1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. investigation of engineering polytechnic colleges in jharkhand three committees formed know full detail prt

इंजीनियरिंग-पॉलिटेक्निक कॉलेजों की जांच के आदेश, इन नियुक्ति में नहीं किया गया मापदंड का पालन, तीन कमेटी गठित

झारखंड में पीपीपी मोड पर चलाये जा रहे दो इंजीनियरिंग और सात पॉलिटेक्निक कॉलेजों के विरुद्ध जांच के आदेश दिये हैं. इनके निरीक्षण के लिए अलग-अलग तीन कमेटी भी बनायी गयी है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
इंजीनियरिंग-पॉलिटेक्निक कॉलेजों की जांच
इंजीनियरिंग-पॉलिटेक्निक कॉलेजों की जांच
Prabhat Khabar
  • हर कमेटी 10 सितंबर तक अपनी रिपोर्ट करेगी जमा

  • शिक्षकों व कर्मचारियों को कम वेतन दिया जा रहा

  • छात्रों से भी ली जा रही ज्यादा राशि

संजीव सिंह, रांची: राज्य सरकार ने झारखंड में पीपीपी मोड पर चलाये जा रहे दो इंजीनियरिंग और सात पॉलिटेक्निक कॉलेजों के विरुद्ध जांच के आदेश दिये हैं. इनके निरीक्षण के लिए अलग-अलग तीन कमेटी (छह सदस्यीय) भी बनायी गयी है. इनके विरुद्ध शिक्षकों की नियुक्ति के लिए झारखंड यूनिवर्सिटी अॉफ टेक्नोलॉजी (जेटीयू) तथा सरकार के साथ हुए एमअोयू तथा एआइसीटीइ के मापदंड का अनुपालन नहीं करने की शिकायत मिली है. जिन कॉलेजों के विरुद्ध जांच के आदेश दिये गये हैं, उनमें दुमका इंजीनियरिंग कॉलेज और चाईबासा इंजीनियरिंग कॉलेज सहित मधुपुर, पाकुड़, चांडिल, बहरागोड़ा, गढ़वा, गुमला अौर सिल्ली पॉलिटेक्निक कॉलेज शामिल हैं.

दिया जा रहा कम वेतन, कैडर रेशियो का पालन नहीं : उच्च व तकनीकी शिक्षा विभाग अंतर्गत तकनीकी शिक्षा निदेशक डॉ अरुण कुमार द्वारा जारी आदेश के मुताबिक राज्य सरकार को इन कॉलेजों के विरुद्ध शिकायत मिली है कि वहां शिक्षकों व कर्मचारियों को निर्धारित मापदंड से भी कम वेतन दिया जा रहा है. साथ ही कॉलेजों में शिक्षकों के कैडर रेशियो का अनुपालन नहीं हो रहा है.

इसी प्रकार शिक्षकेतर कर्मियों को भी काफी कम वेतन दिया जा रहा है. काफी कम संख्या में कर्मियों की नियुक्ति की गयी है. छात्रों से भी शुल्क निर्धारण समिति द्वारा निर्धारित शुल्क से ज्यादा लिये जा रहे हैं, जबकि छात्रावास का शुल्क भी मान्य शुल्क से अधिक वसूला जा रहा है. छात्रों से अन्य शुल्क भी नियम विरुद्ध लिये जा रहे हैं. सभी कमेटी को 10 सितंबर 2021 तक निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट जमा करने का निर्देश दिया गया है.

शिक्षक नियुक्ति में सरकार और एआइसीटीइ के निर्धारित मापदंड का नहीं किया अनुपालन

उप निदेशक स्नेह कुमार अौर सहायक निदेशक बेंजामिन कंडुलना को दुमका इंजीनियरिंग कॉलेज दुमका, मधुपुर पॉलिटेक्निक कॉलेज मधुपुर अौर पाकुड़ पॉलिटेक्निक कॉलेज पाकुड़ के निरीक्षण की जिम्मेवारी दी गयी है. इसी प्रकार सहायक निदेशक सुरेश तिवारी अौर सहायक प्राध्यापक एजीपी कुजूर को चांडिल पॉलिटेक्निक कॉलेज चांडिल, चाईबासा इंजीनियरिंग कॉलेज चाईबासा अौर बहरागोड़ा पॉलिटेक्निक कॉलेज बहरागोड़ा के निरीक्षण की जिम्मेवारी दी गयी है.

तीसरी अौर अंतिम कमेटी में राजकीय महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज रांची के प्रभारी प्राचार्य बीएस राय अौर सहायक निदेशक डॉ राजेशखर प्रसाद को गढ़वा पॉलिटेक्निक कॉलेज गढ़वा, गुमला पॉलिटेक्निक कॉलेज गुमला अौर सिल्ली पॉलिटेक्निक कॉलेज सिल्ली के निरीक्षण की जिम्मेवारी दी गयी है.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें