1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jharkhand naxal news naxalites levy collection of lakhs rupees revealed from the diary recovered during the search operation srn

झारखंड में नक्सली लाखों रुपये की वसूलते हैं लेवी, सर्च ऑपरेशन के दौरान बरामद डायरी से हुआ खुलासा

झारखंड के नक्सली लेवी से लाखों रुपये वसूलते हैं, जिसमें विकास योजनाओं से 10 से 15 फीसदी वसूलते हैं. ये जानकारी नक्सलियों के खिलाफ चले सर्च ऑपरेशन के दौरान बरामद डायरी से मिली. जिसमें लेवी की वसूली राशि का जिक्र था

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सर्च अभियान में मिली डायरी से खुलासा लाखों रुपये की लेवी वसूल रहे नक्सली
सर्च अभियान में मिली डायरी से खुलासा लाखों रुपये की लेवी वसूल रहे नक्सली
Symbolic Pic

रांची : ऑपरेशन डबल बुल ( Operation Double Bull ) के तहत 10 लाख के इनामी नक्सली बलराम उरांव सहित नौ नक्सलियों को झारखंड पुलिस ने शनिवार (19 फरवरी) को गिरफ्तार किया था. सर्च ऑपरेशन के दौरान एक डायरी भी मिली, जिसमें लेवी वसूली की राशि का जिक्र था.

विकास योजनाओं से 10 से 15 फीसदी लेवी वसूलने की भी बात लिखी थी. यह जानकारी संयुक्त रूप से मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस में आइजी अभियान एवी होमकर, सीआरपीएफ आइजी राजीव कुमार, आइजी पंकज कंबोज और एसटीएफ डीआइजी अनूप बिरथरे ने संयुक्त रूप से दी. आइजी होमकर ने बताया कि किसी माइंस संचालक ने लेवी देने से इनकार कर दिया था. इससे नाराज रविंद्र के 40 सदस्यों ने उस पर हमला की योजना बनायी थी.

घटना को अंजाम देने के लिए वे लोग लोहरदगा व लातेहार जिला के सीमावर्ती ग्राम बुलबुल, सहेदा टोली व नारायणपुर गांव में ठहरे थे. इसी सूचना पर पुलिस ने छापेमारी कर नौ नक्सलियों को पकड़ा. जानकारी के अनुसार, नक्सलियों द्वारा वसूले गये लेवी का पैसा लेने के लिए सेंट्रल कमेटी के सदस्य मिथिलेश के कहने पर बूढ़ा पहाड़ से अमन गंझू भी आया था. वह लेवी में वसूले गये 40 से 44 लाख रुपये लेकर वहां से कुछ सहयोगियों के साथ निकल गया था.

आठ फरवरी को ऑपरेशन डबल बुल अभियान की हुई थी शुरुआत

आइजी अभियान ने कहा कि रविंद्र गंझू दस्ता के सदस्यों ने धरधरिया में सिरीज ब्लास्ट कर 11 सुरक्षाकर्मियों की हत्या कर दी थी. पूर्व में भी लुकइया मोड़ के पास चार सुरक्षाकर्मियों की हत्या कर दी गयी थी. पाखर माइंस में हमला कर 12 वाहनों में आग लगा दी थी. कुछ दिन पहले कुंजाम माइंस में भी हमला कर 29 वाहनों को फूंक दिया गया था.

इस कारण इन नक्सलियों के खिलाफ आठ फरवरी से ऑपरेशन डबल बुल अभियान आरंभ किया गया था. आठ से 21 फरवरी के बीच पुलिस एवं उग्रवादियों के बीच कुल 10 बार मुठभेड़ हुई. इस दौरान तीन जवान भी घायल हुए. एनकाउंटर के दौरान मारे गये नक्सली की पहचान दिनेश नगेसिया के रूप में हुई है. वह लावा पानी का रहने वाला था. उसके खिलाफ एक लाख रुपये का इनाम था.

नक्सलियों के पास से बरामद सामान

इंसास रेगुलर राइफल एक, 315 राइफल एक, पिस्टल एक, अमेरिकन ऑटोमेटिक राइफल 01, मॉडिफाइड 9 एमएम कार्बाइन एक, गोली 1678, एसएलआर की 13 मैगजीन, इंसास एलएमजी की दो मैगजीन, हैंड ग्रेनेड, फ्लैक्सिबल वायर 100 मीटर, आइइडी 16, गन पाउडर 100 ग्राम, नॉन इलेक्ट्रिक डेटोनेटर 116,

बैटरी 34, निकॉन कैमरा एक, लाइटर 07, वायरलेस सेट 4, कोडेक्स वायर 30 मीटर, इलेक्ट्रिक डेटोनेटर 40, कॉॅमर्शियल डेटोनेटर 40, सेफ्टी फ्यूज 12, प्राथमिक उपचार किट 4 किलोग्राम, नक्सली वरदी , लेटर पैड, नगद पैसा 3,27,150, कंबल, नक्सली साहित्य व पर्चा के अलावा केंद्रीय कमेटी द्वारा प्रकाशित नक्सली किताब जिसका प्रकाशन वर्ष 2017 में हुआ था.

Posted By: Sameer Oraon

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें