1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamtara
  5. more than half dozen women buried in jamtara district of jharkhand due to steep of white sand rock the dhuha three dead mtj

Breaking News: झारखंड में पहाड़ी धंसने से आधा दर्जन से अधिक महिलाएं दबीं, तीन की मौत

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
आधा दर्जन से अधिक महिलाएं ढूहा में दबीं. तीन की हो गयी मौत. जेसीबी से खोदकर ढूहे से महिलाओं की तलाश जारी.
आधा दर्जन से अधिक महिलाएं ढूहा में दबीं. तीन की हो गयी मौत. जेसीबी से खोदकर ढूहे से महिलाओं की तलाश जारी.
Ajit Kumar

जामताड़ा (अजित कुमार) : झारखंड में मिट्टी की पहाड़ी धंसने से तीन महिलाओं की मौत हो गयी है. घटना जामताड़ा जिला के नारायणपुर प्रखंड में सोमवार (5 अक्टूबर, 2020) को सफेद मिट्टी का उत्खनन करने के दौरान ढूहा (मिट्टी की छोटी पहाड़ी) धंस गयी, जिसमें दबकर तीन महिलाओं की मौत हो गयी. तीन से पांच महिलाओं के ढूहे में अभी भी दबे होने की आशंका है. उनकी तलाश की जा रही है.

जामताड़ा के उपायुक्त फैज अक अहमद मुमताज ने बताया कि जिले के नारायणपुर प्रखंड के देवलबाड़ी पंचायत में मिरगापहाड़ी (मंझलाडीह) में आसपास के गांवों की कुछ महिलाएं घर में पुताई के लिए मिट्टी की खुदाई कर रहीं थीं. इसी दौरान अचानक मिट्टी का ढूहा धंस गया, जिसके अंदर छह से आठ महिलाएं दब गयीं.

उन्होंने बताया कि सूचना मिलते ही प्रशासन ने मौके पर जेसीबी मशीन भेजकर ढूहे की खुदाई करायी, जिसमें से तीन महिलाओं को जल्द ही बाहर निकाल लिया गया. उन्हें समीप के जामताड़ा सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों उन्हें ने मृत घोषित कर दिया.

उपायुक्त ने बताया कि अभी भी दुर्घटनास्थल पर कम से कम तीन से पांच महिलाओं की तलाश में जेसीबी मशीन से खुदाई जारी है. लेकिन, अभी उन्हें ढूहे से निकाला नहीं जा सका है. उन्होंने बताया कि ढूहे में फंसी तीन से पांच महिलाओं के भी अब इतनी देर बाद जीवित बचने की उम्मीद बहुत कम ही है, लेकिन उन्हें बचाने के लिए प्रशासन पूरी तत्परता से लगा हुआ है.

उन्होंने बताया कि खुदाई के काम में कितनी महिलाएं जुटी हुईं थीं, इसकी सही जानकारी नहीं मिल पा रही है. उन्होंने बताया कि हताहत महिलाएं आसपास के चंपापुर एवं अन्य गांवों की थीं और उनकी उम्र 18 से 40 वर्ष के बीच थी. दबी महिलाओं या मृतक महिलाओं की अभी पहचान नहीं की जा सकी है.

दुर्घटनास्थल साहिबगंज-गोविंदपुर राज्य पथ के किनारे स्थित है और यहां मिट्टी की पहाड़ी का रंग सफेद है. इसके चलते गांव वाले इसकी खुदाई करके इससे अपने घरों की पुताई करते हैं. उन्होंने बताया कि मौके पर वह स्वयं जिले के कई वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ मौजूद हैं.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें