1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jharkhand panchayat chunav 2022
  5. panchayat chunav in gumla only women candidate some nominating mother wife girlfriend in election prt

jharkhand Panchayat Chunav 2022: कोई मां, कोई पत्नी तो कोई प्रेमिका पर खेल रहा दांव!

गुमला प्रखंड का मध्य क्षेत्र महिलाओं के लिए अनारक्षित है. यानी कोई भी महिला उम्मीदवार यहां से चुनाव लड़ सकती है. ऐसे में कोई अपनी मां, कोई अपनी पत्नी को चुनाव में उतार रहा है. एक-दो उम्मीदवार ऐसे भी हैं, जो अपनी प्रेमिका को चुनाव में उतारने की तैयारी कर रहे हैं.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Jharkhand news: गुमला प्रखंड का मध्य क्षेत्र महिलाओं के लिए अनारक्षित
Jharkhand news: गुमला प्रखंड का मध्य क्षेत्र महिलाओं के लिए अनारक्षित
प्रभात खबर ग्राफिक्स.

jharkhand Panchayat Chunav 2022: गुमला प्रखंड के मध्य क्षेत्र में जिला परिषद का चुनाव दिलचस्प व रोचक होनेवाला है. इस बार मध्य क्षेत्र महिला सीट है. अनारक्षित है. कोई भी महिला मध्य क्षेत्र से चुनाव लड़ सकती है. पूर्व में यह सीट पुरुष के लिए थी. करौंदी निवासी कृष्ण देव सिंह उर्फ केडी सिंह ने इस सीट से चुनाव जीत जिला परिषद के उपाध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज हुए थे. परंतु इस बार यह सीट महिला के लिए आरक्षित है. इसलिए चुनाव की तैयारी में वर्षों से लगे कई पुरुष उम्मीदवारों को झटका लगा है.

कई कद्दावर नेता भी चुनाव की तैयारी में थे. भाजपा व झामुमो के बड़े नेता भी चुनाव की तैयारी किये थे. परंतु महिला सीट होने से पुरुष उम्मीदवारों को झटका लगा है. वहीं राजनीति में अपनी साख बचाये रखने के लिए इस सीट से कोई अपनी मां, तो कोई अपनी पत्नी को चुनाव मैदान में उतार रहा है. एक-दो युवा उम्मीदवार ऐसे भी हैं, जो अपनी प्रेमिका को चुनाव मैदान में उतारने की तैयारी कर रहे हैं. एक पूर्व प्रतिनिधि ने तो अपनी मां के लिए नामांकन पत्र भी खरीद लिया है. वह शुभ मुहूर्त पर नामांकन करने की तैयारी में हैं.

जबकि झामुमो के एक बड़े नेता ने अपनी पत्नी के लिए शुक्रवार को नामांकन पत्र खरीदा है. वह भी शुभ मुहूर्त पर गाजे-बाजे के साथ अपनी पत्नी को लेकर नामांकन कराने की तैयारी में जुट गया है. यहां बता दें कि मध्य क्षेत्र की सीट शुरू से ही रोचक रही है. क्योंकि इस सीट पर सभी जाति व धर्म के वोटर हैं. इसलिए इस सीट पर बीते साल कांटे की टक्कर हुई थी.

इस बार भी कांटे की टक्कर होने की उम्मीद है. क्योंकि कई बड़े नेता अपनी पत्नी व मां को चुनाव मैदान में उतार कर चुनाव को रोमांचक करने जा रहे हैं. एक नेता ने कहा कि बीते बार थोड़ी से चूक के कारण मैं हार गया था. इस बार महिला सीट हो गयी. इसलिए मैं चुनाव नहीं लड़ रहा हूं. परंतु चुनाव लड़ने का जज्बा अभी भी है. इसलिए चुनाव मैदान में मैं अपनी पत्नी को उतार रहा हूं. चेहरा पत्नी का होगा. परंतु चुनाव मैं लड़ूंगा.

इधर, मध्य क्षेत्र की सीट के लिए अंदर ही अंदर सेटिंग गेटिंग शुरू हो गयी है. कुछ उम्मीदवार चुनाव जीतने के लिए दूसरे उम्मीदवार से चुनाव नहीं लड़ने की अपील कर रहे हैं. बहरहाल अभी जिला परिषद के लिए नामांकन शुरू हो गया है. परंतु मध्य क्षेत्र के लिए एक भी उम्मीदवार ने अभी तक नामांकन नहीं किया है. सभी उम्मीदवार सोमवार व मंगलवार को नामांकन कराने की तैयारी में हैं.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें