रामीणों की ये हैं उम्मीदें

15 नवंबर को झारखंड का स्थापना दिवस है ‍एवं बिरसा मुंडा की जयंती भी. जहां केंद्र सरकार पूरे देश में जनजातीय गौरव दिवस मनायेगी, वहीं झारखंड स्थापना दिवस व बिरसा मुंडा की जयंती पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन उनके पैतृक गांव खूंटी के उलिहातू आयेंगे और आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम का आगाज करेंगे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News : बिरसा मुंडा का पैतृक आवास
Jharkhand News : बिरसा मुंडा का पैतृक आवास
प्रभात खबर

Jharkhand News, खूंटी न्यूज (आशुतोष पुराण) : केंद्र सरकार द्वारा भगवान बिरसा मुंडा की जयंती के उपलक्ष्य में पूरे देश में जनजातीय गौरव दिवस मनाने का निर्णय लिया गया है. बिरसा मुंडा की जयंती पर जनजातीय गौरव दिवस मनाये जाने के निर्णय से झारखंड के खूंटी जिले के लोग गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं. राज्य सरकार द्वारा भी बिरसा मुंडा की जयंती और झारखंड स्थापना दिवस के अवसर पर पूरे झारखंड में अधिकार आपके, आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम की शुरूआत की जायेगी. इससे लोग काफी उत्साहित हैं.

15 नवंबर को झारखंड का स्थापना दिवस है. इस दिन भगवान बिरसा मुंडा की जयंती भी है. एक तरफ जहां केंद्र सरकार बिरसा मुंडा की जयंती पर पूरे देश में जनजातीय गौरव दिवस मनायेगी, वहीं झारखंड स्थापना दिवस व बिरसा मुंडा की जयंती पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन उनके पैतृक गांव खूंटी के उलिहातू आयेंगे और आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम का आगाज करेंगे. इसे लेकर उलिहातू के ग्रामीणों में खुशी का माहौल है. हालांकि ग्रामीण उलिहातू की समस्याओं के दूर होने का सपना भी देख रहे हैं.

भगवान बिरसा मुंडा के वंशज सुखराम मुंडा ने कहा कि बिरसा मुंडा की जयंती (15 नवंबर) अब राष्ट्रीय स्तर पर जानी जायेगी. केंद्र सरकार और राज्य सरकार की घोषणा से पूरा परिवार उत्साहित है. इससे जनजाति लोगों का भला होगा.

सुमन पूर्ति कहती हैं कि बिरसा मुंडा की जयंती जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनायी जायेगी. यह हमारे लिए गर्व की बात है, लेकिन ग्रामीणों को अब तक इसके संबंध में पूरी जानकारी नहीं है. गांव की समस्या आज तक ज्यों का त्यों है.

सामुएल पूर्ति कहते हैं कि जनजातीय गौरव दिवस मनाया जाना गर्व की बात है. लोगों में हर्ष का माहौल है, लेकिन जनजातीय लोगों को लाभ भी होना चाहिए. राज्य सरकार की योजनाओं से भी यहां के लोगों को फायदा मिलना चाहिए. बिरसा मुंडा के पैतृक गांव उलिहातू की समस्या भी दूर होनी चाहिए.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें