1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. hazaribagh
  5. why people of indira village at barkagaon block of hazaribagh district forced to drink red water mth

इंदिरा गांव में लाल पानी पीने के लिए क्यों मजबूर हैं लोग?

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
150 घर वाले इंदिरा गांव में एक नल और एक कुआं. दोनों में लाल पानी. स्वच्छ जल कहीं नहीं.
150 घर वाले इंदिरा गांव में एक नल और एक कुआं. दोनों में लाल पानी. स्वच्छ जल कहीं नहीं.
Sanjay Sagar

बड़कागांव (संजय सागर) : झारखंड की राजधानी रांची से करीब 112 किलोमीटर दूर स्थित है हजारीबाग जिला का बड़कागांव प्रखंड. प्रखंड मुख्यालय से 20 किलोमीटर दूर पहाड़ी तलहटी में बसा है इंदिरा गांव. बुनियादी सुविधाओं से वंचित इस गांव के लोग आज भी लाल पानी पीने के लिए मजबूर हैं. मुखिया सोनी देवी ने समस्या दूर करने की प्रशासन से अपील की है.

नापो पंचायत के अंतर्गत आने वाले इस इंदिरा गांव में कुल 150 घर हैं. इसमें 90 घर मांझी, 50 घर करमाली, 7 घर उरांव एवं 3 घर ठाकुर जाति के हैं. इतनी बड़ी जनसंख्या वाले गांव में मात्र दो कुआं हैं. इसमें भी एक ही कुआं में पानी है, जो प्रदूषित हो चुका है. गांव में तीन चापाकल हैं, जिसमें 2 खराब हैं.

आश्चर्य की बात यह है कि चापाकल और कुआं दोनों से लाल पानी निकलता है. गांव के दीपक करमाली ने बताया कि वर्षों से ये लोग यही पानी पी रहे हैं. उन्होंने बताया कि अखरा से जैकब सोरेन के घर तक, फुटबॉल मैदान से गोपाल करमाली के घर तक प्राथमिक विद्यालय से गेराटोला तक नाली एवं सड़क की आवश्यकता है.

उन्होंने बताया कि नहर, नाला और नदी पर पुल नहीं बनने के कारण लोगों को आवागमन में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. स्वास्थ्य सुविधा से लोग पूरी तरह वंचित हैं. अगर कोई बीमार पड़ता है, तो लोगों को बड़कागांव जाना पड़ता है.

गांव के लोगों को मुश्किल से 4 या 5 घंटे बिजली मयस्सर होती है. जन वितरण प्रणाली दुकान के लिए लोगों को 8 किलोमीटर दूर नापो कलां में जाना पड़ता है. इंदिरा गांव के ग्रामीणों ने मांग की है कि गांव में ही जन वितरण प्रणाली की दुकान खोली जाये. फुटबॉल मैदान के पास सड़क का निर्माण किया जाये. लाल पानी की समस्या दूर की जाये.

पेयजल विभाग से जांच करायेंगे : बीडीओ

बड़कागांव प्रखंड के बीडीओ प्रवेश कुमार साव ने इस संबंध में पूछे जाने पर कहा कि इंदिरा गांव में अगर 8 किलोमीटर दूर से लोगों को राशन लाना पड़ता होगा, तो इसे नजदीक लाने का प्रयास किया जायेगा. लाल पानी के बारे में पेयजल विभाग से जांच करवाकर इसका समाधान किया जायेगा.

चिकित्सा प्रभारी बोले : जांच करनी पड़ेगी

बड़कागांव प्रखंड के चिकित्सा प्रभारी बीएन प्रसाद ने कहा कि अगर एक ही नल से लाल पानी निकलता होगा, तो हो सकता है कि पाइप में जंग लग गया हो. इसलिए लाल पानी निकलता होगा. यदि गांव के सभी क्षेत्रों में नल से लाल पानी ही निकलता है, तो उसमें आयरन की मात्रा अधिक होने की संभावना है. जांच के बाद ही पता चलेगा कि मामला क्या है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें