दो अक्तूबर तक चलेगी पुणे-सांतरागाछी स्पेशल, जेलर सहित 12 सुरक्षाकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
जमशेदपुर: घाघीडीह सेंट्रल जेल के जेलर मोहम्मद नसीम सहित 12 सुरक्षाकर्मियों के खिलाफ डीसी ने विभागीय कार्रवाई करने की अनुशंसा जेल आइजी से की है. डीसी ने जेल आइजी को एक रिपोर्ट भेजी है. जेलर व सुरक्षाकर्मियों को घाघीडीह सेंट्रल जेल में लगातार दो दिन (रविवार और सोमवार) हुई छापेमारी में 37 मोबाइल सहित अन्य आपत्तिजनक सामानों की बरामदगी होने के मामले प्रथम दृष्टया दोषी माना गया है.

इसमें कक्षपाल क्रिस्टोफर एक्का, कमल नयन पासवान, बालेश्वर राम, रविदास, विजय कुमार, दफा प्रभारी शिव कुमार प्रसाद व उच्च कक्षपाल मुरारी धोबी शामिल हैं. इनके अलावा जैप 10 के हवालदार अनिल कुमार तिवारी, रामदेव राम, श्याम लाल तैसुन, दिनेश प्रसाद और मिलन महतो के खिलाफ भी कार्रवाई की सिफारिश की गयी है. कई स्तर पर हुई गड़बड़ी. जिला प्रशासन के मुताबिक घाघीडीह सेंट्रल जेल में जैप 10 के पांचों हवालदारों की बाहरी परिसर की सुरक्षा में ड्यूटी थी. उन्हें कोई सामान जेल के भीतर न जाये, उसकी जांच की जिम्मेवारी थी. कोई आपत्तिजनक सामान अंदर न जाये इसकी निगरानी करने में वे पूरी तरह से विफल रहे. इसी तरह जेल के अंदर भी जांच में गड़बड़ी हुई.
जल्द लगेगा 4जी जैमर. डीसी ने बताया कि घाघीडीह सेंट्रल जेल में जल्द 4जी जैमर लगाया जायेगा. इसके लिए गृह विभाग से अनुशंसा भेजी गयी है. वर्तमान में जेल में 2जी जैमर लगा है, खासकर 4जी मोबाइल के कॉल और डाटा को रोकने में सक्षम नहीं है.
जब्त मोबाइल के कॉल डिटेल खंगालने का काम शुरू, कई नपेंगे
डीसी ने बताया है कि छापेमारी में बरामद एक-एक मोबाइल से कॉल डिटेल को खंगाला जा रहा है. जेल से जिन लोगों को मोबाइल कॉल किया जाता था या फिर जो कैदियों को फोन करते थे उन सभी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा जायेगा. उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें